पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आस्था:राम मंदिर निर्माण में लगेगी पीतांबरा पीठ की पवित्र मिट्‌टी, 3 को अयोध्या लेकर जाएंगे पूर्व मंत्री पवैया

दतिया14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रबंधन पीतांबरा पीठ की मिट्टी का कलश सौंपते हुए।
  • शनिवार को रामभक्तों ने मिट्‌टी लेकर निकाली कलश यात्रा, भक्तों ने किया पूजन

अयोध्या में श्री रामजन्म भूमि पर बन रहे भव्य मंदिर में श्री पीतांबरा पीठ की पवित्र माटी भी लगेगी। शनिवार को श्री पीतांबरा पीठ ट्रस्ट ने परिसर की पवित्र मिट्‌टी से भरा कलश समाजसेवी व भाजपा नेता विक्रम बुन्देला को सौंपा। मिट्‌टी भरे कलश की पूजा अर्चना के बाद शहर के प्रमुख मार्ग पर उसकी शोभा यात्रा निकाली गई। लोगों ने भक्तिभाव के साथ कलश की पूजा अर्चना की, कलश को स्पर्श कर मंदिर निर्माण में अपनी सहभागिता का अहसास किया।

श्री राम मंदिर निर्माण के लिए देश के प्रमुख तीर्थों की मिट्‌टी, नदियों के साथ सागरों का जल आ रहा है। देश में तीर्थ के रूप में स्थापित हो चुके श्री पीतांबरा पीठ की माटी भी श्री राम मंदिर में लगेगी। शनिवार की शाम मंदिर के न्यासी हरिराम सांवला के मार्गदर्शन में पीठ के प्रबंधक महेश दुबे ने पुजारी चन्द्र मोहन दीक्षित चंदागुरु द्वारा वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच समाजसेवी व भाजपा नेता विक्रम बुन्देला को पीठ की पवित्र बगिया की माटी से भरा कलश सौंपा।

इसके बाद शहर के प्रमुख मार्गो से माटी भरे कलश की शोभायात्रा जयश्रीराम के जयकारों के साथ निकाली गई। इस मौके पर माधवेन्द्र सिंह परिहार, डॉ. राजू त्यागी, बलदेवराज बल्लू, बंटी कुरेले, मुकेश मुढ़ोतिया. संघर्ष यादव, मंचल तिवारी, विशाल त्रिपाठी, राजेश त्यागी, घनश्याम, बबना मटानी आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहें।

बुन्देला पवित्र मिट्‌टी का कलश मंत्री पवैया को सौंपेंगे

बता दें कि श्री राम मंदिर के भूमि पूजन में देश भर से 2 सौ लोगों को शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया है। इनमें ग्वालियर से प्रदेश के पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया भी शामिल हैं। श्री पीठ के मिट्‌टी से भरा कलश रविवार को श्री बुन्देला ग्वालियर जाकर श्री पवैया जी को सौंपेंगे। पवैया जी 3 अगस्त के ग्वालियर से अयोध्या के लिए श्री पीतांबरा पीठ की मिट्‌टी का कलश लेकर रवाना होंगे। भूमि पूजन के बाद श्री मंदिर निर्माण ट्रस्ट को पवित्र मिट्‌टी का कलश सौंपेगे।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें