किसानों के लिए आफत की बारिश:खरीदी केंद्रों पर रखी सैकड़ाें क्विंटल धान भीगी, गीली धान खरीदने से व्यापारियों ने किया इनकार

दतिया9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दतिया में परेशान किसान। - Dainik Bhaskar
दतिया में परेशान किसान।

जिले में अचानक आए मौसम में बदलाव के बाद किसान अब दोहरी विपदा में फंसा हुआ है। खरीद केंद्रों पर रखी धान तो भीग ही रही है। धान बेचने मंडी पहुंचे किसानांे की धान भी गिली हो गई है7 किसानों के सामने सबसे बड़ी समस्या है कि अब गीली धान को वे कहां बेचें। खरीदी केंद्रों पर तो धान को लेने से मना कर दिया, बाजार में भी व्यापारी इस धान को लेने में रुचि नहीं दिखा रहे हैं।

जिले के सेंथरी, थरेट सहित सभी खरीद केंद्रों पर सैकड़ों क्विंटल धान बारिश के कारण भीग चुकी है। किसानों का कहना है कि प्रशासन ने 3 दिन तक धान नहीं खरीदने का ऐलान कर दिया है। दूसरी तरफ किसान के पास एसएमएस भी आ रहे हैं। अगर किसान नियत तिथि पर धान बेचने नहीं पहुंचता है, तो उसकी धान नहीं खरीदी जाएगी। उधर जो किसान अपनी धान खरीदी केंद्रों पर लेकर पहुंचा है। उनकी धान गीली होने पर खरीदी नहीं जा रही है।

अपर कलेक्टर रूपेश उपाध्याय का कहना है कि यदि किसानों के पास एसएमएस पहुंचे हैं और फिर भी धान नहीं खरीदी जा रही है तो डीएसओ को बोलकर जांच करवाएंगे। धान खरीद केंद्रों पर बारिश के पानी से धान को बचाने की व्यवस्था करनी थी। व्यवस्था क्यों नहीं की गई इसकी भी जांच करवाई जाएगी।