पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अवैध शराब का कारोबार:जिले में शराब की 100 से ज्यादा अवैध फैक्ट्रियां, शहर के आसपास ही खपाई जा रही कच्ची शराब

दतिया/सेंवढ़ा/इंदरगढ़/भांडेर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आबकारी विभाग का दावा- सभी अधिकारी कर्मचारी फील्ड में
  • हकीकत: भास्कर को सड़कों पर खुलेआम बिकते मिली शराब

मुरैना में जहरीली शराब पीने से 21 लोगों की मौत के बाद भी स्थानीय प्रशासन सतर्क नहीं हुआ है। बुधवार को भी जिले में धड़ल्ले से सड़कों पर कच्ची शराब रोज की तरह बिकती रही। जिला आबकारी अधिकारी का दावा है कि उनका अमला फील्ड में है व कच्ची शराब के खिलाफ मुहिम चलाई जा रही है लेकिन जब दैनिक भास्कर टीम ने पड़ताल की तो जिला मुख्यालय पर ही दो जगह कच्ची शराब बिकती मिली।

ऐसा ही हाल कस्बाई क्षेत्रों में भी है। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि पुलिस और आबकारी विभाग का अमला किस फील्ड में है और जिला मुख्यालय पर ही शराब का अवैध कारोबार क्यों नहीं रोक पा रहा है? जिले कच्ची शराब की 100 से ज्यादा फैक्ट्रियां संचालित हैं। पहाड़ी इलाकों, गांव देहात के साथ शहर के नजदीक ही शराब बनाने का कारोबार चल रहा है।

इस कच्ची शराब को जाति विशेष की गरीब महिलाएं और बच्चे अपनी बस्तियाें के आसपास गांवों के रास्तों पर खुलेआम बेचती हैं। गरीब व मजदूर वर्ग के साथ ग्रामीण क्षेत्र के लोग भी इसे खरीदते हैं क्याेंकि यह अपेक्षाकृत सस्ती हाेती है। शासकीय ठेके पर देशी शराब का क्वार्टर 60 रुपए में मिलता है जबकि यह कच्ची शराब पॉलिथीन पैक में 30 रुपए में मिल जाती है। इसमें क्वार्टर से अधिक शराब होती है।

शहर के आसपास ही बिक रही अवैध शराब, लोग बेझिझक खरीद रहे

1. दैनिक भास्कर टीम बुधवार को दोपहर 2.07 बजे बम-बम महादेव पार्क पर पहुंची। यहां एक युवक 10 लीटर से ज्यादा कच्ची शराब काे पीले रंग की बाेरी में रखे हुए था। पाॅलिथीन पाउच में भरी शराब को 30-30 रुपए में लोग खरीदकर ले जा रहे थे। युवक ने बताया कि वह हमीरपुर कंजर डेरा का रहने वाला है।

2. भास्कर टीम दोपहर 2.30 बजे करनसागर के सामने छात्रावास पर पहुंची। यहां दो महिलाएं पुलिया की ओट में बैठकर कच्ची शराब बेच रही थीं। पूछने पर महिलाओं ने बताया कि वे झाड़ियां कंजर डेरा से यहां प्रतिदिन शराब बेचने आती हैं।

3. इसके बाद टीम दोपहर 2.45 बजे भांडेर रोड परदेशीपुरा पर पहुंचे। यहां रोड किनारे बबूल के पेड़ की ओट में बैठी एक महिला बोरी में कच्ची शराब के पाउच रखकर बैठी हुई थी। कुछ लोग खरीद कर भी ले जा रहे थे, कुछ वहीं बैठ कर पी रहे थे।

उपचुनाव में जहां दबिश दी थी, वहीं लोग बेच रहे शराब

आबकारी विभाग ने विधानसभा उपचुनाव के दौरान अवैध शराब माफिया के जिन ठिकानों पर दबिश दी थी, वहीं रहने वाले लोग फिर से सड़कों पर बैठकर शराब बेच रहे हैं। हमीरपुर डेरा, झड़िया, प्रकाशनगर कंजर डेरा पर आबकारी विभाग कार्रवाई कर हजारों लीटर शराब जब्त कर चुका है।

यही नहीं भांडेर के दलीपुरा रोड, ईदगाह, ततारपुर कंजरडेरा, इंदरगढ़ में भांडेर रोड पुलिया, तहसील के सामने, भांडेर रोड, सेंवढ़ा में मुबारकपुरा, चीना बंबा, गोराघाट आदि जगहों पर भी कार्रवाई की थी। इन कंजर डेरों के लोग फिर शराब बेचने के लिए सड़कों पर बैठे देखे जा सकते हैं।

शहर में पकड़ी जा चुकी है देशी शराब बनाने की फैक्ट्री

24 दिसंबर को पुलिस ने दतिया शहर के बीचों बीच चल रही देशी शराब की अवैध फैक्ट्री पर दबिश देकर चार लोगों को गिरफ्तार किया था। यह फैक्ट्री लाला के ताल पर चल रही थी। खास बात यह है कि ऐसी फैक्ट्रियां अभी भी चल रही हैं लेकिन न पुलिस कार्रवाई करती है न आबकारी विभाग।

उपचुनाव में 2 करोड़ से अधिक की कच्ची शराब पकड़ी थी

नवंबर माह में भांडेर विधानसभा उपचुनाव के दौरान पुलिस व आबकारी विभाग की टीमों ने आचार संहिता के दौरान जिले में 2 करोड़ रुपए लागत की कच्ची शराब और इसे बनाने की सामान जब्त किया था। चुनाव के बाद यह कार्रवाई धीमी हो गई।

कार्रवाई लगातार जारी है, अभी हमारा पूरा स्टाफ फील्ड पर ही है

कार्रवाई लगातार चल रही है। हमने जहां पहले दबिश देकर कार्रवाई की थी, वहां फिर से कार्रवाई शुरू कर रहे हैं। अभी हमारा पूरा स्टाफ फील्ड पर ही है।

-निधि जैन, जिला आबकारी अधिकारी, दतिया

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser