पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

परेशानी:शहर में 29 में से सिर्फ 1 एटीएम से ही निकल रहा पैसा, शेष शोपीस बने, बैंकों में बढ़ी भीड़

दतिया12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पांच दिन से एटीएम मशीनों में सर्वर की समस्या से नहीं निकल रहा कैश, लोग हो रहे परेशान

जिला मुख्यालय पर शहर के अंदर लगी एटीएम मशीनों शोपीस बन गई हैं। कार्ड फंसाने के बाद पूरी डिटेल भरने के बाद जब पैसे निकालने की बारी आती है तो मशीन से बाहर पैसा नहीं निकलता है, बल्कि मॉनीटर पर नो कैश या फिर सर्वर प्रोब्लम लिखा आ जाता है। शहर में 29 एटीएम मशीनों में से सिर्फ एक एटीएम में ही पैसा निकल रहा है बांकी, सभी सर्वर समस्या और अन्य कारणों से बंद पड़े हैं।

एटीएम से पैसा न निकलने के कारण अब बैंकों में भीड़ बढ़ गई है। हालत यह है कि बैंकों में भेड़ बकरियों की तरह लोगों की भीड़ है। लोग कोरोना महामारी होने के बाद भी मजबूरी में बैंकों में भीड़ का हिस्सा बन रहे हैं और पूरे दिन लाइन में खड़े होने के बाद पैसा मिल रहा है। बता दें कि जिले में कुल 56 बैंक हैं। इनमें से दतिया शहर में 23 बैंक हैं और इनके 29 एटीएम लगे हैं। सबसे ज्यादा एटीएम भारतीय स्टेट बैंक के हैं और इसी बैंक के एटीएम सबसे ज्यादा खराब या यू कहें कि कबाड़ हालत में हैं। गांधी रोड पर भैरव मंदिर के आगे, रावत जी के बाड़े के पास गांधी रोड और टाउनहॉल पर लगे एसबीआई के तीनों एटीएम महीनों से बंद पड़े हैं।

मशीनें तक टूट गई हैं। यही हाल सीतासागर तालाब के पास लगे एसबीआई के एटीएम का है। केवल हैरिटेज होटल के सामने लगे एसबीआई का एटीएम ही सलामत है और मुश्किल घड़ी में यही एटीएम लोगों का सहारा बना हुआ है। हालत यह है कि इसमें कैश डालने के दो-तीन घंटे के अंदर ही कैश खत्म हो जाता है।

इसका मुख्य कारण यह है कि बांकी बैंकों के एटीएम चालू हालत में होने के बाद भी पैसा बाहर नहीं निकाल रहे हैं। एटीएम कार्ड धारक एटीएम में एटीएम कार्ड लगाते हैं, पिन नंबर डालकर पैसे का आंकड़ा भी लिख देते हैं, पांच मिनट की इस प्रोसेस में अंत में नो केश या फिर सर्वर समस्या लिखा आ जाता है। तब लोगों का माथा ठनकता है और गुस्से में कार्ड निकालकर चल देते हैं।
अनामय आश्रम के सामने से लेकर आनंद टॉकीज तक 29 एटीएम

अनामय आश्रम के सामने से लेकर आनंद टॉकीज तक शहर में 29 एटीएम मशीनें लगी हैं। सबसे ज्यादा एटीएम कलेक्टोरेट के आसपास हैं। लेकिन पैसा हैरिटेज होटल के सामने लगे एसबीआई के एटीएम में ही निकल रहा है। यहां एडीबी का एटीएम भी लगा है लेकिन वह भी बंद रहता है।

इसी तरह पीएनबी, एक्सिस बैंक, यूनियन बैंक, आईडीबीआई, कैनरा बैंक, पंजाब एंड सिंध बैंक, इलाहाबाद बैंक, पीतांबरा पीठ के पास एचडीएफसी, बीओआई, सीतासागर के सामने एसबीआई, राजगढ़ चौराहे पर सेंट्रल बैंक, गांधी रोड पर एसबीआई, तिगैलिया पर सेंट्रल बैंक, पीएनबी, गांधी रोड पर रावत जी के बाड़े में यूको बैंक, इसी के पास में कैनरा, टाउनहॉल पर एसबीआई, आनंद टॉकीज के पास एसबीआई के एटीएम लगे हैं लेकिन पैसा किसी में नहीं निकल रहा है।

बैंकों में भीड़, सोशल डिस्टेंस तार-तार
कोरोना महामारी का दौर चल रहा है। लोगों को सोशल डिस्टेंस के बारे में बताया जा रहा है। लेकिन दूसरी तरफ मजबूरी में लोग सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ा रहे हैं। एटीएम बंद होने के कारण लोगों को 100-100 रुपए के लिए बैंक में जाना पड़ रहा है। बुधवार से शुक्रवार तक बैंक वित्तीय वर्ष खत्म होने और नय वित्तीय वर्ष शुरू होने के कारण बंद रहे।

शनिवार को बैंक खुलने के बाद रविवार को पुन: अवकाश के चलते बैंकों में ताले लटके रहे। सोमवार को बैंक खुलते ही सैकड़ों की संख्या में लोग बैंकों के अंदर झुंड के रूप में काउंटर के सामने खड़े नजर आए। हालत यह है कि बैंकों के अंदर पैर रखने के लिए भीड़ नहीं थी। चैत्र नवरात्र और शादी सीजन नजदीक आ रहा है।

चैत्र नवरात्र शुरू होने में अब सप्ताह भर का समय शेष है। जबकि शादी सीजन में 17 दिन का। ऐसे में एटीएम से पैसा न निकलना बाजार की रौनक भी छीनने का काम कर रहा है। इस तरफ न तो बैंक प्रबंधन ध्यान दे रहे हैं और न ही प्रशासन। लोग परेशान हो रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें