पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अव्यवस्था:पानी को लेकर शहर में लोग हो रहे परेशान नपा कर्मी टैंकरों से घर-घर में बेच रहे पानी

दतियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चार सौ रुपए लेकर घरों के ऊपर लगी टंकियों के भरते हैं नगर पालिका के टैंकर कर्मचारी

शहर में भीषण गर्मी के बीच पेयजल संकट लगातार बढ़ता जा रहा है। पहले दो से तीन दिन में पानी की सप्लाई होती थी और अब चार से पांच दिन में नलों में पानी आ रहा है। आधे से ज्यादा आबादी पेयजल के कारण बूंद-बूंद पानी के लिए परेशान है। तो दूसरी तरफ नगर पालिका के कर्मचारी पानी बेच रहे हैं। चार सौ रुपए में एक टैंकर पानी बेचा जा रहा है। यही नहीं नगर पालिका की फूटी पाइप लाइनों से पूरे दिन सड़कों पर पानी फैल रहा है। लीकेज और वाल्वों से पानी की बर्बादी हो रही है। लेकिन इस तरफ नगर पालिका का ध्यान नहीं है। शहर में पानी की एक-एक बूंद के लिए तरसाया जा रहा है। नगर पालिका भंग होने के कारण वार्डों के जनप्रतिनिधि भी हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं।

नगर पालिका की पेयजल सप्लाई लगभग डेढ़ साल से अव्यवस्थित चल रही है। पिछले साल गर्मियों के मौसम में पानी के लिए न केवल कांग्रेस बल्कि भाजपा नेताओं ने भी जमकर प्रदर्शन किए। आंदोलन प्रदर्शन शुरू होने के बाद नगर पालिका ने सेंवढ़ा बायपास रोड और देहात थाने के लिए अवैध नल कनेक्शन काटने की कार्रवाई शुरू की। करीब 200 नल कनेक्शन काटे भी गए लेकिन इसी बीच कांग्रेस नेताओं ने ही कार्रवाई बंद करा दी थी। देहात थाने के पीछे अवैध कनेक्शनधारियों ने हंगामा शुरू किया तो कांग्रेस नेता बीच में पहुंचे और नल कनेक्शन काटने की कार्रवाई बंद करा दी थी।

इसके बाद आज तक नल कनेक्शन काटने की कार्रवाई शुरू नहीं हुई। पिछले सप्ताह बानको कंपनी के कर्मचारियों ने भरतगढ़ टंकी की मैन सप्लाई से अवैध कनेक्शन हटाए और कनेक्शनधारियों पर मामला दर्ज करने को लेकर नपा सीएमओ को पत्र भी भेजा लेकिन नगर पालिका ने कार्रवाई नहीं की। जिस कारण हताश होकर कंपनी के कर्मचारियों ने कार्रवाई बंद कर दी।

शहर में पानी के लिए तरसे लोग, कम दबाव से 5 घंटे के बजाय 13 घंटे में भर रहीं टंकियां
शहर में बारिश का सीजन खत्म होने से पहले ही भीषण पेयजल संकट शुरू हो गया है। शहर की घनी आबादी बड़ा बाजार, कुंजनपुरा, भरतगढ़ क्षेत्र समेत तमाम इलाकों में लोग पानी की एक-एक बूंद के लिए तरस रहे हैं। जबकि शहर में सप्लाई करने के लिए पानी की कमी नहीं है। नगर पालिका चाहे तो लोगों को एक दिन में दो बार पानी दे सकती है।

लेकिन अवैध कनेक्शनों में आधे से ज्यादा पानी की बर्बादी हो रही है। आधा पानी ही शहर में पहुंच रहा है। जिन पानी की टंकियों को पांच से छह घंटे में भरना चाहिए वे 12-13 घंटे में भर रही हैं। यही कारण है कि लोगों को नियमित पानी नहीं मिल पा रहा है। बेतहाशा गर्मी के बीच उन्हें हैंडपंपों से पानी ढोना पड़ रहा है। माता-पिता हैंडपंप पर पानी भरते हैं जबकि पानी से भरे बर्तन उनके बच्चे घर के अंदर लेकर जाते हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह स्थितियां बेहतरीन बनी हुई है। मानसिक शांति रहेगी। आप अपने आत्मविश्वास और मनोबल के सहारे किसी विशेष लक्ष्य को प्राप्त करने में समर्थ रहेंगे। किसी प्रभावशाली व्यक्ति से मुलाकात भी आपकी ...

और पढ़ें