दतिया पुलिस को मिली सफलता:कल्ला हत्याकांड के दो फरार इनामी आरोपियों को पुलिस ने पकड़ा, 2 महीने पहले हुई थी हत्या

दतियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने आरोपियों को पकड़ा - Dainik Bhaskar
पुलिस ने आरोपियों को पकड़ा

कल्ला अहिरवार हत्याकांड के दो आरोपियों को जिगना पुलिस ने हथियारों समेत गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपियों पर दतिया और झांसी SP की ओर से इनाम घोषित था। आरोपियो के कब्जे से दो कट्टे और आधा दर्जन कारतूस भी बरामद पुलिस ने किए हैं। पंचायत चुनाव के दौरान पुलिस द्वारा की जा रही धरपकड़ के दौरान मुखबिर की सूचना पर जिगना पुलिस ने यह कार्रवाई की।

जिगना थाना प्रभारी भास्कर शर्मा ने बताया कि करीब 2-3 महीने पहले नुनवाह गांव निवासी कल्ला अहिरवार की आरोपी मंगल यादव और पहलवान यादव ने कुछ साथियों के साथ मिलकर हत्या कर दी थी। जिसे लेकर जिगना थाने में हत्या का मामला दर्ज किया था। घटना के बाद से ही दोनों आरोपी फरार थे। जिनकी गिरफ्तारी को लेकर पुलिस लगातार प्रयास कर रही थी। आरोपियों की गिरफ्तारी पर दतिया SP अमन सिंह राठौड ने दस-दस हजार का इनाम घोषित किया था। फरारी के दौरान ही दोनों आरोपियों ने नुनवाहा के दूधिया आलोक अहिरवार को झांसी थाना क्षेत्र की सीमा में जान से मारने की नियत से गोली मार दी थी। जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया था। इस मामले में भी आरोपियों पर झांसी पुलिस की ओर से 5-5 हजार का इनाम घोषित था।

जिस दूधिया आलोक अहिरवार को आरोपियों ने गोली मारी थी। वह भी मृतक कल्ला अहिरवार का संबंधी है। पिछले दिनों पुलिस को उक्त फरार आरोपियों के बेरछा गांव में होने की सूचना मिली थी। जिसके बाद पुलिस बल ने मंगल यादव और पहलवान यादव को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों के कब्जे से हत्याकांड में प्रयुक्त 315 बोर की अधिया, एक 315 बोर का कट्टा और 6 जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं।

आरोपियों के फरार हो जाने के बाद उनके रिश्तेदारों पर भी दवाब बढ़ने लगा था। जिसके चलते मंगल और पहलवान यादव के रिश्तेदार वीरसिंह यादव ने अपने खेत में लगे पेड़ से लटककर जान दे दी थी। उस समय इस मामले में पुलिस ने सफाई दी थी कि पुलिस द्वारा कोई दबाव नहीं बनाया गया।