चातुर्मास / 27 साल पहले अपने गुरु के साथ पहली बार साेनागिर आए थे प्रतीक सागर महाराज, अब यहां चातुर्मास करेंगे

X

  • प्रतीक सागर महाराज का सोनागिर में मंगल प्रवेश, इनका 22वां चातुर्मास

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

दतिया. चातुर्मास प्रेम के जागरण और क्रोध, मान, माया, लोभ के त्याग का संदेश लेकर आता है। सोनागिर महत्वपूर्ण स्थान है। 27 साल पहले मैं आचार्य गुरुवर पुष्पदंत सागर जी महाराज के साथ ब्रह्मचारी अवस्था में आया था। चंद्रप्रभू भगवान की छत्रछाया में लंबे अंतराल के बाद आने का सौभाग्य मिला है। यह बात मुनि प्रतीक सागर जी महाराज ने कही। वह मंगलवार को सिद्ध क्षेत्र सोनागिर में मंगल प्रवेश के बाद धर्मसभा को संबोधित कर रहे थे। 
मुनि प्रतीक सागर महाराज ने कहा कि संयम और सादगी के द्वारा जीवन में आगे बढ़ने की नित नई प्रेरणा मिलती है। महावीर पुराण पढ़ने से महावीर को नहीं समझा जा सकता। मगर महावीर के नाम का अर्थ समझ में आ जाए तो महावीर का संपूर्ण जीवन चरित्र आपके जीवन में उतर जाएगा। महावीर का चित्र और चरित्र दोनों हमारे जीवन का हिस्सा बनना चाहिए। तब कहीं जाकर के जीवन में आमूलचूल परिवर्तन होगा। मुनि श्री ने आगे कहा कि पुण्य के बिना जिंदगी में कुछ भी प्राप्त नहीं हो सकता है और पुण्य से ही सब कुछ प्राप्त होता है पुण्य कर्म अगर जीवन में हो तो अरिहंत पद भी प्राप्त हो जाता है, संसार के सुख वैभव का क्या कहना। पुण्य कार्य करने से जीवन में फैली अशांति दूर होती है।
मुनि श्री प्रतीक सागर जी महाराज का 22 वे चातुर्मास निमित्त सोनागिर सिद्धक्षेत्र की भट्टारा कोठी में भव्य मंगल प्रवेश हुआ। सोनागिर में विराजित आचार्य विवेक सागर जी महाराज ने संघ सहित मुनि श्री की अगवानी की। इस अवसर पर मुनि श्री विनय धर सागर जी महाराज, मुनि श्री विदेश सागर जी महाराज, आर्यिका श्री कीर्ति मति, माताजी क्षुल्लक अरिहंत सागर आदि उपस्थित रहे। संतों के वात्सल्य मिलन को देखकर शिवपुरी, ग्वालियर, डबरा और स्थानीय सोनागिर के जैन समाज ने जय जयकारों द्वारा आकाश को गुंजायमान कर दिया। भट्टारा कोठी में मुनि श्री ने भगवान के दर्शन कर देश में सुख शांति की प्रार्थना की। तत्पश्चात सभागृह में धर्म सभा के प्रारंभ में भगवान के समक्ष कोठी कमेटी द्वारा दीप प्रज्वलन किया गया। मंगलाचरण का पाठ पंडित शशिकांत शास्त्री द्वारा किया गया सभी लोगों ने मुनि श्री को श्रीफल चढ़ाकर आशीर्वाद प्राप्त किया। सकल संघ को दिगंबर जैन जागरण युवा संघ ग्रेटर ग्वालियर भट्टाराक कोठी, सोनागिर की दिगंबर जैन समाज द्वारा शास्त्र भेंट किया गया। चातुर्मास समिति के प्रचार संयोजक सचिन जैन ने बताया- मुनि श्री के राेज अमोल धर्मशाला के सभागृह में शाम 6:45 से 7:15 तक मंगल प्रवचन होंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना