पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्वच्छ सर्वेक्षण:शहर को थ्री स्टार सिटी का दर्जा दिलाने की तैयारी, लेकिन जनता अब तक तैयार नहीं

दतिया3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • थ्री स्टार दर्जा के लिए घरों से निकलने वाला कचरा 4 श्रेणियों में मिले

स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में शहर को अंकों के साथ स्थान तो मिलेगी ही, साथ ही में सिटी को एक स्टार भी मिलेगा। केन्द्र सरकार द्वारा वन, थ्री, फाइव व सेवन स्टार सिटी का दर्जा भी दिया जाएगा। इसके लिए मापदंड तय है। नपा शहर को थ्री स्टार का दर्जा देने के लिए अपना दावा प्रस्तुत करेगी।

लेकिन इसकी जो प्रमुख शर्त है, वह पूरी तरह से नागरिकों के ऊपर निर्भर है। इस शर्त पर अगर नागरिकों ने सर्वेक्षण दल आने से पहले अमल शुरू नहीं किया तो हमें वन स्टार से ही संतोष करना होगा। हालांकि नपा द्वारा किए जा रहे साफ सफाई के प्रयासों से शहर की रेटिंग सुधरने की पूरी संभावना है। नपा द्वारा किए जा रहे प्रयासों से शहर की तस्वीर भी बदल रही है।

किसी भी शहर को थ्री स्टार का दर्जा प्राप्त करने के लिए उस शहर का ओडीएफ प्लस होना जरुरी है। नपा दतिया को ओडीएफ प्लस कर चुकी है। शहर की सफाई 24 घंटे में 3 बार हो रही है। नपा ने शहर के प्रमुख स्थानों पर दिन में 3 बार साफ सफाई करना भी शुरू कर दिया है। अंत में सबसे महत्वपूर्ण है कि शहर में डोर टू डोर कलेक्टर सभी वार्डों से हो रहा हो। हर वार्ड के 75 फीसदी हिस्से से कलेक्शन हो। घरों से कचरा चार श्रेणी में नपा की गाड़ियों में बनें अलग अलग खानों में डाला जा रहा है।

इसी श्रेणी में शहर पिछड़ता नजर आ रहा है। कारण घरों से निकलने वाला कचरा चार श्रेणियों में तो दूर लोग सूखा व गीला कचरा भी अलग अलग नहीं डाल रहे। मार्च में केन्द्रीय सर्वेक्षण दल दतिया आएगा। अगर दल के आने तक जनता ने अलग अलग श्रेणी में कचरा डालना शुरू नहीं किया तो शहर को वन स्टार से ही संतोष करना पड़ेगा।

कचरे को 4 किन श्रेणियों में करना है विभाजित

सूखा कचरा: इसमें घरों, दुकानों से निकलने वाला सभी प्रकार का सूखा कचरा शामिल है।
गीला कचरा: इसमें घरों में निकलने वाला रसोई का सकरन आदि शामिल है।
सैनेट्री कचरा: बच्चों का डायपर, सैनेट्री पैड आदि इसमें शामिल है।
हानिकारक कचरा: इसमें घरों में निकलने वाली केबल, कांच का सामान, ट्यूब लाइट, बल्ब, मोबाइल या कम्प्यूटर, टीवी आदि के खराब पार्ट आदि।

गाड़ियों में चारों बिंग, लोग नहीं डालते कचरा

डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के लिए नपा की जो गाड़ियों वार्डों में घूम रही है। इनमें चारों श्रेणी का कचरा डालने के लिए 4 अलग अलग बॉक्स बने हैं, लेकिन जनता घरों से अलग अलग कचरा कर इनका उपयोग नहीं कर रही। आमतौर पर लोग सूखे, गीले के लिए बने बॉक्सों में ही सभी प्रकार का कचरा डाल रहे हैं। लोगों की यह आदत शहर को थ्री स्टार का दर्जा दिलाने में सबसे बड़ी बाधा बन सकती है।

किस स्टार के लिए क्या है महत्वपूर्ण गतिविधि

एक स्टार सिटी: शहर ओडीएफ हो, शहर की 3 बार सफाई, 75 फीसदी घरों से कचरा कलेक्शन हो रहा हो।

थ्री स्टार सिटी: शहर ओडीएफ प्लस को, शहर की 3 बार सफाई हो रही हो, घरों से कचरे को अलग अलग कर 4 श्रेणियों में बांट कर नपा की कचरा गाड़ियों को दिया जा रहा हो।

फाइव स्टार सिटी: शहर ओडीएफ डबल प्लस हो, थ्री स्टार श्रेणी की सभी गतिविधियां संचालित हो।

सेवन स्टार सिटी: शहर वाटर प्लस हो यानि शहर की सीवर लाइनों को पानी भी साफ नजर आए। सीवर के पानी का पूर्णत: ट्रीटमेंट हो रहा हो। नाले नालियों का पानी साफ नजर आए। बहते हुए भी वह स्वच्छ दिखे। यानि पीने के पानी जैसा दिखे।

शहर को थ्री स्टार सिटी के लिए कर रहे दावा

दतिया को थ्री स्टार का दर्जा दिलाने के लिए दावा किया जा रहा है। जनता सहयोग जरुरी है। इस दर्जे के लिए घरों से चार श्रेणियों में ही कचरा मिलना चाहिए। प्रयास कर रहे है। शहर की साफ सफाई में काफी सुधार किए गए। पार्को का निर्माण के साथ दीवाराें पर पेंटिग कराई गई है। इस बार स्वच्छता रैंक में सुधार होगा।

-अनुपम पाठक, स्वच्छता निरीक्षक, नगर पालिका दतिया

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों में आपकी व्यस्तता बनी रहेगी। किसी प्रिय व्यक्ति की मदद से आपका कोई रुका हुआ काम भी बन सकता है। बच्चों की शिक्षा व कैरियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी संपन...

    और पढ़ें