कोरोना का कहर / श्योपुर में भी हमारे यहां के बराबर मरीज, लेकिन सैंपल यहां से 4 गुना ज्यादा, अंचल में सबसे कम सैंपल दतिया में

Sheopur also has the same number of patients as ours, but the sample is 4 times more than here, the lowest sample in Datia is in Datia.
X
Sheopur also has the same number of patients as ours, but the sample is 4 times more than here, the lowest sample in Datia is in Datia.

  • संक्रमित के संपर्क में आए लोगों के सैंपल लेने से बच रहा स्वास्थ्य विभाग, बहाना... लक्षण नहीं

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

दतिया. इंदरगढ़ में तीन साल की बच्ची के संक्रमित मिलने के बाद अब जिले में पांच कोरोना संक्रमित मरीज हाे गए हैं। कंटेनमेंट एरिया भी बढ़कर तीन हो गए हैं। इनमें लगभग 3 हजार लोग घरों में कैद हैं। जिले में मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद भी जांच का दायरा नहीं बढ़ाया जा रहा है। प्रदेश के छोटे जिले श्योपुर में जैसे ही पहला संक्रमित मिला, वहां जांच का दायरा बढ़ा दिया गया था। यही कारण है कि वहां स्वास्थ्य विभाग अब तक 467 लोगों की जांच करा चुका है। समीपस्थ शिवपुरी जिले में भी 1100 लोगों की जांच हो चुकी है, लेकिन दतिया में अब तक सिर्फ 141 लोगों की कोरोना जांच कराई गई है। ग्वालियर-चंबल संभाग के 6 जिलों में सबसे कम सैंपल दतिया में ही लिए गए हैं। यह हालात तब हैं जब जिले में प्रशासन के रिकॉर्ड के अनुसार ही 16 हजार से अधिक लोग आ चुके हैं।

जिले में 10 दिन में 5 कोरोना पॉजिटिव

  • जिले में 10 दिन में पांच कोरोना पॉजिटिव मरीज मिल चुके हैं। इसने लोगों की चिंता बढ़ा दी है लेकिन स्वास्थ्य विभाग केंद्र सरकार की गाइड लाइन के बहाने उन लोगों के सैंपल भी नहीं ले रहा जो पाॅजिटिव मरीज के सीधे संपर्क में रहे हैं। जिले में बाहर से आए या फिर संक्रमितों के संपर्क रहे बहुत कम लोगाें के सैंपल लिए गए हैं। सिर्फ उन्हीं लोगों की जांच की जा रही है, जिनमें लक्षण है। यानि खांसी, जुखाम, बुखार, गले में खराश और सांस लेने की दिक्कत है। यही कारण है कि जिले में अब तक सिर्फ 141 लोगों की कोरोना जांच कराई गई।
  • वहीं सीएमएचओ डॉ. एसएन उदयपुरिया का कहना है कि जिले में शासन की गाइड लाइन के हिसाब से कोरोना की सैंपलिंग की जा रही है। डॉक्टर जिसकी सैंपलिंग करना उचित समझते हैं, उसकी सैंपलिंग करा कर जांच कराई जा रही है।

रिकॉर्ड में गड़बड़ी, इसलिए भी खतरा
जिले में देश के विभिन्न प्रदेशों से 30 हजार से अधिक मजदूर आ चुके हैं लेकिन स्थानीय प्रशासन के पास इसकी सही जानकारी ही नहीं है। अगर नगरीय निकायों का रिकॉर्ड को देखें तो दतिया शहर में सिर्फ 75, बड़ौनी में 194, भांडेर में 244, इंदरगढ़ में 131 व सेंवढ़ा में 284 लोग बाहर से आए। ग्रामीण क्षेत्रों में देखे तो जनपद दतिया में 4681, भांडेर में 6017 व सेंवढ़ा में 4989 प्रवासी मजदूर आए हैं। यानि शहरी व कस्बाई क्षेत्रों में कुल 928 लोग व जनपद क्षेत्रों में 15687 लोग कुल मिलाकर जिलेभर में 16 हजार 615 लोग ही दर्ज हैं। दूसरी ओर स्वास्थ्य विभाग 18514 लोगों को क्वारेंटाइन करने का दावा करता है, यानि जिले में तमाम लोग बगैर सूचना के चोरी छिपे आ चुके हैं। इन्हीं से संक्रमण का खतरा   बना हुआ है।

अच्छी खबर... सिरसा के 3 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई, डॉक्टरों ने तालियां बजाकर बढ़ाया उत्साह

सबसे पहले 14 मई को सेंवढ़ा के सिरसा गांव में मिले कोरोना के तीन मरीज 9 दिन के इलाज से ठीक हो गए हैं। दोबारा जांच में उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। इसके बाद अस्पताल से उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया। शनिवार को तीनों को एंबुलेंस से उनके गांव भेज दिया गया है। बता दें कि अहमदाबाद से सिरसा लौटे 12 लोगों को संदिग्ध माना गया था। 11 मई को सभी के सैंपल जांच के लिए ग्वालियर भेजे गए थे। 14 मई को आई रिपोर्ट में 9 लोग निगेटिव एवं 3 लोग राहुल (10) पुत्र अर्जुन, शकुंतला (35) पत्नी अर्जुन एवं राज (10) पुत्र मुकेश की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। कोरोना होने पर इन तीनों को जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था। 21 मई को इन सभी लोगों के दोबारा सेंपल भेजे गए जो निगेटिव आए। शनिवार को तीनों को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया।

संक्रमित बच्ची को आधी रात को किया आइसोलेट
इंदरगढ़ कस्बा के वार्ड 4 में रहने वाले परमित गुप्ता की तीन वर्षीय पुत्री भाग्या की शुक्रवार को रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी। शुक्रवार की रात में ही बच्ची को आइसोलेट कर दिया गया है। शनिवार को कलेक्टर रोहित सिंह व पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौड़ इंदरगढ़ पहुंचे। बेरिकेडिंग कर उसके घर के अासपास के पूरे क्षेत्र को सील कर कंटेनमेंट एरिया घोषित कर दिया गया है। अब जिले में तीन कंटेनमेंट एरिया हो गए हैं। सेंवढ़ा का ग्राम सिरसा व भांडेर का लहार हवेली पहले से कंटेनमेंट एरिया घोषित है। इंदरगढ़ में ढाई सौ की आबादी को कंटेनमेंट एरिया में रखा गया है। शनिवार को इंदरगढ़ का बाजार भी पूरी तरह बंद रहा। व्यापारियों ने स्वेच्छा से अपनी दुकानें बंद रखीं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना