पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जनसुनवाई:साहब! खेत में सूख रही मटर की फसल, दबंग जान से मारने की धमकी देकर नहीं डालने दे रहे पाइप

दतिया13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • माफिया विरोधी अभियान के बाद जमीन कब्जे की शिकायतें बढ़ीं, लोग देने पहुंचे आवेदन

मौजा ईगुई में मेरी जमीन पर हरी मटर की फसल खड़ी है। पानी की जरूरत है लेकिन पानी न मिलने के कारण हरी भरी फसल सूखने की कगार पर है। पड़ोसी खेत के लोग मुझे मेरी मेड़ पर ही पाइप नहीं डालने दे रहे हैं। खेत के पास गौरीशंकर, पूरन सिंह, वीरेंद्र राजपूत द्वारा पाइप डालने से रोका जा रहा है और जान से मारने की धमकी दी जाती है।

जबरन पाइप डालने पर पाइप काटने की धमकी देते हैं। मैने पंडोखर थाने में भी शिकायत की लेकिन आरोपियों पर कार्रवाई नहीं हुई। साहब! आप ही कुछ करो और मेरी फसल को सूखने से बचाओ। यह शिकायत ग्राम बड़ेरासोपान के कृषक मुन्नालाल पुत्र भगवानदास ने मंगलवार को कलेक्टोरेट में जनसुनवाई में आवेदन देकर की।

बता दें कि जब से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर भू माफियाओं पर कार्रवाई का अभियान शुरू हुआ है, जिले में जमीनों पर कब्जे संबंधी शिकायतों में इजाफा हुआ है। कोई जमीन पर तो कोई प्लाॅट पर दूसरे व दबंग लोगों द्वारा कब्जा करने की शिकायत लेकर पहुंच रहा है। 50 फीसदी से ज्यादा शिकायतें जमीन संबंधी पहुंच रही हैं और बांकी 50 फीसदी अन्य मामलों से जुड़ी हैं। जनसुनवाई कर रहे कलेक्टर संजय कुमार ने शिकायती आवेदन संबंधित विभाग प्रमुखों के लिए मार्क किए और समय सीमा में निराकरण करने के निर्देश दिए।

ग्राम सिरौल निवासी संदीप पुत्र कालीचरण झा ने आवेदन देकर बताया तहसील कार्यालय वृत गोराघाट में पदस्थ बाबू द्वारा बंटवारा आदेश कराने के एवज में तीन हजार रुपए की रिश्वत की मांग की जा रही है। जब इस संबंध में पांच जनवरी को जनसुनवाई में शिकायत की गई तो अब बाबू ने बंटवारे की फाइल ही निरस्त कर दी। कलेक्टर ने मामले की जांच कर संबंधित बाबू पर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

10 महीने से नहीं दी प्रतिमाह मिलने वाली राशि

ग्राम रामनगर की आदिवासी महिलाएं बती आदिवासी, हल्ली आदिवासी, रजकू, जनका, इमरती आदिवासी आदि ने जनसुनवाई में आवेदन देकर बताया कि शासन द्वारा उन्हें हर महीने एक-एक हजार रुपए की सहायता राशि दी जाती है। लेकिन पिछले 10 महीने से उन्हें एक भी रुपए का भुगतान नहीं मिला है। जिससे परिवार के भरण पोषण में परेशानी आ रही है। महिलाओं ने कहा कि वे गरीब महिलाएं हैं और अपने व परिवार के भरण पोषण में परेशानी का सामना कर रही हैं। महिलाओं ने शासन से मिलने वाली 1-1 हजार रुपए की राशि जल्द दिलवाने की मांग की है।

रकबा दर्ज कराने की मांग पर ग्रामीण बोला- पटवारी ने रकबा कम कर दिया

ग्राम मुरगुवां निवासी गनेश पुत्र नेकसाई साहू ने आवेदन देकर बताया कि वह जिला प्रशासन से अनुमति लेकर 2007 में तीर्थ स्थल भ्रमण करने के लिए गया था। जब वह भ्रमण कर घर लौटा और जमीन का खसरा निकलवाया तो उसमें उसकी व उसके भाई की जमीन का रकबा कम पाया गया। वह जब अयोध्या में था तभी पटवारी गांव के भ्रमण पर गया और खसरा नंबर 822 का रकबा पटवारी ने कम कर दिया। गनेश ने आवेदन में कलेक्टर से जमीन को पूर्ण रकबा दर्ज करवाने की मांग की है।

जेसीबी में पार्टनर करने लिए पांच लाख रु. लिए, न जेसीबी खरीदी न पैसे वापस किए

ग्राम परासरी निवासी रमेश पुत्र वृंदावन कमरिया ने आवेदन देकर बताया कि उससे ग्राम खैरी निवासी नबाव सिंह ने दो साल पहले जेसीबी मशीन में पार्टनर करने के नाम पर पांच लाख रुपए लिए थे। लेकिन नबाव सिंह ने न तो जेसीबी मशीन खरीदी और न ही पैसे वापस लौटाए। हर बार झूठ बोलकर अपने ऊपर चढ़े खर्च को चुकाने के लिए पांच लाख रुपए ले लिए थे। अब रुपए मांगने पर गाली गलौज कर भगा दिया जाता है। जिससे फरियादी मानसिक व शारीरिक रूप से काफी परेशान है।

सर, दहेज नहीं दिया तो बेटी को नहीं भेज रहे मायके

शहर के निदान का कुआं निवासी कपूरी कुशवाहा ने आवेदन देकर बताया कि उसने अपनी पुत्री पूनम का दूसरा विवाह अनुबंध पत्र व सामाजिक रीति रिवाज के अनुसार 17 जून 2019 को चिरगांव जिला झांसी निवासी विनोद कुशवाहा के साथ किया था। शादी में एक लाख रुपए खर्च किए थे।

अब ससुराल पक्ष के लोग पूनम से दहेज में बाइक और एक लाख रुपए की मांग कर रहे हैं। देने पर मारपीट करने लगे हैं। यही नहीं महिला अपने बेटे के साथ ससुराल से बेटी को लेने के लिए चिरगांव गई तो ससुराल पक्ष ने बिना दहेज दिए पूनम को मायके न भेजने की बात कही। अब मोबाइल से बात तक नहीं कराई जाती है। महिला ने आवेदन में बताया कि उसकी पुत्री की ससुराल पक्ष के लोग कभी भी हत्या कर सकते हैं।

इलाज कराने मांगी मदद

ग्राम सहिड़ाकलां निवासी बादाम पुत्र प्रेमी जाटव ने आवेदन दिया है कि उसे ह्रदय रोग है और इलाज ग्वालियर के सुयश हॉस्पीटल में चल रहा है। उसे बीपीएल कार्ड की आवश्यकता है क्योंकि वह गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहा है। बादाम ने बीपीएल कार्ड बनवाकर सहायता राशि स्वीकृत कराने की मांग की है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- जिस काम के लिए आप पिछले कुछ समय से प्रयासरत थे, उस कार्य के लिए कोई उचित संपर्क मिल जाएगा। बातचीत के माध्यम से आप कई मसलों का हल व समाधान खोज लेंगे। किसी जरूरतमंद मित्र की सहायता करने से आपको...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser