संक्रांति 15 को:14 जनवरी को दोपहर के बाद सूर्य मकर में प्रवेश करेंगे

दतिया22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरसों, हल्दी, चाय, सोना जैसे पदार्थों में तेजी लाएगी मकर संक्रांति, पर्वकाल 15 जनवरी को सुबह से दोपहर तक

सूर्योपासना का पर्व मकर संक्रांति इस बार 15 जनवरी को मनाई जाएंगी। कारण 14 जनवरी को सूर्य दोपहर के बाद धनु राशि से मकर में प्रवेश करेंगे। पंचांग भेद में रात्रि 8 बजे के बाद प्रवेश है। इसलिए संक्रांति का पर्वकाल 15 जनवरी को सुबह से दोपहर तक शुभ रहेंगे। मकर संक्रांति से सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण हो जाते है। श्री पीतांबरा पीठ के पंडित मनोज तिवारी बताते है कि निर्णय सागर पंचांग के हिसाब सूर्य 14 जनवरी को दोपहर 2.28 बजे मकर में प्रवेश कर रहे है, जबकि विश्व पंचांग के हिसाब से रात्रि 8 बजे । ऐसे में शास्त्रानुसार 15 जनवरी को सूर्योदय से लेकर दोपहर 12 बजे तक पर्व काल मनाना चाहिए। इसी दौरान दान, पुण्य के साथ स्नानादि करना उचित रहेगा। पं. तिवारी के अनुसार इस बार संक्रांति का वाहन व्याघ्र है, उप वाहन अश्व, पीले रंग के कपड़े पहन रखे है, आयुध गदा, चांदी के पात्र में खीर खाते हुए,नैऋत्य कोण में दृष्टि किए हुए, कुमकुम का लेप व कुमार अवस्था में है। इसके प्रभाव से लेखक, पत्रकार व शिक्षकों के लिए शुभ, शेयर बाजार, उद्योगपतियों के लिए कष्टप्रद व गल्ला के लिए स्थिर रहेगी। मार्च तक महामारी होगी शांत - पं. तिवारी के अनुसार मकर संक्रांति के प्रभाव व ग्रहों की स्थिति के हिसाब से मार्च तक कोरोना महामारी शांत हो जाएगी। देश के अन्न भंडारण में काफी वृद्धि होगी। देश के अन्य राष्ट्रों से संबंध सुदृढ़ होंगे।

खबरें और भी हैं...