पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शिक्षक दिवस पर जिले में जगह-जगह हुए कार्यक्रम:शिक्षक समाज को कर्तव्य परायणता सिखाने वाले महानायक हैं: पटेरिया

दतिया13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शिक्षक समाज को शिष्टाचार, क्षमा और कर्तव्य परायण सिखाने वाले महानायक है। आज का दिन उनके सम्मान का दिन है। शिक्षक एक गुरू होता है जिसकी कृपा हमेशा अपने शिष्यों पर रहना चाहिए। शिष्य को ज्ञान देकर सदैव उसका मार्गदर्शन करना चाहिए। यह बात रविवार को रेडक्रॉस भवन में मप्र पेंशनर्स संघ की मासिक बैठक में अध्यक्षता कर रहे जीएस उदैनिया ने कही। सर्वप्रथम मां सरस्वती का पूजन किया गया। तत्पश्चात अध्यक्ष एसपी पटैरिया ने सभी शिक्षक पेंशनर का पुष्पमाला एवं पेन भेंटकर सम्मानित किया। बैठक में तय हुआ कि मासिक बैठक हर महीने प्रथम रविवार को ही होगी।

इस दौरान राम नारायण अग्रवाल, बालकृष्ण बाथम, बनवारी लाल जोशी, सीताराम साबला, महेश कुमार तिवारी, सियाशरण उदैनिया, बृज किशोर, देवीलाल निरंजन, रामप्रसाद कोहली, हरिहर प्रसाद समाधिया, संतोष कुमार अहिरवार, एमसी तिवारी, महेश कुमार शुक्ला आदि मौजूद रहे। शिक्षक दिवस पर बेटी क्लब दतिया द्वारा सोमवार को सीतासागर के पास शिक्षक सम्मान समारोह एवं संगोष्ठी आयोजित की गई।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर शिक्षाविद डॉ. आरपी गुप्ता मौजूद रहे। अध्यक्षता क्लब अध्यक्ष आकांक्षा रावत एवं विशिष्ट अतिथि के तौर पर अनिल चतुर्वेदी व उपाध्यक्ष मीना श्रीवास्तव मौजूद रहीं। कार्यक्रम के प्रारंभ में मां सरस्वती एवं डॉ. राधाकृष्णन सर्वपल्ली के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की। मुख्य अतिथि डॉ. गुप्ता ने कहा कि शिक्षक ही समाज को मार्गदर्शन प्रदान करता है। इसलिए माता-पिता के बाद शिक्षक को ही महत्व देना चाहिए। क्योंकि शिक्षक तुम्हें ज्ञान से परिपूर्ण कर सक्षम बनाएगा।

जीवन में हर चीज खो सकती है लेकिन प्राप्त शिक्षक कभी भी नहीं जाती है। इसलिए गुरु के महत्व को समझें। कार्यक्रम में क्लब के संरक्षक अशोक श्रीवास्तव, संयोजक संजय रावत, महेंद्र शर्मा आदि मौजूद रहे। अंत में धमना माध्यमिक विद्यालय प्रधानाध्यापक सीताराम प्रजापति, मनोज कुमार उपाध्याय, महेंद्र शर्मा, कल्पना मिश्रा और मोहतेज अली को श्रीफल व स्मृति चिह्न भेंटकर सम्मानित किया गया।

भारतीयम विद्यापीठ में हुआ कार्यक्रम

झांसी रोड स्थित भारतीयम विद्यापीठ में शिक्षक दिवस धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ डाॅ. राधाकृष्णन के चित्र पर माल्यापर्ण कर हुआ। तत्पश्चात विद्यापीठ के वरिष्ठ शिक्षक पीके महापात्रा ने डाॅ. राधाकृष्णन के जीवन पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि आखिर हम डाॅ. राधाकृष्णन का जन्मदिन शिक्षक दिवस के रूप में क्यों मनाते हैं। कार्यक्रम में शिक्षक राहुल जैन, पंकज उपाध्याय, एनके पालीवाल, प्रदीप अग्रवाल, सागर अग्रवाल आदि शामिल रहे।

प्रजापति समाज ने किया शिक्षकों का सम्मान
प्रजापति समाज उत्थान सेवा समिति द्वारा गैस एजेंसी के पीछे स्थित समाज की धर्मशाला पर शिक्षक दिवस मनाया गया। इस दौरान शिक्षा विभाग में सहायक संचालक के पद से सेवानिवृत्त हुए हरिशंकर प्रजापति का सम्मान किया गया। श्री प्रापति ने कहा कि समाज में चली आ रही रूढ़ीवादी परंपरा का त्याग करें। कार्यक्रम में अध्यक्ष जमुना प्रजापति, सचिव रामसेवक, कोषाध्यक्ष मूलचंद्र, मथुरा, महेंद्र, रघुवीर, गोपाल, नीरज प्रजापति आदि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...