पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भांडेर में चोरों का आतंक:रामगढ़ काली माता मंदिर की दानपेटी तोड़ कैश ले गए चाेर, सिक्के छोड़ गए

दतिया13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
खेत में पड़ी टूटी दानपेटी। - Dainik Bhaskar
खेत में पड़ी टूटी दानपेटी।
  • चोरों ने खेत में ले जाकर तोड़ी दानपेटी, मंदिर पर चौथी बार हुई चोरी

भांडेर नगर से कुछ दूरी पर स्थित रामगढ़ की काली माता मंदिर से चोर दान पेटी तोड़कर ले गए और सुनसान खेतों में पेटी के अंदर रखी चिल्लर छोड़कर कागजी नोट चोरी कर ले गए। कागजी नोट कितने थे फिलहाल यह अंदाजा नहीं लग पाया है। लेकिन पेटी चार महीने से नहीं खुली थी इस हिसाब से करीब 50 हजार रुपए चोरी होने की चर्चा है।

घटना शनिवार-रविवार रात 12 बजे से तड़के चार बजे के बीच की बताई गई है। खास बात यह है कि रामगढ़ मंदिर की दानपेटी से चौथी चोरी हुई है। स्थानीय प्रशासन ने मंदिर पर सीसीटीवी कैमरे भी लगवाए हैं लेकिन वे खराब पड़े हैं। मंदिर प्रशासन के अधीन है लेकिन प्रशासन द्वारा मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर किसी तरह के इंतजाम नहीं किए गए हैं।

भांडेर नगर से कुछ दूरी पर रामगढ़ में काली माता का प्राचीन मंदिर है। यहां भांडेर के अलावा आसपास के ग्रामीण इलाकों, दूर दराज से भी लोग मत्था टेकने आते हैं। चार-पांच लोग इसी मंदिर पर विश्राम भी करते हैं। धर्मस्व विभाग से यहां सेवा पूजा के लिए पुजारी नियुक्त हैं। रविवार को सुबह आसपास के लोग मंदिर पर दर्शन करने गए तो मंदिर की दानपेटी टूटी पड़ी थी। यह देख लोगों के होश उड़ गए। लोगों ने इधर उधर देखा तो खाली खेत में दानपेटी पड़ी मिली। दानपेटी में चिल्लर भरी थी। जबकि कागजी नोट चोरी हो चुके थे।

जानकारी मिलने पर तहसीलदार व मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष सूर्यकांत त्रिपाठी, नायब तहसीलदार शिवशंकर गुर्जर, एसडीओपी मोहित यादव, थाना प्रभारी विजय सिंह लोधी समेत आसपास के सैकड़ों लोग पहुंच गए। काफी देर तक जांच पड़ताल की गई लेकिन चोरों का कोई सुराग नहीं लग सका। तहसीलदार त्रिपाठी ने बताया कि चार महीने पहले जब मंदिर की पेटी खोली गई थी तब करीब डेढ़ लाख रुपए निकले थे। चार महीने से पेटी नहीं खुली थी। इस बीच चैत्र नवरात्र भी लोगों का हजारों की संख्या में मंदिर पर दर्शनों के लिए आना जाना हुआ। करीब एक लाख रुपए दानपेटी में होने की उम्मीद जताई जा रही है। जिसमें से सिर्फ चिल्लर बची है।

खबरें और भी हैं...