• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Datia
  • The Woman Did Not Allow Her Husband To Be Cremated Until There Was No Report In Datia District

पत्नी ने रुकवाया पति का अंतिम संस्कार:दतिया जिले में रिपोर्ट नहीं होने तक महिला ने पति का नहीं होने दिया अंतिम संस्कार

दतिया7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक युवक। - Dainik Bhaskar
मृतक युवक।

दतिया जिले के उनाव थाना क्षेत्र के अंतर्गत तरगवां गांव में खेत में काम करने की बात को लेकर एक विवाद में एक युवक के साथ मारपीट की गई थी। उसकी पिछले दिन मौत हो गई थी। उनाव थाने में मारपीट का प्रकरण दर्ज पहले से ही था। इस दौरान विवाद में घायल युवक की ग्वालियर में इलाज के दौरान मौत हो जाने के बाद उसकी पत्नी व परिजन इस बात पर अड़ गए कि जब तक पुलिस हत्या का मामला दर्ज नहीं करेगी, तब तक शव का अंतिम संस्कार नहीं होने दिया जाएगा।

24 घंटे तक दाह संस्कार रुका रहा। बाद में ग्वालियर से मृतक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट पुलिस ने मंगवाई। तब मामला हत्या की धाराओं में तब्दील हुआ। बुधवार देर शाम तक मृतक का अंतिम संस्कार किया गया। उनाव पुलिस ने इस मामले में पांच आरोपियों के खिलाफ हत्या सहित एट्रोसिटी एक्ट व विभिन्न धाराओं में मामलों में नामजद प्रकरण दर्ज किया है। इस घटनाक्रम से तरगवां गांव में तनाव की स्थिति पैदा हो गई थी।

विगत 10 नवंबर की शाम 5 बजे जिले के उनाव ब्लाक में ग्राम तरगवां में खेत पर आनंद दोहरे पिता मनीराम दोहरे (35) पत्नी भीमवती दोहरे के साथ खेत में गाय के लिए चारा काट रहे थे। इसी दौरान ओमप्रकाश कुर्मी उर्फ पप्पू वहां आया और उसने कहा कि पहले हमारी गाय के लिए चारा काटो। इस पर जब आनंद ने मना किया, तो विवाद बढ़ गया। उसके बाद ओमप्रकाश ने अपने अन्य साथियों को भी वहां पर बुला लिया और आनंद के साथ मारपीट की। घायल होने पर आनंद दोहरे को ग्वालियर ले जाया गया था, जहां मंगलवार काे इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी।

मृतक आनंद पत्नी भीमवती तोहरे व उसके परिजनों ने बताया कि पहले पुलिस हमारी इस मारपीट मामले की रिपोर्ट ही नहीं लिख रही थी। इसलिए हमें शक था कि बाद में भी आरोपियों को बचाने के लिए पुलिस कुछ भी कर सकती है। ऐसी स्थिति में हमने मृतक का अंतिम संस्कार रोक दिया था।

बता दें कि मृतक के परिवार वाले उसका शव गत मंगलवार शाम 4 बजे शव गांव लेकर आ गए थे। रिपोर्ट में देरी और धारा में बदलाव नहीं होने पर परिवार वालों ने जब पुलिस जवान बुधवार को 3 बजे उनाव थाने पहुंचा और इसके बाद थाने में दर्ज मामले की धाराओं में बदलाव करने के बाद बुधवार देर शाम युवक का दाह संस्कार हो सका।

इस दौरान पूरे समय पुलिस का पहरा मृतक के घर के बाहर रहा। पुलिस ने इस हत्याकांड मामले में ओमप्रकाश और पप्पू पिता रतिराम कुर्मी, सौरभ पिता ओमप्रकाश कुर्मी, कमलू कुर्मी पिता कल्याण कुर्मी, विकास कुर्मी पिता शालिग्राम कुर्मी, प्रद्युम्न पिता ज्वाली प्रसाद कुर्मी नामक आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने नामजद प्रकरण दर्ज किया है। सभी आरोपी्र अभी फरार हैं।

उनाव थाना प्रभारी अमर सिंह गुर्जर ने बताया कि मृतक के परिवार वाले जिद कर रहे थे कि तुरंत केस दर्ज किया जाए, जबकि प्रकरण तो पहले ही दर्ज किया जा चुका था। सिर्फ धाराएं बदली जाना थीं। जब तक ग्वालियर से पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आती तब तक इस मामले में हत्या संबंधी धारा 302 नहीं लगाई जा सकती थी। जब पीएम रिपोर्ट आई तो हमने धाराओं में बदलाव कर लिया है।

खबरें और भी हैं...