पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Datiya
  • Water Is Being Supplied In The City In 4 To 5 Days, People Are Wandering Here And There, Spending 50 Crores In 15 Years, Yet People Are Craving Drop By Drop

बारिश के सीजन में जल संकट:शहर में 4 से 5 दिन में सप्लाई हो रहा पानी, लोग भटक रहे इधर से उधर, 15 साल में 50 करोड़ रुपए खर्च फिर भी बूंद-बूंद को तरस रही जनता

दतिया15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वार्ड 25 में पानी भरने जाती महिला और बच्ची। - Dainik Bhaskar
वार्ड 25 में पानी भरने जाती महिला और बच्ची।
  • ठेकेदार: बिजली कटौती से बिगड़ी पेयजल व्यवस्था
  • डीई: यह बात सही लेकिन अब बिजली समस्या नहीं

शहर में मानसून के सीजन में भी भीषण पेयजल संकट के हालात हैं। 15 दिन से शहर में चार से पांच दिन में पानी सप्लाई किया जा रहा है। नलों में पानी न आने से लोगों को हैंडपंप और कुओं का सहारा लेना पड़ रहा है। पानी सप्लाई के लिए अधिकृत बानको कंपनी का दावा है कि बिजली कटौती और खुदाई से पाइप लाइन टूटने के कारण सप्लाई प्रभावित हो रही है। वहीं बिजली कंपनी दो दिन से अघोषित कटौती बंद होने का दावा कर रही है। दोनों के दावे के बीच जनता बूंद-बूंद पानी के लिए परेशान हैं।

शहर में अंगूरी बैराज और रामसागर तालाब से पेयजल सप्लाई होती है। शहर में लगभग 20 हजार उपभोक्ताओं को नलों से पीने और निस्तारी पानी मिलता है। इनमें करीब पांच हजार उपभोक्ता अवैध कनेक्शन वाले हैं। नगर पालिका का सबसे ज्यादा अमला पेयजल सप्लाई के लिए तैनात है। सहायक यंत्री से लेकर इंजीनियरों को शहर की सभी टंकियों की अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी गई है।

इसके अलावा बानको कंस्ट्रक्शन कंपनी का अमला भी पेयजल सप्लाई देखता है। हैरानी कि फिर भी शहर में पेयजल व्यवस्था सुधरने के बजाए बिगड़ रही है। नगर पालिका एक दिन के अंतराल से पानी सप्लाई करने का दावा करती है लेकिन हकीकत यह है कि चार से पांच दिन में आधा घंटे ही पानी मिल रहा है। इसका मुख्य कारण है शहर में जगह-जगह फूट रहीं पाइप लाइनें। एक तिहाई पानी फूटी पाइप लाइनों से बर्बाद हो रहा है।

50 करोड़ खर्च फिर भी कई जगह अब तक नहीं पहुंचा पानी

साल 2006 से अब तक नगर पालिका शहर में पाइप लाइन बिछाने से लेकर घर-घर कनेक्शन करने में करीब 50 करोड़ रुपए खर्च कर चुकी है। इनमें 23 करोड़ 49 लाख की नलजल योजना, अमृत योजना के तहत डाली गई पाइप लाइन भी शामिल है। हैरानी कि वार्ड नंबर 31 का भांडेर रोड स्थित परदेशीपुरा, शहर के अंदर वार्ड क्रमांक 11 में नजयाई बाजार, हर्ष स्कूल के पास, खंताल मोहल्ला के आसपास पाइप लाइन डली है लेकिन पानी आज तक नहीं पहुंचा है। यहां के पार्षद कई बार परिषद के सम्मेलन में मुद्दा उठा चुके हैं लेकिन हर बार सप्ताह भर में समस्या दूर करने का दाबा कर दिया जाता है। समाधान आज तक नहीं हुआ।

चार से पांच दिन में मिल रहा पानी
शहर के बुंदेला कॉलोनी, ईदगाह मोहल्ला, वार्ड नंबर 24, खजांची मोहल्ला, गाड़ीखाना, शिवगिर मार्ग, भांडेरी फाटक, रिछरा फाटक, उनाव रोड, रामनगर कॉलोनी, अनामय आश्रम के पीछे सहित तमाम इलाके ऐसे हैं जहां नपा तीन से पांच दिन के अंतराल में पानी सप्लाई कर रही है। सोशल मीडिया पर लोगों द्वारा नगर पालिका के खिलाफ पोस्ट डालकर आक्राेश जताया जा रहा है।

पांच दिन से नल नहीं आए

  • हमारी कॉलोनी में पांच दिन से नल नहीं आए हैं। पूरी कॉलोनी पानी के लिए परेशान है। मोहल्ले में हैंडपंप भी नहीं है। मोटर पंप वालों के घर से पानी भरकर काम चला रहे हैं। - वीरू राजा बुंदेला, रामनगर कॉलोनी

पहले समस्या थी, अब नहीं

  • ये बात सही है कि पहले बिजली कटौती हो रही थी लेकिन वह जबलपुर से ही हो रही थी। अब नियमित बिजली दे रहे हैं। कभी-कभी लाइन बर्स्ट हो जाती है तब सप्लाई बंद करना पड़ती है। - एपीएस भदौरिया, डीई, बिजली कंपनी

समाधान नहीं हो रहा है

  • हमारे वार्ड नंबर छह में खजांची मोहल्ला, गाड़ीखाना मार्ग, शिवगिर मंदिर और भांडेरी फाटक मार्ग पर तीन-तीन दिन में पानी आ रहा है। कई बार कह भी चुके हैं लेकिन समस्या का समाधान नहीं हो रहा है। - दीपू सोनी, पूर्व पार्षद

हर बार आश्वासन मिला

  • वार्ड नंबर 11 में नजयाई बाजार, मस्जिद के पास, हर्ष स्कूल, खंताल के पीछे पाइप लाइनें डली हैं लेकिन अब तक पानी नहीं पहुंचा है। कई बार कहा भी लेकिन हर बार आश्वासन मिला। - सुरेश मुलू उपाध्याय, पूर्व पार्षद आधा घंटे पानी मिलता है
  • हमारे वार्ड 31 में भांडेर रोड पर पानी नहीं पहुंच रहा है। वार्ड के बाकी मोहल्लों में भी तीन-चार दिन में पानी आ रहा है। आधा घंटे ही पानी मिलता है। - राकेश साहू, पूर्व पार्षद पेयजल सप्लाई बिगड़ी है
  • डीजे बंगले के सामने मशीन से खुदाई चल रही है। हम सही कर देते हैं और मशीन वाला लाइन तोड़ देता है। इसके अलावा बिजली कटौती भी हो रही है। इस कारण पेयजल सप्लाई बिगड़ी है। - सद्दन खान, ठेकेदार, बानको कंस्ट्रक्शन कंपनी
खबरें और भी हैं...