पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Datiya
  • When He Was Stopped From Sitting On The Platform, The Freak Had Murdered The Couple, The Woman Said What Is Blind ... Also Killed Him

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खुलासा:चबूतरे पर बैठने से रोका तो सनकी ने कर दी थी दंपति की हत्या, महिला ने कहा- अंधा है क्या- उसे भी मार डाला

दतिया8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आरोपी ने एक ही तरीके से दोहरे हत्याकांड समेत चार लोगों की हत्या की, 11 साल पुराने केस से खुला राज
  • भांडेर में दोहरे हत्याकांड का 22 महीने और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की हत्या का डेढ़ महीने में हुआ खुलासा
  • दंपति हत्याकांड का खुलासा न करने पर 12 थानेदार तक बदले गए, आखिर मिल गई सफलता

भांडेर के बोहरान मोहल्ला में 22 महीने पहले हुए दंपत्ति हत्याकांड और डेढ़ महीने पहले आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के अंधे कत्ल की गुत्थी रविवार को भांडेर पुलिस ने सुलझा दी है। ये दोनों अंधे कत्ल बोहरान मोहल्ले में रहने वाले सनकी युवक ने ही किए थे। आरोपी ने 11 साल पहले भी एक हत्या की थी। दिलचस्प ये है कि ये तीनों बड़ी वारदातें एक ही तरीके से की गई थीं और मामूली कहासुनी पर हुई थीं। यही नहीं आरोपी ने हत्या करने के बाद वहां से जेवरात व नगदी की भी लूटपाट की थी। इसका खुलासा आरोपी के पकड़े जाने के बाद खुद आरोपी ने ही किया है।
पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौड़ ने बताया कि भांडेर में 22 महीने पहले हुए डबल मर्डर और डेढ़ महीने आंगनबाड़ी की कार्यकर्ता की हत्या की गुत्थी सुलझाना पुलिस के लिए चुनौती थी। रविवार को जानकारी मिली कि भांडेर के बोहरान मोहल्ले में 22 महीने पहले हुई याकूब और उसकी पत्नी सलमा बेग की हत्या के पीछे मोहल्ले में ही रहने वाले बबलू उर्फ जुगलकिशोर पुत्र नारायणदास ढीमर का हाथ है। एसपी ने भांडेर थाना प्रभारी रोशनलाल भारती को कार्रवाई के निर्देश दिए। भांडेर पुलिस ने जुगलकिशोर को पकड़ा और पूछताछ की तो उसने न केवल याकूब व उसकी पत्नी सलमा बल्कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता राजकुमारी उर्फ लोढ़ा सोनी की हत्या करना भी स्वीकार की।
मिलेगा 20 हजार इनाम
भांडेर के दंपत्ति और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में एसडीओपी मोहित कुमार यादव, डीएसपी अंजली रघुवंशी, थाना प्रभारी राेशनलाल भारती, एसआई आकाश संशिया, एसआई प्रियंका सिंह यादव, मनोज तोमर, अवधेश दीक्षित, वीर प्रताप, अंकित शर्मा, जीत यादव आदि की अहम भूमिका रही। इन सभी ने टीम भावना से काम कर दोनों बड़ी वारदातों के तार से तार जोड़े और उस आरोपी को पकड़ने में सफलता प्राप्त की जो दोहरे हत्याकांड में ढाई से भी ज्यादा वक्त से पुलिस के हाथों बचा हुआ था। मोहल्ले के लोगों को भी उसकी खौफनाफ तस्वीर दिखाई नहीं दी। एसपी अमन सिंह ने बताया कि पुलिस टीम को चंबल रेंज डीआईजी की तरफ से 20 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा की गई है।

आरोपी जुगलकिशोर ने याकूब व उसकी पत्नी की हत्या करने का कारण बताते हुए कहा कि वह शराब के नशे में याकूब के घर के बाहर बने चबूतरे पर बैठा था तभी याकूब ने उससे चबूतरे से उठकर जाने के लिए कहा। जब जुगलकिशोर वहां से नहीं उठा तो याकूब ने उसे धक्का दे दिया था जिससे जुगलकिशोर वहां गिर पड़ा था। इसी बात पर उसने याकूब की हत्या करने का मन बना लिया। दो-तीन दिन बाद (22-23 अक्टूबर 18) को रात में मौका पाकर आरोपी जुगलकिशोर याकूब के घर में छत के रास्ते से घुसा और वहीं पड़े बबूल के मोटे डंडे से बेपरदा हालत में सोते वक्त याकूब के चेहरे पर मार दिया। फिर बगल में सो रही सलमा के चेहरे पर डंडा मार दिया। जिससे एक साथ दोनों की मौत हो गई थी। आरोपी हत्या के बाद सलमा के गले से सोने का मंगलसूत्र भी ले गया था। जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया। आरोपी ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की हत्या के पीछे का कारण बताते हुए कहा कि मैं लोढ़ा बुआ (आंगनबाड़ी कार्यकर्ता) के बगल से निकल रहा था तभी मेरा पैर लोढ़ा बुआ के पैर से टकरा गया जिस पर लोढ़ा बुआ ने चिल्लाकर कहा- चप्पल से मारूंगी, अंधा है क्या। इसी बात पर रंजिश मानकर आरोपी उसी दिन रात में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के अंदर घुस गया और पूरी रात सीढिय़ों के नीचे बैठा रहा। 24 जून को सुबह 4 बजे कार्यकर्ता नल से पानी भरने के लिए उठी तो आरोपी ने सिर पर डंडा मारकर हत्या कर दी और कार्यकर्ता के पर्स से 300 रुपए व आधार कार्ड लेकर भाग गया था।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

    और पढ़ें