• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Gohad
  • Wrestlers Disappointed Due To Not Having Riots In Fairs, Devi Temples Will Not Be Held This Time, Fairs Will Not Be Riots Either

आज से नवरात्र:मेलों में दंगल न होने से पहलवान निराश, देवी मंदिरों पर इस बार नहीं लगेंगे मेले, दंगल भी नहीं होंगे

गोहद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चैत नवरात्र पर्व के शुरू होने के साथ ही गाेहद नगर के प्राचीन मंदिरों पर लगने वाले चार मेलों का आयोजन इस बार कोरोना महामारी के कारण प्रशासन ने स्थगित कर दिया गया है, ऐसे में सिर्फ श्रद्घालु मंदिरों में पूजाल्-अर्चना ही कर सकेंगे। मेले स्थगित होने से स्थानीय व्यापारी परेशान हैं। गौरतलब है कि गोहद नगर में नवरात्र पर्व शुरू होने के साथ माता अन्नपूर्णा मेला, छेंकुर हनुमान मेला,माता शीतला मेला, जगदर माता मेलों का आयोजन होता था। लेकिन बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रशासन ने पिछले साल की तरह इस बार भी चारों मेलों के आयोजन पर रोक लगा दी है। प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है कि मेलों के आयोजन पर रोक लगाई है, लेकिन मंदिरों में श्रद्घालु पूजा-अर्चना करने के लिए आ सकेंगे।

व्यापारी बोले- काफी नुकसान होगा
स्थानीय व्यापारी संजय झा, लालाराम कुशवाह,विनोद सिंह आदि का कहना है कि नगर में नवरात्र से शुरू होने वाले मेले चार महीनों तक चलते थे। इन चार महीनों में हम व्यापारी सालभर का कारोबार कर लेते थे। पिछले साल की तरह इस बार भी मेलों पर रोक लगा दी गई है। ऐसे में हम व्यापारियों का काफी नुकसान होगा। वहीं कई व्यापारियों ने तो हजारों रुपए का माल मेले के लिए बाहर से खरीदकर लाए हैं। मेला लगने से व्यापारियों का काफी नुकसान होगा। प्रशासन को इस बारे में सोचना चाहिए।
मेले के साथ नहीं होंगे दंगलः नगर के कुश्ती कोच पहलवान वासुदेव शुक्ला का कहना है कि नगर में लगने वाले मेलों में हर वर्ष दंगलों का आयोजन होता था, लेकिन इस बार भी रोक लग जाने से दंगल भी नहीं हो सकेंगे। इस बात को सुनकर काफी दुख हुआ है। वहीं स्थानीय पहलवान अजीत, गिर्राज, सलमान का कहना है कि मेलों में होने वाले दंगलों का हम पहलवान सालभर इंतजार करते हैं। साथ ही दंगल जीतने के लिए तैयारी भी करते हैं। लेकिन दंगल पर रोक लग जाने से गोहद क्षेत्र के पहलवान निराश हैं।

खबरें और भी हैं...