पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मददगार कदम:वर्कशॉप संचालक, जूता दुकानदारों ने कोरोना मरीजों के लिए दिए 5 ऑक्सीजन सिलेंडर

जौराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जौरा अस्पताल में मरीजों के लिए काम आएंगे सिलेंडर

आपदा की इस घड़ी में भले ही कुछ लोग मुनाफा कमाने से पीछे नहीं हट रहे, लेकिन लोगों में मानवता अभी भी बची हुई है। जौरा कस्बे में रहने वाले एक वर्कशॉप संचालक व एक जूता दुकानदार ने अपने यहां रखे 5 ऑक्सीजन सिलेंडर जरूरतमंद मरीज की जान बचाने के लिए दिए। एसडीओपी मानवेंद्र सिंह कुशवाह को नेशनल इंजीनियरिंग वर्कशॉप के संचालक फैयाज खां ने फोन करके कहा कि सर हमारे गैराज में 2 ऑक्सीजन सिलेंडर रखे हैं, मेरी इच्छा है कि यह जौरा अस्पताल में आने वाले मरीजों के काम आएं।

वहीं समाजसेवी व ताज शू सेंटर के संचालक ने भी फोन कर पुलिस के माध्यम से 3 ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया कराए। यह पांचों सिलेंडर जौरा स्वास्थ्य केंद्र पर बीएमओ के सुपुर्द किए गए। दोनों सेवाभावी व्यक्तियों का कहना है कि आज ऑक्सीजन के लिए हर व्यक्ति परेशान है। हमारे यहां रखे यह ऑक्सीजन सिलेंडर लोगों के काम आएं, इससे बड़ा पुण्य कार्य और क्या हो सकता है। दोनों समाजसेवियों का एसडीओपी मानवेंद्र सिंह ने इस नेक कार्य के लिए हृदय से आभार व्यक्त किया।

वहीं कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए जिले में जनता कर्फ्यू लागू है। इसके बावजूद लोग अपने घर से बेपरवाह होकर घूम रहे हैं। कहीं पुलिस को डंडे चलाने पड़ रहे हैं, तो कहीं एफआईआर दर्ज करना पड़ रही है। ऐसे में नूराबाद गांव में रहने वाले लोगों ने जिलेवासियों के लिए एक मिसाल पेश की है। गांव के लोगों ने खुद ही बेरिकेड्स लगाकर अपने गांव को बंद कर लिया है। ग्रामीणों ने निर्णय लिया है कि न तो गांव से कोई बाहर जाएगा न हमारे गांव में बाहर का व्यक्ति आएगा।

खबरें और भी हैं...