पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

टेंडर कैंसिल:जलावर्धन योजना के टेंडर निरस्त, एक लाख की आबादी के सामने होगी पानी की किल्लत

कैलारसएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कैलारस में पानी के समुचित इंतजाम नहीं है। -फोटो : किशोर - Dainik Bhaskar
कैलारस में पानी के समुचित इंतजाम नहीं है। -फोटो : किशोर

कैलारस, जौरा और झंडपुरा के लिए नई पेयजल योजना के टेंडर अब तक मंजूरी की स्टेज पर नहीं पहुंच सके हैं। इसके चलते इस वित्तीय वर्ष में जलावर्धन योजना के लिए बजट मिलने की उम्मीद न के बराबर है। 2021-22 में कम रेट के टेंडरों पर शहरी विकास कंपनी कैसे काम कराएगी, इसे लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है।

तीन कस्बों की जलावर्धन योजना के टेंडर कैंसिल होने का कारण सामने आया कि ठेकेदारों ने काम करने की जो रेट डाली उसे शहरी विकास कंपनी ने अधिक माना और टेंडरों को दो बार निरस्त करा दिया। ठेकेदार कम रेट पर काम करने को तैयार नहीं हैं और शासन प्रोजेक्ट की रिवाइज डीपीआर तैयार कराकर नए टेंडर जारी करने पर रोक लगाए है। इसके चलते इस साल गर्मियों में भी कैलारस, जौरा व झुंडपुरा की एक लाख से ज्यादा आबादी को जरूरत के मुताबिक पानी मुहैया नहीं हो सकेगा। क्योंकि वर्तमान जलस्रोतों से पानी कम मिल पा रहा है।

योजना 30 साल की, बजट पहले साल के लिए भी नहीं
कैलारस, जौरा व झंडपुरा के लोगाें को आगामी 30 साल तक 135 लीटर प्रतिव्यक्ति प्रतिदिन के मान से पानी मिलता रहे इसके लिए 4 साल पहले जलावर्धन योजना की डीपीआर तैयार की गई थी। लेकिन उस डीपीआर पर मार्च 2021 तक काम शुरू नहीं हो सका।

कारण है कि इस योजना की टेंडर प्रक्रिया दो बार निरस्त की जा चुकी है। इस संबंध में अधिकारियों का कहना है कि योजना का बजट कम है और ठेकेदारों ने अधिक रेट के टेंडर डाले हैं। इस कारण टेंडर प्रक्रिया हर बार निरस्त हो रही है। चौंकाने वाली यह है कि जलावर्धन योजना पर काम शुरू कराने के लिए विधायकों ने अब तक शासन स्तर पर कोई पहल नहीं की है।

क्वारी नदी से पानी लाकर कैलारस नगर में पेजयल समस्या को दूर करने की योजना की डीपीआर हैदराबाद की कंपनी ने तैयार की थी, जिसे कैलारस नगर परिषद ने वर्ष-2016 में पारित कर शासन को स्वीकृति के लिए भेज दिया था। 44 करोड़ की योजना को राज्य शासन ने स्वीकृत कर दिया था। लेकिन टेंडर में अधिक दाम होने के कारण इसे निरस्त कर दिया गया।

कंपनी 2020 में इस योजना के टेंडर आमंत्रित किए लेकिन इस वर्ष भी अधिक रेट के चलते टेंडर प्रक्रिया निरस्त कर दी गई। ऐसे में नगर के लोगों को क्वारी नदी से नगर में सप्लाई किए जाने वाले पानी की योजना का लाभ इस बार भी नहीं मिल सकेगा। यहां बता दें कि क्वारी नदी के पानी को फिल्टर प्लांट के माध्यम से पीने योग्य बनाने के लिए आंतरी गांव के पास जमीन अधिग्रहण का काम भी पूरा हो चुका है।

दो साल पहले योजना का शिलान्यास
कैलारस में क्वारी नदी से पानी लाने के लिए जलावर्धन योजना का शिलान्यास 7 जुलाई 2018 को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सतना में वीडियो कांफ्रेंस के द्वारा किया था, लेकिन इसके बाद भी शहरी विकास कंपनी ने इस योजना पर काम शुरू कराने के लिए प्रभावी प्रयास नहीं किए।

जानिए, क्या काम होंगे जलावर्धन योजना में
जलावर्धन योजना रिठौनियां के पास स्थापित होगी। अलोपीशंकर पार्क पर दो ओवरहेड टैंक बनाए जाएंगे। नगर में नई पाइप लाइन बिछाई जाएगी। दो नए बोर, दो बड़ी टंकियों का निर्माण और पेयजल सप्लाई से संबंधित अन्य कार्य भी इसमें शामिल किए गए हैं।

कंपनी करेगी मेंटेनेंस
जलावर्धन योजना के टेंडरों की शर्त में शामिल है कि जो कंपनी इस योजना के तहत काम करेगी उसे 5 साल तक मेंटेनेंस की जवाबदारी लेनी होगी। उसका सारा व्यय कंपनी ही वहन करेगी। हालांकि इस कार्य पर नजर रखने के लिए कुछ लोगों की एक टीम भी तैयार कराई जाएगी जो सतत निगरानी करेगी।

फिर से बुलाए जाएंगे टेंडर
कैलारस में क्वारी नदी से पानी लाने के लिए जलावर्धन योजना के टेंडर फिर से आमंत्रित किए गए लेकिन रेट अधिक होने के कारण प्रमुख अभियंता कार्यालय द्वारा टेंडर निरस्त कर दिए गए हैं। आगामी समय में फिर से टेंडर बुलाए जाएंगे।-आरडी शाक्य, मैनेजर मप्र अर्बन डवलपमेंट कंपनी मुरैना

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- वर्तमान परिस्थितियों को समझते हुए भविष्य संबंधी योजनाओं पर कुछ विचार विमर्श करेंगे। तथा परिवार में चल रही अव्यवस्था को भी दूर करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियम बनाएंगे और आप काफी हद तक इन कार्य...

    और पढ़ें