पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कैंप:बच्चों की मौत के बाद चेता विभाग लगाया कैंप, 43 मरीज और मिले

कराहल8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चकबिलेंडी गांव में टाइफाइड से हुई दो बच्चों की मौत के बाद बीएमओ मंगलवार को गांव में स्वास्थ्य शिविर लगाने के लिए पहुंचे। इस दौरान गांव में सर्दी, बुखार और अन्य बीमारियों से पीड़ित करीब 43 मरीज सामने आए। इन मरीजों की कोरोना और मलेरिया की जांच भी की गई। जिनकी रिपोर्ट निगेटिव आई।

गौरतलब है कि चकबिलेंडी गांव निवासी संदीप (5) पुत्र श्यामा आदिवासी और जसरत (5) पुत्र सीताराम आदिवासी की टाइफाइड की वजह से उपचार के अभाव में मौत हो गई थी। मंगलवार को कराहल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के बीएमओ डॉ. राजेंद्र वर्मा, डॉ. ऋतु अग्रवाल, आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व स्वास्थ्य टीम के साथ चकबिलेंडी गांव में पहुंचे।

यहां उन्होंने ग्रामीणों का परीक्षण शुरू करते हुए उनकी मलेरिया, कोरोना, शुगर, ब्लड प्रेशर, टाइफाइड की जांच की। इस दौरान कुल 43 मरीज सामने आए। जिसमें बुखार से 12, चर्म रोग से 2, सर्दी जुकाम से 11 और अन्य बीमारियों से 18 मरीज पीड़ित मिले। इन मरीजों का उपचार कर उन्हें दवाई दी गई।

खबरें और भी हैं...