पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पटवारियों की मांग:लंबित मांगों को लेकर पटवारी संघ ने तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

कराहल18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पटवारियों ने मांगों को 15 दिन में पूरा करने की मांग की

मप्र पटवारी संघ ने पटवारियों ने बुधवार को कराहल के तहसील कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए अपनी लंबित मांगों को पूरा कराए जाने के लिए मुख्यमंत्री, राजस्व मंत्री और मुख्य सचिव के नाम कराहल तहसीलदार नवल किशोर जाटव को ज्ञापन सौंपा। लंबित मांगों को 15 दिन में पूरा किए जाने की मांग की। पटवारियों ने बताया कि यदि उनकी मांगें पूरी नहीं हुईं तो पटवारी संघ प्रदेश व्यापी आंदोलन करेगा।

ज्ञापन में बताया गया है कि शासन द्वारा विगत कई वर्षों से केवल आश्वासन ही दिया जा रहा है, पर मांग पूर्ण नहीं की गई, जिससे प्रदेश के पटवारियों में निराशा का भाव होकर मनोबल प्रभावित हो रहा है। आए दिन पटवारियों की मौत हो रही है। उन्होंने बताया कि 22 वर्ष से पटवारी के वेतनमान का उन्नयन नहीं किया गया है, जबकि इसी अवधि में कई अन्य विभागों के कई समकक्ष कर्मचारी कैडरों जिनका वेतन तत्समय पटवारी से कम था के वेतनमान का उन्नयन किया जा चुका है, जबकि उपरोक्त समयावधि में पटवारी के कर्तव्य तथा योग्यता में काफी बढ़ोतरी की गई है। वर्ष 2007 में मध्यप्रदेश पटवारी संघ के प्रांतीय अधिवेशन में मुख्यमंत्री ने भी पटवारियों के वेतन उन्नयन की घोषणा की गई थी।

मुख्यमंत्री के निर्देश पर राजस्व मंत्री द्वारा भी पटवारियों का वेतनमान 5200-20200, 2800 ग्रेड-पे किए जाने वर्ष 2019 में लिखित आश्वासन दिया गया है, किंतु अभी तक 5200-20200 से 2800 ग्रेड पे वेतनमान स्वीकृत नहीं हुआ है। शासन नियमानुसार पदोन्नति के सापेक्ष में पटवारी संवर्ग को प्रथम समयमान में राजस्व निरीक्षक एवं द्वितीय में नायब तहसीलदार, सहायक अधीक्षक भू-अभिलेख एवं तृतीय में तहसीलदार अधीक्षक भू-अभिलेख का वेतनमान प्राप्त होना चाहिए जो वर्तमान में पटवारी संवर्ग को प्राप्त नहीं हो रहा है। इस मौके पर पटवारी संघ के ब्लॉक अध्यक्ष नरेंद्र, आनंद बैरागी, अजय भारद्वाज, रामस्वरूप, राघवेंद्र शर्मा और सिराज अहमद सहित कई पटवारी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...