पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अनदेखी:सड़क तक पसरी दुकानें, राहगीर हो रहे परेशान, ट्रैफिक व्यवस्था भी बदहाल

कराहल18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
करहाल कस्बे में दुकानदारों ने सड़क पर सामान जमा कर लिया अतिक्रमण। - Dainik Bhaskar
करहाल कस्बे में दुकानदारों ने सड़क पर सामान जमा कर लिया अतिक्रमण।
  • दुकानों के आगे सामान रख व्यापारी कर रहे अतिक्रमण, न पंचायत न पुलिस कर रही कार्रवाई

कस्बे में अतिक्रमण हटाओ की मुहिम दिनों-दिन बदहाल होती जा रही है। कराहल कस्बे में हालात यह हैं कि दुकानों के आगे लोगों ने अपना सामान रखकर अतिक्रमण कर लिया है। जिस कारण करियादेह तिराहे से लेकर मुख्य बाजार तक में हर आधे घंटे में ट्रैफिक जाम के हालात नजर आते हैं। हर आधे घंटे में हो रहे ट्रैफिक जाम को खुलवाने के लिए पुलिस भी बाजार में नहीं पहुंचती है।

वहीं अतिक्रमण को लेकर अधिकारी भी अनदेखी करते नजर आ रहे हैं। कराहल के विकास को लेकर जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों ने मिलकर तमाम योजनाएं तो बनाई हैं, लेकिन ट्रैफिक व्यवस्था को लेकर कोई ठोस योजना नहीं हैं। बाजार में जगह-जगह दुकानदारों के द्वारा अपना सामान सड़क तक फैला दिया जाता है। काउंटर से लेकर तखत और सामान की लंबी कतार सड़क पर उतर रही है, जिसे देखकर ऐसा लगता है कि दुकान मानों सड़क पर ही आ गई हो। करियादेह चौराहा, गणेश बाजार और पालीवाल चौक तक इस तरह के हालात देखने को मिल रहे हैं। प्रशासनिक अधिकारियों के वाहन भी जब बाजार में पहुंचते हैं तो उन्हें भी निकलने में कई बार मशक्कत का सामना करना पड़ता है।

जनपद सीईओ ही बाजार में हो रहे अतिक्रमण से अवगत हैं लेकिन वह पंचायत को अतिक्रमण हटाने का अधिकार होने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ रहे हैं। इसके साथ ही वाहन चालक अपनी मर्जी से वाहन चलाते हुए नजर आते हैं, जिसे जहां मर्जी में आया अपनी बाइक और कार के साथ लोडिंग वाहन खड़ा कर चला जाता है। नतीजा हर आधे घंटे में ट्रैफिक जाम और विवाद के हालात बनते नजर आते हैं। ट्रैफिक कंट्रोल को लेकर पुलिस भी बाजार में खड़ी नजर नहीं आती है। जिससे हालात और भी ज्यादा बेकाबू हो रहे हैं।

पार्किंग की सुविधा भी नहीं

कराहल में गड़बड़ाई ट्रैफिक व्यवस्था के पीछे मुख्य कारण पार्किंग की सुविधा नहीं होना भी है। बाजार में पार्किंग की जगह नहीं होने से दुकानदारों और खरीदारों के वाहन सड़क पर ही खड़े रहते हैं। जिसके कारण बाजार में ट्रैफिक व्यवस्था गड़बड़ाई रहती है। रास्ते पर रखे दुकानदारों के सामान से जहां रास्ता सिकुड़कर आधा रह जाता है वहीं वाहन खड़े होने पर पूरी तरह से बंद हो जाता है। पूर्व में इस संबंध में पंचायत को जनपद को ज्ञापन भी दिए जा चुके हैं। लेकिन बाजार में पार्किंग के लिए कोई जगह चिह्नित नहीं की गई है।

सुबह से शाम तक बाजार में भारी वाहनों पर प्रतिबंध, लेकिन कार्रवाई नहीं

कराहल कस्बे में ट्रैफिक व्यवस्था को कंट्रोल करने के लिए सालभर पहले तत्कालीन थाना प्रभारी राजेश शर्मा और जनपद सीईओ एस एस भटनागर ने प्लान बनाया था। इस दौरान करियादेह तिराहे से बाजार के अंदर आने वाले ट्रक, लोडिंग और मिनी ट्रक जैसे वाहनों की एंट्री पर सुबह 9 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक के लिए रोक लगा दी थी। इसके लिए बाकायदा बोर्ड लगाकर एक पुलिसकर्मी तैनात किया गया था, लेकिन थाना प्रभारी का सिटी कोतवाली में ट्रांसफर होने के बाद करियादेह पर लगा बोर्ड भी गायब हो गया और ड्यूटी करने वाले पुलिसकर्मी भी। कस्बे में अलग से ट्रांसपोर्ट नगर की सुविधा नहीं होने से अब बाजार में बेरोकटोक भारी वाहन दौड़ रहे हैं। जो हादसे की आशंका को तो बढ़ाते ही हैं ट्रैफिक जाम भी कर देते हैं।

कार्रवाई शुरू करेंगे

बाजार में जिन दुकानदारों ने सड़क पर अपना अतिक्रमण कर लिया है उनका मैं निरीक्षण करूंगा। पंचायत के माध्यम से दुकानदारों को नोटिस देकर कार्रवाई की जाएगी। - एस एस भटनागर, जनपद सीईओ, कराहल

खबरें और भी हैं...