• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Morena
  • 22 Days Have Passed Since The Incident, The Police Could Not Reach The Accused, Old Lady Chanda Yadav Was Brutally Murdered In Gulpura Village

पुलिस नहीं कर सकी हत्या के आरोपी का खुलासा:घटना को 22 दिन बीत चुके, पुलिस नहीं पहुंच पाई आरोपी तक, गुलपुरा गांव में वृद्धा चंदा यादव की हुई थी बेदर्दी से हत्या

मुरैना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो चंदा यादव के मृत शरीर - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो चंदा यादव के मृत शरीर
  • अंधा कत्ल की गुत्थी बता रही पुलिस, लोग बता रहे सभी सबूत मौजूद पुलिस के पास

कैलारस कस्बे के गुलपुरा गांव में 8 जुलाई को 65 वर्षीय वृद्धा चंदा यादव की हत्या कर दी गई थी। हत्या रात में की गई थी। सुबह जब गांव वालों ने पुलिस को खबर की तो पुलिस पहुंची। हत्या के समय वह घर के बाहर खाट पर लेटी थी। उसी समय उसकी सोते में ही हत्या कर दी गई थी।
इस मामले में वृद्धा की बेटी नीतू यादव ने अपने देवर पर हत्या का आरोप लगाया था। उसने बताया था कि उसका देवर करीब चार बजे सुबह, चार लोगों के साथ आया और कुल्हाड़ी से उसकी मां की बेदर्दी से हत्या करके चला गया। इसके बाद पुलिस ने जब देवर जितेन्द्र यादव का पता किया तो वह उस समय अंबाह गया हुआ था। पुलिस के अनुसार पहली ही नजर में वह आरोपी नहीं है। इसके बाद पुलिस का कहना है कि नीतू यादव बार-बार बयान बदल रही है।
बड़ी बेदर्दी से की थी हत्या
यहां बता दें, कि वृद्धा चंदा यादव की आरोपी ने बड़ी बेदर्दी से कुल्हाड़ी से हत्या की थी। कुल्हाड़ी से पहले उसके कानों पर वार किया था तथा उसके बाद सिर में वार करके उसे खत्म कर दिया था। सुबह लोगों को वृद्धा का शव खाट पर पड़ा मिला था।
सहेली के घर गई थी बेटी
वृद्धा की अकेली पुत्री नीतू यादव ने पुलिस को बताया था कि हत्या के समय वह अपनी सहेली के घर पर गई हुई थी। जब सुबह उसे मां के मरने की सूचना मिली तो वह घर आई। पुलिस इस बात का भी जवाब खोज रही है कि जब वह रात में सहेली के घर सो रही थी तो उसे कैसे पता चला कि सुबह 4 बजे उसका देवर उसकी मां की हत्या करके चला गया। पुलिस यह भी कह रही है कि बेटी कई बार अपने बयान बदल चुकी है। बेटी ने ही अपनी मां का अंतिम संस्कार किया था।

फाइल फोटो घटना स्थल पर मौजूद पुलिस का
फाइल फोटो घटना स्थल पर मौजूद पुलिस का

ससुराल नहीं जाती बेटी
पुलिस की माने तो बेटी नीतू यादव लंंबे समय से अपने ससुराल नहीं गई है। उसका ससुराल वालों से झगड़ा चल रहा है। वह अपनी मां के साथ ही गांव से बाहर एक झोपड़ी में रहती थी। उसने पुलिस को बताया था कि उसका देवर जितेन्द्र यादव उसकी मां की हत्या करके गया है लेकिन पुलिस ने जब जितेन्द्र यादव की लोकेशन तलाश की तो वह उस समय अंबाह गया हुआ था। लिहाजा पुलिस इस मामले में उसे बिल्कुल दोषी नहीं मान रही है। पुलिस का यह भी कहना है कि ससुराल वालों से झगड़ा होने के कारण नीतू यादव अपने देवर पर झूठा आरोप लगा रही है।
पुलिस 50 लोगों से कर चुकी पूछताछ
पुलिस की माने तो इस मामले में वह लगभग पचास लोगों से पूछताछ कर चुकी है, लेकिन अभी तक इस अंधे कत्ल की गुत्थी नहीं सुलझा पाई है। दूसरी तरफ सूत्रों का कहना यह है कि पुलिस इस मामले में छानबीन नहीं कर रही है। पुलिस को स्पष्ट हो चुका है कि हत्या का आरोपी कौन है लेकिन वह उसका खुलासा नहीं कर रही है।
कहती है पुलिस
यह परिवार का मामला है। इसलिए इसमें अधिक समय लग रहा है। अंधा कत्ल होने की वजह से गुत्थी सुलझाने में समय लगता है। हम लगातार जांच कर रहे हैं। लोगों से पूछताछ कर रहे हैं। उम्मीद है जल्द ही मामले का खुलासा कर देंगे।
वेदेन्द्र कुशवाह, थाना प्रभारी, कैलारस