निगम की लापरवाही:जाली विवाह प्रमाण-पत्र जारी कराने के मामले में 6 फंसे, अभी तक कार्रवाई नहीं

मुरैनाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

आगरा की रहने वाली प्रेमलता पत्नी पुत्री राममनोहर लवानियां की अनुकंपा नियुक्ति रुकवाने के लिए उसके देवर राजा शर्मा लखनऊ ने मुरैना के कुछ लोगों से सांठगांठ कर नगर निगम से प्रेमलता की शादी का जाली विवाह प्रमाण-पत्र जारी करा दिया। जाली विवाह प्रमाण-पत्र में 28 साल की विधवा महिला का विवाह 50 साल के सुंदर पुत्र फूली लोधी निवासी ऐंतलपुर धौलपुर से होना बताया गया, जबकि प्रेमलता ने अपने पति अंकित शर्मा के 15 अगस्त 2018 में निधन के बाद से अब तक किसी दूसरे व्यक्ति से शादी नहीं की है।

इस फर्जीवाड़े की जांच सीएसपी मुरैना पूरी कर चुके हैं,लेकिन कद्दावर व रसूखदार आरोपियों को बचाने के लिए उन्होंने जांच प्रतिवेदन चार महीने बाद भी एसपी को नहीं भेजा है। चौकाने वाली बात यह है कि पुलिस जांच में सु्ंदर लोधी ने कहा कि उसकी शादी प्रेमलता शर्मा नामक किसी महिला से नहीं हुई है। फिर भी 2019 की शिकायत पर पुलिस अब तक एफआईआर दर्ज नही करा सकी है। मामला आईजी के संज्ञान में हाेने के बाद भी कार्रवाई इसलिए अटकी है।

खबरें और भी हैं...