• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Morena
  • After Stopping The Bus At Baba Devpuri Temple, The Wedding Procession Started, There Was A Fight In Front Of The Shop For Removing The Bus.

चंबल में बारातियों पर बरसे लाठी-डंडे:मंदिर के सामने बस रोककर लगा दिया जाम, हटाने से इनकार करने पर बारातियों पर टूट पड़े दुकानदार

मुरैनाएक वर्ष पहले

चंबल में बारातियों की लाठी-डंडों से जमकर मारपीट की गई। उनका कसूर सिर्फ इतना था ड्राइवर ने मंदिर के बाहर लगी दुकानों के सामने बस खड़ी कर दी थी। दुकानदारों ने बारातियों से बस हटाने को कहा तो दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई। इस पर लाठी-डंडे लेकर दुकानदारों और आसपास के लोगों ने बारातियों को पीटना शुरू कर दिया। इस पूरे घटनाक्रम का कुछ बारातियों ने वीडियो बना लिया।

घटना बुधवार की है। मुरैना जिले के सबलगढ़ से बारात बस से आगरा जा रही थी। बस जब बाबा देवपुरी मंदिर के सामने से गुजरी तो बारातियों ने दर्शन की इच्छा जताई। ड्राइवर ने बस मंदिर के बगल में प्रसाद की दुकान के सामने खड़ी कर दी। थोड़ी देर बाद बस के चलते जाम लग गया। दुकानदारों ने स्टाफ से कहा कि बस को आगे कर लो, जाम लग रहा है। इस पर कुछ बारातियों ने आपत्ति जताई। उनका कहना था कि हम प्रसाद चढ़ा लें, उसके बाद चले जाएंगे। इसी बात पर दोनों तरफ से गाली-गलौज शुरू हो गई। फिर क्या था सभी दुकानदार और आसपास के लोगों ने लाठी-डंडे व हॉकी से बारातियों को पीटना शुरू कर दिया।

बारातियों के साथ मारपीट करते लोग।
बारातियों के साथ मारपीट करते लोग।

पुलिस ने जाम लगाने पर लगा रखी थी रोक
बाबा देवपुरी मंदिर के सामने टू-वे है, जिसकी वजह से अगर कोई वाहन खड़ा हो जाता है तो पूरा रास्ता जाम हो जाता है। पहले भी वहां पर जाम लगा रहता था, इसलिए सरायछोला थाना पुलिस ने जाम लगाने पर वहां के दुकानदारों को चेतावनी दे रखी थी। यही वजह थी कि जब दुकान के सामने बस रुकी तो दुकानदारों ने आपत्ति की और बस हटाने को कहा। इसी बात पर बारातियों व दुकानदारों में झगड़ा हो गया और नौबत मारपीट तक जा पहुंची। आरोप है कि दुकानदारों और स्थानीय लोगों ने बारातियों की पिटाई के साथ-साथ बस में भी तोड़फोड़ की।

पुलिस ने पांच लोगों की पहचान की है
इस मामले में सरायछोला थाना पुलिस ने पांच लोगों को चिन्हित किया है। पुलिस के मुताबिक, बारातियों के आने के बाद मामला दर्ज कराया जाएगा।

पुलिस का कहना है
वीडियो के आधार पर केवल पांच लोगों की पहचान की गई है। मामला अभी दर्ज नहीं किया गया है, क्योंकि उनकी वल्दियत भी जरूरी है। बस ड्राइवर ने कहा था कि आगरा से लौट कर रिपोर्ट लिखवाएगा।
ऋषिकेश शर्मा, थाना प्रभारी, सरायछोला

खबरें और भी हैं...