मौसम ने बदले तेवर / आंधी से 11वीं सदी के जैन मंदिर के मान स्तंभ का ऊपरी हिस्सा ढहा, कमल मंदिर को भी नुकसान

सिहोनियां स्थित जैन मंदिर में तेज आंधी की वजह से टूटकर गिरा मान स्तंभ का टुकड़ा व प्राचीन जैन प्रतिमाएं। सिहोनियां स्थित जैन मंदिर में तेज आंधी की वजह से टूटकर गिरा मान स्तंभ का टुकड़ा व प्राचीन जैन प्रतिमाएं।
X
सिहोनियां स्थित जैन मंदिर में तेज आंधी की वजह से टूटकर गिरा मान स्तंभ का टुकड़ा व प्राचीन जैन प्रतिमाएं।सिहोनियां स्थित जैन मंदिर में तेज आंधी की वजह से टूटकर गिरा मान स्तंभ का टुकड़ा व प्राचीन जैन प्रतिमाएं।

  • अंचल में दूसरे दिन भी बूंदाबांदी, पोरसा के कई इलाकों में गिरे ओले

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 05:48 AM IST

मुरैना. लगातार पांचवीं साल अंचल में नौतपा बिगड़ गया। गुरुवार की शाम आई आंधी-बारिश के बाद अधिकतम पारा 2 डिग्री लुढ़क कर 44 पर आ गया। वहीं रात में भी 2 डिग्री की कमी आई है। शुक्रवार की देर शाम मुरैना शहर सहित जिलेभर में बादल छाने के साथ-साथ ठंडी हवा चली। वहीं सबलगढ़ जोरा-अंबाह में बूंदाबांदी हुई। पोरसा में तेज बारिश के साथ आसपास के इलाकों में ओले गिरने की खबर है। वही सिहोंनिया में तेज आंधी की वजह से जैन समाज के तीर्थ स्थल पर बने मंदिर का मान स्तंभ टूट गया। नए मंदिर की बिल्डिंग पर लगे कांच के सेट उखड़ कर दूर जा गिरे।  गौरतलब है कि शुक्रवार को जिले का अधिकतम तापमान 44 डिग्री व न्यूनतम तापमान 28 डिग्री दर्ज किया गया। जबकि 24 घंटे पहले यह पारा क्रमशः 46 डिग्री व 32 डिग्री था।  

2015 के बाद से लगातार बिगड़ रहा नौतपा: मुरैना जिले में नौतपा पिछले 5 साल से लगातार बिगड़ रहा है। वर्ष 2015 में जरूर नौतपा के 9 दिन भयंकर गर्मी पड़ी थी लेकिन इसके बाद के सालों में नौतपा के बीच आंधी बारिश की वजह से मौसम ठंडा हो गया। क्योंकि ऐसी मान्यता है कि इन 9 दिनों में तेज गर्मी की वजह से धरती खूब जलती है तो बारिश भी अच्छी होती है, परंतु इस वर्ष भी नौतपा के चौथे दिन ही आंधी बारिश व ओलावृष्टि से तापमान 44 डिग्री पर आ गया।

बादल छाए रहेंगे, पारा 41 से 42 डिग्री के बीच रहेगा
आंचलिक कृषि अनुसंधान केंद्र के मौसम वैज्ञानिक डॉ. हरवेंद्र सिंह के अनुसार भोपाल से मौसम विभाग ने जो बुलेटिन जारी किया है उसके अनुसार आगामी 5 दिनों तक छुटपुट व मध्यम बादल छाए रहेंगे। वहीं अधिकतम पारा 41 से 42 डिग्री के बीच रहेगा। कुल मिलाकर मई महीने में 45 डिग्री तापमान पहुंचने की संभावना खत्म हो चुकी है। लेकिन जून माह में गर्मी फिर जोर पकड़ लेगी, लेकिन पारा 47 डिग्री तक पहुंचेगा या नहीं यह कहना संभव नहीं है।

11वीं शताब्दी के जैन मंदिर में मान स्तंभ का ऊपरी हिस्सा गिरा, मुख्य गेट सहित कमल मंदिर में भी नुकसान
अंचल में शुक्रवार की शाम आई तेज आंधी से सिहोनियां में स्थित दिगंबर जैन अतिशय तीर्थ क्षेत्र मंदिर में 51 फुट ऊंचे मान स्तंभ का ऊपरी  हिस्सा भरभरा के नीचे गिर गया। मान स्तंभ के इस हिस्से में जैन समाज के तीर्थंकरों की चार प्रतिमाएं विराजमान थी जो नीचे गिरकर क्षतिग्रस्त हो गई। पोरसा कस्बे सहित अंबाह आवासीय क्षेत्र में तेज आंधी से कई पेड़ उखड़ कर जमींदोज हो गए व बिजली के खंबे टूट गए।

सबलगढ़-जौरा में बूंदाबांदी, पोरसा में तेज बारिश व ओले गिरे 
शुक्रवार को शाम 5:00 बजे से मौसम ने करवट बदली| शहर में बादल छाने के साथ ही ठंडी हवा चली। वहीं 2 मिनट के लिए हल्की-हल्की बूंदे भी गिरी। इसी प्रकार सबलगढ़ में शाम 7:30 बजे ठंडी हवा के साथ हल्की बारिश हुई ओर कैलारस में सिर्फ बादल छाए रहे। जोरा में शाम 6:00 बजे के करीब ठंडी हवा चली और बूंदाबांदी शुरू हो गई जो तकरीबन 5 से 7 मिनट तक हुई है। पोरसा कस्बे में शाम 7:45 बजे पहले तेज हवा चली जो आंधी में तब्दील हो गई इसके साथ ही बारिश शुरू हो गई जो आधा घंटे तक जारी रही। बारिश इतनी तेज थी कस्बे में नालियों का पानी दुकानों के अंदर भर गया। बारिश के दौरान ही शहर सहित आसपास के गावों में चने की साइज के ओले गिरे। ओलावृष्टि तकरीबन 2 से 3 मिनट तक हुई।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना