• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Morena
  • During The Shutdown Strike, The Employees Of The Electricity Company Neither Deposited The Bill Nor Rectified The Fault.

बिजली कर्मचारी 13 से करेंगे बेमियादी हड़ताल:काम बंद हड़ताल के दौरान बिजली कंपनी के कर्मचारियों ने न बिल जमा किए न फाॅल्ट सुधारे

मुरैना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बिजली कंपनी के प्रवेश द्वार पर पोस्टर प्रदर्शन करते हड़ताली कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
बिजली कंपनी के प्रवेश द्वार पर पोस्टर प्रदर्शन करते हड़ताली कर्मचारी।

विद्युत एक्ट को संसद में पेश करने व बिजली कंपनी के निजीकरण रोकने के मुद्दे को लेकर बिजली कंपनी के कर्मचारियों ने शनिवार को कार्य बहिष्कार आंदोलन किया। हड़ताली कर्मचारियों ने चेतावनी दी है कि उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो 13 अगस्त से प्रदेशभर में बेमियादी हड़ताल शुरू की जाएगी। कार्य बहिष्कार हड़ताल के चलते बिजली कंपनी के कर्मचारी शनिवार को ड्यूटी पर दफ्तर में उपस्थित तो हुए लेकिन किसी ने सीट पर बैठकर या फील्ड में जाकर अपनी सेवाएं नहीं दीं। हड़ताल के कारण उपभोक्ताओं के बिजली बिल जमा नहीं हो सके।

जिन गली-मोहल्लों की बिजली सप्लाई बंद थी उनके फ़्यूज ऑफ काॅल्स लाइनमैन स्टाफ ने ठीक नहीं किए। सिर्फ इमरजेंसी सेवाओं को ही अटैंड किया गया। शनिवार के कार्य बहिष्कार आंदोलन के दौरान जिलेभर में अफरा-तफरी का माहौल रहा। मप्र विद्युत अधिकारी-कर्मचारी संघर्ष माेर्चा ने एलान किया है कि सरकार ने कर्मचारियों की मांगों को पूरा नहीं किया तो 13 अगस्त से जिलेभर में अनिश्चितकालीन आंदोलन शुरू किया जाएगा।

यह मुद्दे भी उठाए
मप्र विद्युत अधिकारी-कर्मचारी संघर्ष माेर्चा के रामनरेश सिंह तोमर ने शनिवार की प्रदेशव्यापी हड़ताल के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मांग की है कि बिजली कंपनी में सेवाएं दे रहे संविदा कर्मचारियों को सेवा में नियमित करने के आदेश जारी किए जाएं। मौजीराम राठौर ने कहा कि आउटसोर्स कर्मचारियों का बिजली कंपनी में संविलियन किया जाए। जिन कर्मचारियों की मृत्यु हुई उनको कोरोना योद्धा घोषित कर परिवार को विशेष लाभ प्रदान किया जाए।

खबरें और भी हैं...