पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हंगामा:चुनाव आयोग में शिकायत से नाराज थाना प्रभारी ने कांग्रेस प्रत्याशी के भाई को पीटा; मुरैना जिले के सिहोनियां में चैकिंग के दौरान हुआ विवाद, दो घंटे चला हंगामा

मुरैना8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिहोनियां थाने का घेराव करती भीड़ व मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारी। - Dainik Bhaskar
सिहोनियां थाने का घेराव करती भीड़ व मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारी।
  • आयोग में शिकायत से बौखलाए थाना प्रभारी ने मुझे बेरहमी से पीटा: पीड़ित
  • गाड़ी रोकी तो अभद्रता की, खुद ही सीढ़ी से गिरकर घायल हुआ: एसआई

उपचुनाव की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आती जा रही है, आरोप प्रत्यारोप का दौर भी तेज होता जा रहा है। राजनेता जहां जुबानी जंग लड़ रहे हैं, वहीं प्रत्याशी व उनके समर्थक मरने-मारने पर आमादा हैं। ताजा वाकया दिमनी विस में हुआ। यहां कांग्रेस प्रत्याशी रविंद्र सिंह तोमर उर्फ भिड़ौसा के भाई का सिहोनियां थाना प्रभारी से विवाद हो गया। नौबत हाथापाई तक पहुंच गई। पीड़ित पक्ष का आरोप है कि हमने निर्वाचन आयोग में थाना प्रभारी के खिलाफ भाजपा के पक्ष में काम करने की शिकायत की इसलिए हमें पीटा गया। वहीं थाना प्रभारी की सफाई है कि हम तो उसे जानते तक नहीं। वह खुद ही धक्कामुक्की में सीढ़ियों से गिरकर घायल हो गया।

एएसपी-डीएसपी फोर्स लेकर पहुंचे, सस्पेंशन के बाद शांत हुआ गुस्सा
सिहोनियां थाने पर हंगामे की सूचना मिलते ही एडिशनल एसपी हंसराज सिंह, डीएसपी हेडक्वार्टर मानवेंद्र सिंह पुलिस फोर्स लेकर सिहोनियां थाने। कांग्रेस प्रत्याशी रविंद्र भिड़ौसा सहित ग्रामीणों को समझा-बुझाकर शांत कराने का प्रयास किया लेकिन लोग कार्रवाई की जिद पर अड़े हुए थे। मामले को गंभीरता से लेते हुए एसपी अनुराग सुजानिया ने थाना प्रभारी जितेंद्र शर्मा को सस्पेंड कर दिया है। वहीं पीड़ित भूपेंद्र तोमर की ओर से उनके खिलाफ सिहोनियां थाने में ही धारा 323, 294, 506, 34 आईपीसी के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

थाना प्रभारी ने मुझे पीटा..गर्दन पर लात रखी, जान से मारने की कोशिश: भूपेंद्र

घायल कांग्रेस प्रत्याशी भिड़ौसा के भाई भूपेंद्र
घायल कांग्रेस प्रत्याशी भिड़ौसा के भाई भूपेंद्र

मैं बुधवार को अपनी कार से अपने गांव भिड़ौसा से बड़ा गांव की ओर जा रहा था। सिहोनियां थाने के सामने चेकिंग चल रही थी। इसी दौरान थाना प्रभारी जितेंद्र शर्मा ने मेरी गाड़ी चेकिंग के नाम पर रोकी और चेकिंग के बहाने मेरी मारपीट शुरू कर दी। मेरी कनपटी में चांटा मारा और गिरेबां पकड़कर खींचते हुए थाने के अंदर ले गए। इसके बार थाना प्रभारी व अन्य पुलिसकर्मियों ने मुझे इतना पीटा कि मेरा सिर फट गया और मेरे पेट, हाथ, पीठ व कान सहित गुप्तांगों में चोट आई है। थाना प्रभारी कह रहा था कि तूने मेरी शिकायत की है आज मैं तुझे जान से मार दूंगा।
-जैसा कि पीड़ित भूपेंद्र तोमर ने भास्कर को बताया।

एसएसटी टीम से की बदतमीजी, छूटने की फिराक में सीढ़ियों से लुढ़का: थाना प्रभारी
भूपेंद्र तोमर अपनी कार लेकर जा रहा था। थाने के बाहर एसएसटी चेकिंग प्वाइंट लगा था। जब टीम ने उसे चेकिंग के लिए रोका तो आरोपी बोला-कि मैं 10 बार निकलूंगा तो 10 बार चेकिंग नहीं कराऊंगा। इसी बात को लेकर आरोपी ने टीम से बदतमीजी कर दी। जब मैं पहुंचा तो मैने थाने के 2 सिपाहियों से कहा कि इसे थाने के अंदर ले चलो। सिपाहियों से छूटने की फिराक में आरोपी खींचतान के बीच थाने की सीढ़ियों से गिरा और उसके सिर में चोट आ गई। हमने आरोपी के साथ कोई मारपीट नहीं की। राजनीतिक साजिश के तहत हमें मोहरा बनाया जा रहा है।
-जैसा कि थाना प्रभारी जितेंद्र शर्मा ने भास्कर को बताया

भाजपा के इशारे पर काम कर रहे आला अफसर
उपचुनाव में पुलिस व प्रशासनिक अफसर भाजपा के इशारे पर काम कर रहे हैं। मैने सिहोनियां थाना प्रभारी की चुनाव आयोग में शिकायत की थी, जिससे बौखलाकर उन्होंने मेरे भाई पर जानलेवा हमला किया। लेकिन हम इस तरह के हमलों से डरने वाले नहीं हैं।
रविंद्र भिड़ौसा, कांग्रेस प्रत्याशी दिमनी

थाना प्रभारी को सस्पेंड कर दिया है
युवक की मारपीट का मामला हमारे संज्ञान में आया था। हमने मामले की गंभीरता देखते हुए थाना प्रभारी सिहोनियां को सस्पेंड कर दिया है। पीड़ित पक्ष की ओर से एफआईआर भी दर्ज की गई है।
अनुराग सुजानिया, एसपी, जिला मुरैना

खबरें और भी हैं...