शिविर:आंखें अनमोल हैं, इनकी जांच कराना चाहिए: डॉ. भसीन

मुरैना9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डॉ. राठी चेरिटेबल फाउंडेशन ने लगाया नि:शुल्क नेत्र शिवर, 200 मरीज चिह्नित

आंखे सभी के लिए अनमोल हैं। आंखें खराब होने पर मनुष्य के जीवन में अंधेरा छा सकता है। इसलिए आखों के प्रति लोग न केवल जागरूक रहें, बल्कि समय-समय पर विशेषज्ञ डॉक्टर पर परीक्षण कराएं। यह बात रविवार को डॉ. राठी चेरिटेबल फाउंडेशन द्वारा आयोजित नेत्र शिविर में रतन ज्योति चेरिटेबल ट्रस्ट ग्वालियर के संस्थापक डॉ. पुरेंद्र भसीन कह रहे थे। कार्यक्रम के प्रारंभ में डॉ. राठी चेरिटेबल फाउंडेशन का शुभारंभ किया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मुरैना जिले के पूर्व कलेक्टर प्रशांत मेहता ने जब स्वर्गीय डॉ. राठी के संस्मरण सुनाते कहा कि डॉ. राठी की सहजता व सेवा भाव से मुरैना के सभी लोग परिचित हैं। उन्होंने सबसे पहले शहर की पंचायती धर्मशाला में नेत्र शिविर लगाकर गरीब लोगों को न केवल आंखों की रोशनी दी, बल्कि उनके रहने, खाने-पानी आदि की नि:शुल्क व्यवस्थाएं की। डॉ राठी के सेवा भाव को उनका परिवार आगे बढ़ा रहा है। इस अवसर पर पूर्व विधायक रघुराज कंषाना, रमेश गर्ग, रविंद्र माहेश्वरी, डॉ अवनीश माहेश्वरी आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

200 मरीज ऑपरेशन के लिए किए गए चिह्नित
नेत्र शिविर जिले भर के लोग सुबह 7 बजे से पंजीयन कराने पहुंच गए थे। दोपहर 12 बजे तक एक मरीजों ने पंजीयन कराया। जिनमें नेत्र परीक्षण के दौरान 200 मरीज मोतियाबिंद के ऑपरेशन के चिन्हित किए गए। इन मरीजों का ऑपरेशन ग्वालियर स्थित रतन ज्योति नेत्रालय में किया जाएगा। मरीजों के आने-जाने से लेकर खाने-पीने व रहने का प्रबंध डॉ. राठी चेरिटेबल फाउंडेशन किया जाएगा। शिविर के दौरान जरूरतमंद मरीजों को नि:शुल्क चश्में व दवाएं भी उपलब्ध कराई गई।

खबरें और भी हैं...