पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सहमें किसान, ओलों ने सारी मेहनत पर फेर दिया पानी:पहाड़गढ़ व चूरकूडूा में आधे घंटे तक गिरे ओले,आंधी-तूफान और ओलों ने सब्जियों की फसल कर दी बर्बाद

मुरैना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अधिकारियों को दिखाने एकत्रित ओले - Dainik Bhaskar
अधिकारियों को दिखाने एकत्रित ओले
  • प्रशासनिक अधिकारयों के पास किसान ओले लेकर पहुंचे

जिले के अंचल में आज ओले पड़े तथा जमकर बारिश हुई। अंचल के पहाड़गढ़, धूरकूडा, रानीपुरा, टेलरी, पंचमपुरा, कुम्हारपुरा, जनुआपुरा तथा मनोहरपुरा सहित अन्य गांवों में जमकर ओले पड़े। ओले 25 मिनट तक पड़े।

इस दिन शाम को चार बजे के लगभग जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में ओले पड़े। सबसे पहले तेज आंधी आई। आंधी लगभग एक घण्टे तक चली, उसके बाद तुरंत बारिश शुरु हो गई और फिर देखते ही देखते ओले पड़ने शुरु हो गए। जैसे ही ओले पड़े लोग अपने घरों में घुस गए।

सब्जियों की फसल बर्बाद
पहले बारिश और उसके बाद ओले पड़ने से अंचल में सब्जियों की फसल को बहुत नुकसान हुआ है। इसमें प्याज, लहसुन, तोरई, लौकी के साथ बेल पौधों को सबसे अधिक नुकसान हुआ है। ओलों के बाद अंचल के किसान बहुत चिंतित हैं। उनकी सब्जी की काफी फसल बर्बाद हो गई है।

एक घर के कोने में पड़े ओले
एक घर के कोने में पड़े ओले

इन क्षेत्रों में अधिक पड़े ओले
अंचल के पहाड़गढ़, धूरकूडा, रानीपुरा, टेलरी, पंचमपुरा, कुम्हारपुरा, जनुआपुरा तथा मनोहरपुरा में ओलों से सबसे अधिक नुकसान हुआ है। इन क्षेत्रों के किसान ओलों को टोकरी में भरकर ब्लॉक अधिकारियों के पास दिखाने गए थे, जिससे उन्हें उनकी फसल का मुआवजा मिल सके।