मुरैना में पैर पसार रहा डेंगू:स्वास्थ्य विभाग के दावे- नियंत्रण में है, हकीकत- अस्पताल में तीन कमरे फुल

मुरैनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला अस्पताल के डेंगू वार्ड का हाल। - Dainik Bhaskar
जिला अस्पताल के डेंगू वार्ड का हाल।

जिले में डेंगू पैर पसार रहा है। जिला अस्पताल में तीन हाल डेंगू के मरीजों से भरे हुए हैं। यह स्थित अकेले जिला अस्पताल की है, जबकि कस्बों के सरकारी और निजी अस्पतालों में लोग पृथक से इलाज करवा रहे हैं। दूसरी तरफ जिले का स्वास्थ्य विभाग बराबर इस बात का दावा कर रहा है कि जिले में डेंगू नियंत्रण में है। आपको बता दें, कि उपरोक्त स्थिति केवल अस्पतालों की है। कई लोग तो अपने घरों में ही घरेलू इलाज कर रहे हैं। इन घरेलू इलाज से वह प्लेटलेट्स बढ़ाने की कोशिश में लगे हैं।

जिला अस्पताल में कराएं एलाइजा टेस्ट
डेंगू की पुष्टि के लिए मरीज का ब्लेड टेस्ट होता है जिसे एलाइजा टेस्ट बोलते हैं। यह टेस्ट अब जिला अस्पताल में नि:शुल्क होने लगा है। आमतौर पर लोग निजी लैब पर जाकर टेस्ट कराते हैं जिससे उन्हें 800 रुपए देना पड़ते हैं लेकिन अब यह सुविधा जिला अस्पताल मुरैना में ही दी जा रही है।

कई कारणों से गिरते प्लेटलेट्स
चिकित्सकों की माने तो प्लेटलेट्स गिरने के कई कारण होते हैं। अकेले डेंगू होने की वजह से ही प्लेटलेट्स नहीं गिरते हैं। लेकिन निजी चिकित्सक प्लेटलेट्स कम होने पर डेंगू की पुष्टि कर देते हैं, जिससे लोग डेंगू होना मान लेते हैं, जबकि उनको डेंगू होता नहीं है।

जिला अस्पताल के डेगू वार्ड में भर्ती मरीज
जिला अस्पताल के डेगू वार्ड में भर्ती मरीज

नहीं हो रही लार्वा की जांच
जिले में डेंगू के लार्वा की जांच नहीं की जा रही है। गांव तो अलग,शहर में ही डेंगू के लार्वा की जांच नहीं की जा रही है। मौसम बदल चुका है, बावजूद घरों के कूलरों में अभी भी पानी भरा रखते हैं जिससे डेंगू पनपने की संभावना प्रबल हो गई है।

गांवों के लोग नहीं आ रहे शहर में
दीपावली का त्योहार नजदीक है। ऐसे में घरों में साफ-सफाई के कारण काम-काज बढ़ गया है। वायरल बुखार भी फैला हुआ है। ऐसे में जिन लोगों को डेंगू है तो वह उसे वायरल बुखार मानते हुए, जिला अस्पताल तक नहीं पहुंच रहे हैं। वह घर पर ही इलाज कर रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग का दावा केवल 9 मरीज जिले में
डेंगू के मरीज पूरे जिले में मौजूद हैं। स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि जिले में डेंगू के कुल एक्टिव मरीज 9 हैं जिनमें 3 मरीज जिला अस्पताल में भर्ती है तथा 6 मरीजों को ग्वालियर रैफर किया जा चुका है। इसके अलावा जिले में लगभग 120 मरीज आ चुके हैं।

वायरल के मरीजों को भी भर्ती किया है
जिला अस्पताल में कमरों की कमी है जिसके कारण डेगूं वार्ड में वायरल बुखार के मरीजों को भी भर्ती किया हुआ है। जिले में केवल 9 एक्टिव केस हैं जिनमें तीन जिला अस्पताल में है, तथा बाकी ग्वालियर रैफर किया जा चुका है।
डॉ. एडी शर्मा, सीएमएचओ, मुरैना