पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Morena
  • If The Forest Staff Went And Called, They Did Not Come In Front, The Staff Filled All The Sand From The Spot, A Tractor Trolley Filled With Sand Was Also Seized.

सचिव, सरपंच अवैध रेत से बना रहे गौशाला:वन अमले ने जाकर बुलाया तो नहीं आए सामने, अमले ने मौके से पूरा रेत भरवा लिया, एक रेत से भरी ट्रेक्टर ट्राली भी की जब्त

मुरैनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अवैध रेत को भरता वन विभाग का अम� - Dainik Bhaskar
अवैध रेत को भरता वन विभाग का अम�
  • रेत माफियाओं के बाद, अब शासकीय कार्यों में अवैध रेत के उपयोग का मामला आया सामने

मुरैना। चंबल की रेत का अवैध परिवहन नहीं रुक रहा है। अब इस अवैध रेत का उपयोग निजी व शासकीय कार्यों में किए जाने का मामला भी सामने आया है। शुक्रवार को देवरी चंबल अभ्यारण की एसडीओ श्रद्धा पांढरे ने वन अमले के साथ ग्राम गेपुरा एमएस रोड पर जाकर देखा, तो गौशाला में अवैध चम्बल रेत से निर्माण कार्य कराया जा रहा था।
जिले में चंबल रेत के अवैध उत्खनन को रोकने के लिए वन अमले द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं, उसके बावजूद रेत माफिया अमले को चकमा देकर अवैध रेत का लगातार परिवहन कर रहे हैं। पिछले एक माह में रेत माफियाओं ने दो बार वन अमले के ऊपर गोलीबारी की। इसके बावजूद देवरी चंबल अभ्यारण की महिला एसडीओ लगातार दबिश दे रही हैं।
चंबल नदी में घट रही जलीय जीवों की संख्या
चम्बल नदी में जलीय जीवों की संख्या निरंतर घट रही है। इसकी मुख्य वजह चंबल के रेत का अवैध खनन है। रेत कम होने से जलीय जीवों का संरक्षण नहीं हो पा रहा है जिसकी वजह से वे मर जाते हैं।
इस प्रकार की कार्यवाही
श्रध्दा पांढरे ने स्टाफ के साथ ग्राम गेपुरा एमएस रोड पर जाकर देखा तो गौशाला में अवैध चम्बल रेत से निर्माण कार्य कराया जा रहा था। जबकि चम्बल रेत का निमार्ण कार्य के लिए वन विभाग से अनुमति लेनी होती हैं लेकिन गांव के सरपंच और सेकेट्री के पास कोई भी अवैध रेत की परमिशन नही थी। मौके पर कार्य कर रहे मजदूरों से पूछा, तो उन्होंने कहा कि हमे तो सरपंच के द्वारा निर्माण कार्य करने की अनुमति दी गयी है। एसडीओ पांढरे ने सरपंच को मौके पर आने के लिए कहा तो सरपंच ने आने से मना कर दिया। जिसके बाद एसडीओ पांढरे ने अवैध रेत को जप्त कर जेसीबी मशीन द्वारा ट्रैक्टर ट्रॉलियों में भरवाकर वन परिक्षेत्र जौरा केम्पस में रखवा दिया। इसके साथ ही रास्ते मे जा रही अवैध रेत से भरी एक ट्रैक्टर ट्रॉली को जप्त कर जौरा थाने में राजसात की कार्यवाही के लिए विभाग को सुपुर्द कर दिया।
यह बताया एसडीओ ने
एसडीओ श्रध्दा पांढरे का कहना है, कि जौरा रोड के पास गेपुरा गांव में अवैध चम्बल के रेत से सरपंच और सेकेट्री के द्वारा गौशाला का निर्माण कार्य कराया जा रहा था। इसकी काफी दिनों से शिकायत मिल रही थी। जब मौके पर जाकर देखा तो कुछ कारीगरों द्वारा अवैध चम्बल के रेत से गौशाला का निर्माणाधीन कार्य किया जा रहा था। अवैध डंप रेत को जप्त कर सरपंच और सेकेट्री के खिलाफ वन अधिनियम के तहत कार्यवाही की गई हैं।