पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Morena
  • If The Wish Of Becoming A Soldier Was Not Fulfilled, Then Two Shopkeepers Were Cheated By Wearing Fake Uniforms, The Police Sent Them To Jail

फर्जी पुलिसकर्मी गिरफ्तार:सिपाही बनने की तमन्ना पूरी नहीं हुई तो नकली वर्दी पहनकर 2 दुकानदारों को ठगा, पुलिस ने भेजा जेल

मुरैना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नकली सिपाही रिंकू ठाकुर उर्फ विनय उइके निवासी छिंदवाड़ा को कैलारस पुलिस ने गिरफ्तार कर शुक्रवार को जेल भेजा है। - Dainik Bhaskar
नकली सिपाही रिंकू ठाकुर उर्फ विनय उइके निवासी छिंदवाड़ा को कैलारस पुलिस ने गिरफ्तार कर शुक्रवार को जेल भेजा है।
  • आरोपी रिंकू ठाकुर उर्फ विनय उइके निवासी छिंदवाड़ा ने सबलगढ़ से 10 हजार व पहाड़गढ़ से 3 हजार का सामान ठगा

सिपाही बनकर सबलगढ़ व पहाड़गढ़ के दुकानदारों से ठगी कर रहे नकली सिपाही रिंकू ठाकुर उर्फ विनय उइके निवासी छिंदवाड़ा को कैलारस पुलिस ने गिरफ्तार कर शुक्रवार को जेल भेजा है। पकड़े गए आरोपी के खिलाफ दाे दुकानदारों ने 13 हजार रुपए का सामान बिना भुगतान ले जाने की शिकायत की।

आरोपी रिंकू ठाकुर उर्फ विनय पुत्र देवेन्द्र उइके 34 साल निवासी छिंदवाड़ा को कैलारस पुलिस ने जब पहाड़गढ़ रोड से गिरफ्तार किया तो वह मध्यप्रदेश पुलिस की वर्दी पहने था और उसके पास लाल कलर की बाइक की नंबर प्लेट पर भी पुलिस लिखा था। शक तब हुआ जब नकली सिपाही की वर्दी पर पुलिस का नीले रंग का कपड़े का बैज बाएं की जगह दाएं हाथ पर लगा था। नकली सिपाही बालों की कटिंग व सेविंग से भी पुलिसमैन नजर नहीं आया तो पुलिस उसे पूछताछ के लिए थाने ले आई। फर्जीवाड़ा सामने आने पर कैलारस पुलिस ने आरोपी रिंकू ठाकुर के खिलाफ धारा 420, 419, 171,177,411 ताहि. के तहत आपराधिक प्रकरण दर्ज कर दिया।

मेरी तमन्ना सिपाही बनने की थी, नहीं बना तो भी वर्दी पहन ली

ठगी के जुर्म में जेल भेजे गए आरोपी रिंकू ठाकुर ने पुलिस को बताया कि वह सिपाही बनने के लिए दो-तीन बार पुलिस की भर्ती देखने गया। सिपाही बनने की तमन्ना पूरी नहीं हुई तो उसने शौक पूरा करने के लिए खुद वर्दी बनवाकर पहन ली। लोगों को ठगने के लिए वह असली सिपाहियों से दोस्ती कर उन्हें सामान खरीदने के बहाने दुकान पर ले जाता और व्यापारी से परिचय के बाद उन्हीं दुकानदारों से वर्दी के रौब में सामान ले आता रहा।

जानिए...नकली सिपाही ने किसको ठगा

  • नकली सिपाही बनकर आरोपी रिंकू ठाकुर ने सबलगढ़ के किराना व्यवसायी ने 10 हजार रुपए कीमत का परचून का सामान लिया और अपना आरक्षक रिंकू धाकड़ थाना कैलारस लिखाकर चला आया।
  • ठगी की दूसरी वारदात को इस आरोपी ने पहाड़गढ़ में अंजाम दिया। वहां एक कपड़ा दुकानदार से यह आरोपी 3000 रुपए कीमत के पहनने के कपड़े भी आरक्षक रिंकू धाकड़ के नाम से उधार ले आया। जब दोनों सामान के भुगतान के लिए फोन कैलारस थाने के सिपाही रिंकू धाकड़ के पास आए तो ठगी का मामला उजागर हुआ।
खबरें और भी हैं...