पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

छलनी कर दी चंबल नदी:रोज 100 डंपर से पांच हजार ट्रॉली रेत का अवैध उत्खनन, राजघाट पर 5 किलोमीटर के दायरे में हैं 5000 गड्‌ढे

मुरैना9 दिन पहलेलेखक: सुमित दुबे
  • कॉपी लिंक
मुरैना के राजघाट पर 5 किमी के दायरे में बने गड्‌ढे और रेत भरते ट्रेक्टर-ट्रॉली। - Dainik Bhaskar
मुरैना के राजघाट पर 5 किमी के दायरे में बने गड्‌ढे और रेत भरते ट्रेक्टर-ट्रॉली।

चंबल नदी के 435 किमी लंबे अभयारण्य क्षेत्र से रेत माफिया बेखौफ होकर रेत उत्खनन कर रहा है। हालत यह है कि सबलगढ़ से भिंड जिले की सीमा तक रोज 100 डंपर और 5 हजार ट्रैक्टर-ट्रॉली से रेत खोदकर निकाली जा रही है।

5 थाने, वन चेकपोस्ट, चौकी के सामने से गुजर रहे वाहन

मुरैना-धौलपुर के बीच स्थित राजघाट से ग्वालियर तक एक चौकी, पांच थाने व वन चेक पोस्ट के सामने से रेत की ट्रैक्टर-ट्रॉलियों कतार लगाकर फर्राटे भरते हुए निकल जाती हैं लेकिन उन्हें पकड़ने की हिम्मत न वन विभाग में है न पुलिस में।

सबको पता है, क्यों हो रहा उत्खनन

  • सबको सब-कुछ पता है कि रेत का अवैध उत्खनन क्यों नहीं रुक पा रहा। हम इतने बहादुर नहीं कि पिटते रहें। वन विभाग के अलावा पुलिस-प्रशासन (टास्क फोर्स) की भी तो कुछ जिम्मेदारी है। - शशि मलिक, सीसीएफ, वन विभाग

माफिया को नहीं रोक पा रही पुलिस

  • रेत का अवैध उत्खनन मप्र की तरफ हो रहा है। हमने चंबल आईजी को चिट्‌ठी भी लिखी। 2 बार एसपी से चर्चा की। उनकी क्या मजबूरियां हैं, यह मैं नहीं कह सकता। - केशर सिंह शेखावत, एसपी धौलपुर

एसपी बोले- हम बेहतर काम कर रहे हैं

  • मैं किसी से तुलना नहीं करता। हमने अपने अधीनस्थों को सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। एसडीओ फोरेस्ट को बल भी उपलब्ध कराया है। रेत उतखनन बंद करने के लिए हम हरसंभव कोशिश कर रहे हैं। -ललित शाक्यवार, एसपी मुरैना