पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Morena
  • In 6 Villages, Including Putha, Fire Was Burnt In The Fields And Barns And Houses, Including Wheat And Mustard Crops, And Burnt Goods.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एक युवक झुलसा:पूठा सहित 6 गांवों में खेत-खलिहान और घरों में भीषण आग गेहूं-सरसों की फसल सहित सामान जला

मुरैनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

होली के साथ ही मौसम अचानक गर्म हो गया। मंगलवार को अधिकतम पारा 3 डिग्री चढ़कर 39 डिग्री पर पहुंच गया। गर्मी तेज होते ही पोरसा क्षेत्र में तेज हवा के साथ आई आग की चिंगारी से सींगपुरा, मटियापुरा, श्यसामपुरकलां, बुधारा व वार्ड 15 के पूठा गांव में खेत-खलिहान, भूस के कूप, कंडे रखने के बिटौरा सहित छह घरों में रखा लाखों रुपए का गृहस्थी का सामान, सरसों-गेहूं की फसल जलकर नष्ट हो गई। 5 से अधिक मवेशी जलकर मर गए वहीं आग बुझाने के प्रयास में एक युवक भी बुरी तरह से झुलस गया। पूठा गांव में तो आग ने इतना भयंकर रूप धारण कर लिया कि घरों की आग खेत-खलिहान तक पहुंचने से रोकने के लिए ग्रामीणों को अपने हाथ से फसल उजाड़नी पड़ी। दमकल के 3 घंटे लेट होने से ग्रामीणों ने खूब हंगामा भी किया। आग लगने की इस घटना में 15 से 20 लाख के नुकसान की आशंका है।

कैलारस के गुर्जा सहित इन गांवों में भी लगी आग
पोरसा तहसील के सींग पुरा गांव में सुबह 11.30 बजे अज्ञात कारणों से 10 बिस्वा में खड़ी गेहूं की फसल जलकर नष्ट हो गई। इसी प्रकार मटियापुरा में भी दोपहर 12 बजे एक भूस से भरे कूपे में, श्यामपुरकलां में आग लगने से एक घर के पास बंधी 4 भैंस झुलस गईं। बुधारा गांव में आग लगने से सरनाम सिंह की एक भैंस जल गई और गृहस्थी का सामान जलकर राख के ढेर में बदल गया। वहीं चिन्नोनी थाना क्षेत्र के ग्राम गुर्जा में हुकुमी रजक व प्रयाग सिकरवार के 5 बीघा में खड़ी गेहूं की पकी हुई फसल में शाम 3 बजे के करीब आग फैल गई। आग लगने से पूरे गांव में हड़कंप मच गया। ग्राम पंचायत बर्रेड के साथ पड़ोसी पंचायत सिंगरौली से भी टैंकर मंगवाए गए। झुंडपुरा से आई दमकलों ने बड़ी मुश्किल से 2 घंटे बाद आग पर काबू पाया। तब तक पूरी फसल जलकर तबाह हो चुकी थी।

2 घंटे देरी से आई दमकल, ग्रामीणों ने किया हंगामा
पूठा गांव में दोपहर 1 बजे के करीब आग लगी। इसकी सूचना ग्रामीणों ने समय पर दी लेकिन पोरसा से दमकल 2 घंटे देरी से पहुंची। इतनी देर में आग ने छह घरों को अपनी चपेट में ले लिया। इससे गुस्साए ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया। अग्निपीड़ित परिवारों का आरोप था कि अगर समय पर दमकल आ जाती तो शायद आग को फैलने से रोका जा सकता था। हालांकि आगजनी की सूचना पर मौके पर तहसीलदार, पटवारी भी पहुंच गए थे।

पूठा: 6 घरों अचानक सुलगने लगी आग, 4 भैंस जलकर मरीं, 15 लाख की गेहूं-सरसों, गृहस्थी का सामान जला
पूठा गांव में दोपहर एक बजे के करीब आशाराम पुत्र मोतीराम बरेठा के घर में आग लग गई। उस वक्त घर के लोग आंधी से बचने के लिए सामान आदि एकत्रित कर सुरक्षित जगह पर रख रहे थे। आग ने चंद मिनट में इतना भीषण रूप धारण कर लिया कि किसी को मौका नहीं मिला। आशाराम के घर में 2 भैंस, 3 बकरियां कीमत 2 लाख बंधी थी, उन्हें खोलने का मौका तक नहीं मिला और मवेशी जिंदा आग में जल गए।

आग से घर के अंदर रखी 1.50 लाख रुपए की तीन क्विंटल सरसों, 2 लाख रुपए का गृहस्थी का सामान भी जल गया। इसके बाद आग ने तेजी से आशाराम के बेटे अशोक के मकान तक पहुंच गईं। यहां एक भैंस व 4 बकरी जलकर मर गईं। गृहस्थी का पूरा सामान व 10 क्विंटल सरसों भी जलकर स्वाहा हो गई। इसके बाद उनके दूसरे बेटे विनोद बरेठा का घर भी आग की चपेट में आकर जल गया। आग तेजी से फैलते हुए अमरसिंह व रामकिशोर बरेठा, गौरीशंकर बघेल के मकान तक भी पहुंच गई। इनके यहां भी लाखों का नुकसान हुआ है।

आग खेत-खलिहान तक न पहुंचे, इसलिए बीच की फसल उजाड़नी पड़ी
पूठ गांव में छह मकान जब आग की लपटों से घिरे हुए थे, तब उनके आसपास खेतों में गेहूं की पकी हुई फसल खड़ी थी और कुछ सरसों खलिहान में भी रखी थी। चूंकि आग तेजी से फैल रही थी, इसलिए ग्रामीणों काे डर था कि अगर आग की लपेटें खेतों की ओर बढ़ गई तो हालात बेकाबू हो जाएंगे। ग्रामीणों ने खेतों में खड़ी फसल को उजाड़ा ताकि बीच की समतल मिट्‌टी से आग आगे की तरफ न बढ़े।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

    और पढ़ें