मुरैना में धंसकी खरंजे की जमीन:प्राचीन काल में ऐसे कुओं में अनाज भंडारण होता था, जमीन पोली होने से धंसक गई जमीन

मुरैना23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जमीन धंसके पर निकला गड्‌ढा। - Dainik Bhaskar
जमीन धंसके पर निकला गड्‌ढा।

जींगनी गांव में सीसी रोड के बगल से खरंजे की जमीन धंसक गई। इससे वहां मौजूद लोग घबरा गए। सूचना पर पुरातत्व अधिकारी मौके पर पहुंचे। उनका कहना है कि प्राचीन काल में अनाज भंडारण के लिए कुआं बना दिए जाते थे, यह वही कुआं है, जो पोला होने के कारण धंसक गया।

गांव के ब्राह्मण का पुरा मोहल्ले में सीसी रोड के बगल से खरंजे की जमीन करीब 8 से 10 फीट नीचे धंसक गई। इससे वहां मौजूद लोगों में हंगामा मंच गया। सूचना पर पटवारी, तहसीलदार व एसडीएम पहुंचे। उन्होंने देखा तो एक जगह गड्‌ढा दिखा, जो 8 से 10 फीट गहरा था। कोई कहने लगा कि खजाने तक जाने का रास्ता है, तो कोई पड़ोसी शहरों में जाने के लिए सुरंग की बात कहने लगा।

पुरातत्व अधिकारी पहुंचे मौके पर
सूचना पर जिला पुरातत्व अधिकारी मौके पर पहुंचे। उन्होंने बारीकी से देखा तो पता लगा कि यह प्राचीन काल में अनाज भंडारण का कुआं था। जिसे बाद में भर दिया गया था। कुआं कहीं पोला रह गया, जिससे उसकी मिट्‌टी धंसक गई थी।

कहते हैं पुरातत्व अधिकारी
प्राचीन काल में अनाज भंडारण के लिए कुएं खोद दिए जाते थे। यह वही कुआं है। इसकी मिट्‌टी धंसक गई थी। इसके अलावा कुछ नहीं है।
अशोक शर्मा, जिला पुरातत्व अधिकारी, मुरैना

नहीं फटी जमीन
न जमीन फटी है और न ही खजाना निकला है। लोगों ने बताया कि पहले भी जमीन धंसक चुकी है। पहले वहां अनाज भंडारण का कुआं था, जिसकी मिट्‌टी धंसकी है। इसके अलावा कुछ नहीं है।
अजय शर्मा, तहसीलदार

खबरें और भी हैं...