पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Morena
  • Kamal Nath Lashed Out At The State Government, Said When We Told The Truth, Got The FIR Done, The Government Should Give Five Lakh Rupees To The Family Of Every Person Who Died Of Corona And A Job To The Family Of A Government Employee

शिवराज सरकार पर कमलनाथ का हमला:कहा- कोरोना से मरने वाले हर व्यक्ति के परिवार को 5 लाख रुपए सहायता व सरकारी नौकरी दे सरकार

मुरैना24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
करहधाम में पत्रकार वार्ता करते कमलनाथ। - Dainik Bhaskar
करहधाम में पत्रकार वार्ता करते कमलनाथ।

प्रदेश सरकार ने कोरोना से मरने वालों की असली संख्या छिपाई है। जब हमने सच्चाई कही, तो एफआईआर दर्ज करवा दी। सरकार कोरोना से मरने वाले प्रत्येक व्यक्ति के परिवार को पांच लाख रुपए सहायता दे। सरकारी कर्मचारी की मौत पर उसके परिजनों द्वारा शपथ पत्र प्रस्तुत करने पर अनुकंपा नियुक्ति दे। शिवराज सिंह लाशों पर राजनीति कर रहे हैं। यह बात रविवार सुबह सुबह करहधाम मंदिर पर पत्रकारों से रूबरू होते हुए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कही।

हनी ट्रैप की पेनड्राइव मामले में कमलनाथ ने कहा कि मेरे पास पेन ड्राइव कहां है। हनी ट्रैप की पेन ड्राइव तो पूरे देश में घूम रही है। वह तो आप लोगों के पास है। मीडिया के पास है और राजनेताओं के पास भी है। मैं पेन ड्राइव की राजनीति नहीं करता।

शिवराज बताएं, कितनी लाशें गईं शमशान व कब्रिस्तान में
कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि मैं शिवराज जी से पूछना चाहता हूं कि कब्रिस्तान व शमशान में लाशें कितनी हैं। लाशों पर राजनीति कर रहे हैं शिवराज सिंह। गांवों में लोग कोरोना से मर रहे हैं। वह कह रहे हैं कि हमने साढ़े चार लाख वैक्सीन मंगवाई है। जब तक टेस्टिंग नहीं होगी, तब तक कैसे पता लगेगा कि कितने लोग कोरोना पीड़ित हैं। लाखों लोग कोरोना से मर गए, उनकी गिनती ही नहीं है।

सच्चाई का साथ दें
कमलनाथ से मीडिया से कहा कि आप न तो कमलनाथ का साथ दें और न कांग्रेस का साथ दें। आप केवल सच्चाई का साथ दें। केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को आज सत्ता संभाले सात साल बीत गए। इन सालों में देश में गरीबी और भुखमरी बढ़ी है। केन्द्र सरकार ने किसानों को कुछ नहीं दिया। जब मोदी जी आए थे, तब भारत को डिजिटल इंडिया, स्टार्टअप इंडिया और न जाने कितने सब्जबाग दिखाए थे, लेकिन उनका क्या हुआ। आज देश की जीडीपी लगातार गिर रही है। बेरोजगारी व भुखमरी फैली है।

जब किसान की जेब भरी होगी, तभी होगा व्यापार
कमलनाथ ने कहा कि देश की 70 प्रतिशत जनता गांवों में निवास करती है। जब किसान की जेब भरी होगी, तभी गांव की किराने की दुकान चलेगी। चाय की दुकान से भी व्यापार होता है, लेकिन वह भी नहीं चलेगी।