पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अस्पताल प्रशासन की अनदेखी:अस्पताल के नवीन भवन में मेडिकल कचरा से संक्रमण का खतरा बढ़ा, नहीं हो रही सफाई

मुरैना10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिला अस्पताल के निर्माणाधीन भवन में मेडिकल कचरा से संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। निर्माण एजेंसी ने हाउसिंग बोर्ड के कार्यपालन यंत्री को भेजे पत्र में कहा है कि पॉजिटिव होने के खतरे को भांपकर लेबर साइट से भागने को विवश है इस हाल में बिल्डिंग का निर्माण कार्य जुलाई अंत तक कैसे पूरा हो पाएगा। प्रैगमैटिक इंफ्रास्ट्रक्चर के डायरेक्टर इंजी. प्रनवीर कुशवाह ने ईई हाउसिंग बोर्ड से लेकर सिविल सर्जन को भेजे पत्र में कहा है कि 300 बैड की निर्माणाधीन बिल्डिंग में मेडिकल कचरा को साफ कराने की फुर्सत किसी काे नहीं है।

मेडिकल कचरा के कारण साइट इंजीनियर बबलू तोमर संक्रमित हो चुके हैं। और भी कई लोग बीमार हैं। कारण है कि कोरोना वार्ड से निकल रहे कचरा को लोग नई बिल्डिंग चाहे जहां डाल देते हैं। मेडिकल कचरा के कारण श्रमिक साइट पर काम करने को राजी नहीं हो रहे हैं। आज भी बिल्डिंग में चार से छह स्थानों पर मेडिकल कचरा पड़ा है।

इसके अलावा निर्माणाधीन बिल्डिंग का उपयोग मरीजाें के परिजन से लेकर एंबुलेंस ड्राइवर टॉयलेट के रूप में कर रहे हैं इससे जगह-जगह गंदगी हो रही है। जरूरत इस बात की है कि अस्पताल प्रशासन यदि बैक डाेर के गेट ओपन रखना चाहता है तो अटैंडरों के प्रसाधन के लिए चार टॉयलेट का निर्माण भी जिला अस्पताल के पीछे कराए ताकि गंदगी से निजात मिल सके।

खबरें और भी हैं...