पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बजट पर ब्रेक:चंंबल वाटर प्रोजेक्ट, उसैद घाट पुल व आसन बैराज के लिए बजट नहीं, अप्रैल में मिला तो सितंबर में काम शुरू होगा

मुरैना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चंबल नदी, जहां मुरैना तक पानी पहुंचाने बनाया जाएगा इंटेकवेल। - Dainik Bhaskar
चंबल नदी, जहां मुरैना तक पानी पहुंचाने बनाया जाएगा इंटेकवेल।
  • वर्ष 2021 के शुरू में ही बड़े प्रोजेक्ट शुरू होने की थी उम्मीद, लेकिन सितंबर तक करना होगा इंतजार
  • तीनों बड़े प्रोजेक्ट सीएम की प्राथमिकता में शामिल, फिर भी करना होगा इंतजार

वर्ष 2021 में जनता से जुड़े 513 करोड़ के तीन बड़े प्रोजेक्ट चंबल वाटर प्रोजेक्ट, उसैद घाट पुल व आसन बैराज का निर्माण शुरू होने की उम्मीद जनता को थी। लेकिन सरकार के पास बजट न होने की वजह से मार्च तक इंतजार करना पड़ेगा।

मार्च में अगर बजट स्वीकृत हो भी गया तो अप्रैल तक आवंटन होगा और मई-जून से बारिश शुरू होने की वजह से यह तीनों काम सितंबर में ही शुरू हो सकेंगे। ऐसे में इन तीनों प्रोजेक्ट की सौगात के लिए जनता को 2022 तक इंतजार करना ही पड़ेगा। इधर शहर में भी 2 बड़े प्रोजेक्ट वीआईपी रोड व ट्रांसपोर्ट नगर का काम निगम का खजाना खाली होने की वजह से अधूरा पड़ा है।

इन दोनों कामों के लिए निगम को 52 करोड़ की जरूरत है लेकिन यह राशि निगम को खुद जुटानी, सरकार इसमें कोई मदद नहीं करेगी। ऐसे में सरकार से विशेष पैकेज पर ही यह दोनों प्रोजेक्ट पूरे हो सकेंगे। यह हालत तब है जब उपचुनाव में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खुद चुनावी मंच से चंबल वाटर प्रोजेक्ट, उसैद घाट व आसन बैराज का काम पूरा कराने की घोषणा की थी।

शहर के 2 बड़े प्रोजेक्ट पूरे हों तो ट्रैफिक जाम से मिलेगी निजात

1. वीआईपी रोड: एमएस रोड का ट्रैफिक सीधे ग्वालियर हाईवे पर निकालने के लिए निगम ने 3 साल पहले वीआईपी रोड बनाई थी। सड़क का 70 प्रतिशत का पूरा हो गया है। लेकिन बीच में पड़ रहे एसएएफ के आवास तोड़कर सीधी सड़क बनाने के लिए निगम को 2.5 करोड़ रुपए तथा ठेकेदार की बची हुई 4 करोड़ की राशि आवंटित करनी है। यह राशि निगम के पास है नहीं, इसकी वजह से सड़क अधूरी है। इसकी वजह से एमएस रोड पर ही पूरे शहरके ट्रैफिक का दबाव है।

2. ट्रांसपोर्ट नगर: छौंदा गांव के स्थित ट्रांसपोर्ट नगर का निर्माण भी सालों से अधूरा है। 45 करोड़ के इस प्रोजेक्ट में से 8 करोड़ का काम ठेकेदार कर चुका है। लेकिन अभी तक उसका लगभग 4 करोड़ का भुगतान हो चुका है। शेष राशि देने के लिए निगम के पास पैसा नहीं है। वहीं ट्रांसपोर्ट नगर के प्लॉट महंगे होने की वजह से कोई ट्रांसपोर्ट इन्हें खरीदने नहीं आ रहा। ऐसे में जब तक सरकार विशेष पैकेज जारी नहीं करेगी, तब तक यह काम पूरा होता नहीं दिख रहा। ट्रांसपोर्ट नगर न बनने की वजह से हाइवे पर ट्रैफिक जाम की समस्या बनी हुई है।

सरकार का खजाना खाली, वित्त मंत्रालय नहीं खोल रहा 513 करोड़ के टेंडर

1. चंबल वाटर प्रोजेक्ट: 287 करोड़ का यह प्रोजेक्ट वर्ष 2017 से ही स्वीकृत है लेकिन कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया था। उपचुनाव में सीएम की घोषणा के बाद इस प्रोजेक्ट के लिए तीन कंपनियों ने टेंडर डाले लेकिन 2 महीने से अधिक समय होने के बाद भी यह टेंडर नहीं खोले गए हैं। क्योंकि सरकार का खजाना खाली है इसलिए वित्त मंत्रालय टेंडर खोलने की अनुमति नहीं दे रहा।

2. उसैद घाट पुल: अंबाह में स्थित चंबल नदी पर 100 करोड़ की लागत से पुल निर्माण कार्य स्वीकृत हो चुका है। सरकार ने इसके निर्माण के लिए टेंडर बुलाए हैं लेकिन अभी तक निर्माण एजेंसी फायनल नहीं की गई है। दरअसल इसके पीछे भी बजट की कमी है। सरकार की मंशा है कि मार्च में बजट सत्र में राशि स्वीकृत करने के बाद ही टेंडर खोले जाएं। इस वजह से इसके टेंडर खोलने की प्रक्रिया होल्ड पर रखी गई है।

3. आसन बैराज: सुमावली क्षेत्र में आसन नदी पर बने बैराज को भरने से पहले 26 करोड़ की लागत से एक पुल निर्माण होना है। इस पुल निर्माण के टेंडर कॉल हो चुके हैं। जो कंपनियां पुल बनाने के लिए इच्छुक हैं, उन्होंने टेंडर भरे भी हैं लेकिन सरकार के पास बजट का रोना है। वित्त विभाग ने इन टेंडर को अभी खोलने से इनकार कर दिया है। क्योंकि टेंडर खुलते ही निर्माण एजेंसी को राशि स्वीकृत करनी पड़ेगी।

मार्च में पेश होगा बजट, अप्रैल-मई तक आवंटन, तब तक शुरू हो जाएंगी बारिश

500 करोड़ से अधिक लागत के जो 3 बड़े प्रोजेक्ट मुरैना में स्वीकृत हैं उनके लिए संभवत: मार्च में बजट पेश होगा, तभी राशि मिल सकेगी। बजट आवंटन की प्रक्रिया में अप्रेल-मई का समय लगेगा। तब तक वर्षाकाल शुरू हो जाएगा। इस दौरान 4 महीने तक निर्माण कार्यों पर ब्रेक रहता है। ऐसी स्थिति में इन तीनों प्रोजेक्ट का निर्माण शुरू होने के लिए आम जनता को सितंबर तक इंतजार करना पड़ेगा।

12 को खोले जाएंगे चंबल वाटर प्रोजेक्ट के टेंडर

चंबल वाटर प्रोजेक्ट के टेंडर की तिथि बढ़ाकर शासन ने 12 जनवरी कर दी है। इससे पहले 28 दिसंबर को टेंडर बुलाए गए थे। टेंडर खोलने के बाद ही इस प्रोजेक्ट का काम शुरू हो सकेगा।

-अमरसत्य गुप्ता, आयुक्त नगर निगम

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी सकारात्मक और संतुलित सोच द्वारा कुछ समय से चल रही परेशानियों का हल निकलेगा। आप एक नई ऊर्जा के साथ अपने कार्यों के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। अगर किसी कोर्ट केस संबंधी कार्यवाही चल र...

    और पढ़ें