पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जिला अस्पताल:मेडिसिन के अब सिर्फ तीन डॉक्टर, इनमें से एक की ड्यूटी इमरजेंसी में, बाकी दो के भरोसे 1400 मरीज

मुरैना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला अस्पताल की ओपीडी में पर्चा बनवाने के लिए लगी कतार। - Dainik Bhaskar
जिला अस्पताल की ओपीडी में पर्चा बनवाने के लिए लगी कतार।
  • 6 एमडी मेडिसिन डॉक्टर की जरूरत, चार थे, इनमें भी एक का ट्रांसफर कर दिया

एमडी मेडिसिन डॉक्टर की कमी से जूझ रहे जिला अस्पताल में अब संकट और गहरा गया है। 4 में से एक डॉक्टर नागेंद्र ऋषीश्वर का ग्वालियर ट्रांसफर होने के बाद सिर्फ 3 डॉक्टर्स रह गए हैं। इन तीनों के ऊपर 1000 मरीजों की ओपीडी, 400 से अधिक मरीजों के मेडिकल वार्ड, आईसीयू व कोविड मरीजों का जिम्मा है। हालत यह है कि यह डॉक्टर छह-छह महीनों से लगातार ड्यूटी कर रहे हैं।

ऐसे में जिला अस्पताल में आ रहे मरीजों को इलाज कैसे मिल रहा होगा, इसका अंदाजा आप खुद ही लगा सकते हैं। सबसे अधिक संकट मेडिसिन वार्ड व आईसीयू में भर्ती मरीजों के लिए है, जिन्हें हार्ट अटैक व अन्य समस्या होने पर सीधे ग्वालियर रैफर किया जा रहा है।

जिला अस्पताल में 4 एमडी मेडिसिन विशेषज्ञ डाॅ. नागेंद्र ऋषिश्वर, डॉ. योगेश तिवारी, डॉ. राघवेंद्र यादव, डॉ. अंकुर गुप्ता पदस्थ थे जबकि मरीजों की संख्या के हिसाब से यहां छह की जरूरत है। अप्रैल माह से कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के बाद डॉ. योगेश तिवारी व राघवेंद्र यादव लगातार कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे थे।

डॉ. नागेन्द्र ऋषीश्वर के ऊपर मेल-फीमेल वार्ड में भर्ती 200 से 250 मरीजों के रुटीन चेकअप व इलाज का जिम्मा था। वहीं डाॅ. अंकुर गुप्ता ओपीडी में आने वाले 300 से अधिक मरीजों का इलाज कर रहे थे। 4 दिन पहले शासन ने सीनियर डॉक्टर नागेंद्र ऋषीश्वर का ट्रांसफर ग्वालियर कर दिया। ऐसे में सिर्फ तीन डॉक्टर ही अस्पताल में शेष रह गए। अब ऐसे में वार्डों में भर्ती मरीजों व आईसीयू पेशेंट के सामने इलाज का संकट खड़ा हो गया।

एमडी मेडिसिन विशेषज्ञ डॉ. नागेंद्र ऋषीश्वर, डॉ. योगेश तिवारी, डॉ. राघवेंद्र यादव तथा डॉ. अंकुर गुप्ता लगातार 6 महीने से रेगुलर ड्यूटी कर रहे थे। हालत यह थी कि खुद बीमार होने के बाद भी इन डॉक्टरों ने बिना अवकाश लिए काम किया।

मेडिकल वार्ड-आईसीयू में भर्ती मरीजों के इलाज का संकट

इन दिनों जिला अस्पताल में पदस्थ 3 एमडी मेडिसिन डॉक्टर्स में से डॉ. राघवेंद्र यादव की ड्यूटी इमरजेंसी में भी लगाई जा रही है। ऐसे में कोविड वार्ड, मेडिकल वार्ड व आईसीयू में भर्ती मरीजों के सामने इलाज का संकट खड़ा हो गया है क्योंकि डॉ. तिवारी के पास कोविड वार्ड तथा डा. अंकुर के पास ओपीडी की जवाबदेही है। ऐसे में मेडिकल व आईसीयू वार्ड में भर्ती मरीजों के सामने इलाज का संकट खड़ा हो गया है।

3 उदाहरण से जानिए अस्पताल में मरीजों की परेशानी

1. शहर की सिंधी कॉलोनी में रहने वाले राजकुमार को 3 जनवरी को अचानक अटैक आया और मुंह से झाग निकलने लगा। परिजन उन्हें लेकर अस्पताल आए, लेकिन इमरजेंसी ड्यूटी पर डॉक्टर ने चेकअप के बाद उनकी हालत गंभीर बताई। ऐसे में परिजन राजकुमार को लेकर सीधे ग्वालियर रवाना हो गए।

2. शहर के गणेशपुरा में रहने वाले रामेश्वर दयाल अपनी बेटी को दिखाने के लिए ओपीडी में पहुंचे। ओपीडी में भीड़ की लाइन में लगे रहे। ड्यूटी डॉक्टर अंकुर गुप्ता तक पहुंचते-पहुंचते लंच हो गया। उन्हें मजबूरी में अपनी बेटी को शहर के निजी नर्सिंग होम्स पर डॉक्टर को दिखाना पड़ा।

3. न्यू हाउसिंग बोर्ड निवासी धर्मवीर की पत्नी को बुखार आ रहा था। वे रात के वक्त उन्हेंं लेकर अस्पताल पहुंचे लेकिन ड्यूटी पर ऑर्थोपेडिक स्पेशलिस्ट मौजूद थे। उन्होंने जो दवाइयां लिखीं उससे कोई लाभ नहीं हुआ। ऐसे में उन्होंने निजी अस्पताल में जाना पड़ा।

3 डॉक्टर के भरोसे ओपीडी, समय पर इलाज नहीं

डॉ. नागेंद्र ऋषीश्वर के स्थानांतरण के बाद अब कोरोना वार्ड में भर्ती मरीजों, आईसीयू पेशेंट, मेल-फीमेल मेडिकल वार्ड में भर्ती मरीजों का पूरा लोड डॉ. योगेश तिवारी व डॉ. राघवेंद्र यादव पर आ गया है। ऐसे में शासनस्तर से एक डॉक्टर के एवज में दूसरा डॉक्टर न दिए जाने से अस्पताल की व्यवस्थाएं बिगड़ने लगी हैं।

परेशानी बढ़ गई है, लेकिन हम क्या करें

जिला अस्पताल में पदस्थ 4 एमडी मेडिसिन में से डॉ. नागेन्द्र ऋषीश्वर का ट्रांसफर हो गया है। ऐसे में 3 डॉक्टर्स पर ही लोड बढ़ गया है। क्या करें, शासन ने नया डॉक्टर भी नहीं दिया।

-डॉ. एके गुप्ता, सिविल सर्जन, जिला अस्पताल मुरैना

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें