जिला अस्पताल में हंगामा:65 साल के बुजुर्ग का ऑक्सीजन स्तर 55, रातभर कोविड वार्ड की गैलरी में पड़े रहे, मौत

मुरैना6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
काेविड वार्ड में भर्ती मरीज हरीशचंद्र गर्ग की हालत का जायजा लेते कांग्रेस जिला अध्यक्ष विष्णु अग्रवाल। - Dainik Bhaskar
काेविड वार्ड में भर्ती मरीज हरीशचंद्र गर्ग की हालत का जायजा लेते कांग्रेस जिला अध्यक्ष विष्णु अग्रवाल।
  • पॉजिटिव बताकर भर्ती किया, मौत के बाद बताया निगेटिव, परिजन का हंगामा

जिला अस्पताल के प्री-कोविड वार्ड में भर्ती व्यवसायी हरीशचंद्र गर्ग (65 साल) की गुरुवार की शाम 6 बजे मौत हो गई। इस घटना को लेकर जिला कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष विष्णु अग्रवाल ने डॉक्टर व नर्सों पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया है। शहर के पीपल वाली माता इलाके में रहने वाले व्यवसायी हरीशचंद्र गर्ग को बुधवार की रात 11 बजे जिला अस्पताल लाया गया।

नाइट ड्यूटी पर डॉक्टर ने उनका ऑक्सीजन लेवल 55 पाया लेकिन काेविड वार्ड में बेड व ऑक्सीजन उपलब्ध न होने की बात कहकर वृद्ध को भर्ती नहीं किया। हरिश्चंद्र रातभर कोविड वार्ड की गैलरी में पड़े रहे। गुरुवार सुबह मरीज की हालत बिगड़ी तो उन्हें ऑक्सीजन कंसंट्रेटर पर रखा गया लेकिन उसकी रफ्तार स्लो थी। सुबह 10 बजे जिला कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष विष्णु अग्रवाल अस्पताल पहुंचे तो हरीशचंद्र गर्ग को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर पर देखकर उन्होंने ऑन ड्यूटी डॉक्टर से चर्चा कर उन्हें बेड उपलब्ध कराया और 20 हजार रुपए खर्च कर बाजार से ऑक्सीजन का इंतजाम कराया।

इलाज के दौरान गुरुवार की शाम 6 बजे व्यवसायी हरीशचंद्र गर्ग ने दम तोड़ दिया। हरीशचंद्र गर्ग की कोविड वार्ड में इलाज के दौरान मौत हुई लेकिन गुरुवार रात 9 बजे परिजन को यह कहते हुए शव सौंप दिया गया कि वे कोरोना संक्रमित नहीं थे। इस पर परिजन ने हंगामा कर दिया। कार्यकारी अध्यक्ष अग्रवाल ने कलेक्टर को इस लापरवाही से अवगत कराया। तहसीलदार ने मौके पर पहुंचकर स्थिति संभाली। इसके बाद कोविड प्रोटोकॉल के तहत शव को मुक्तिधाम भेजकर अंतिम संस्कार कराया गया।

खबरें और भी हैं...