दो कलोमीटर दूर से भरकर लाते पानी:लौहपीटा समाज के लोगों ने जनसुनवाई में लगाई फरियाद

मुरैना5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जनसुनवाई में आवेदन के साथ धारा - Dainik Bhaskar
जनसुनवाई में आवेदन के साथ धारा
  • बोले PHE विभाग के अधिकारियों से कह चुके नहीं हो रहा पानी की व्यव्सथा का इंतजाम

मुरैना के जौरा क्षेत्र के गेपुरा गांव में पानी की बहुत समस्या है। गेपुरा गांव में रहने वाले लौहपीटा समाज के कुछ लोग मंगलवार को जनसुनवाई में पहुंचे। वहां जाकर उन्होंने पानी की समस्या बताते हुए कहा कि वह दो किलोमीटर दूर से पानी लाने को मजबूर हैं। उनके साथ लगभग 400 लोगों के परिवार हैं। PHE अधिकारियों से गुहार लगा चुके लेकिन उन्होंने कोई सुनवाई नहीं की है। जिससे आज भी वे दो किलोमीटर दूर से पानी लाने के लिए मजबूर हैं। आपको बता दें, कि मुरैना जिले के गेपुरा गांव में पानी की समस्या बहुत पहले से बताई जा रही है। सबसे अधिक परेशान इस गांव की मुख्य सड़क पर रहने वाले यह लौहपीटा समाज के लोग हैं, जो इस समस्या से जूझ रहे हैं। यह लोग लंबे समय से यहीं रह रहे हैं।

अपनी पीड़ा बताती सरोज
अपनी पीड़ा बताती सरोज

लौहपीटा समाज के होने के कारण भगा देते अधिकारी
समाज की एक वृद्ध महिला सरोज ने बताया कि उसने व उसके पति धारा सिंह ने अपने समाज के अन्य लोगों के साथ मिलकर PHE व अन्य विभागों के अधिकारियों से कई बार जाकर गुहार लगाई लेकिन उनको लौहपीटा समाज का होने के कारण भगा दिया गया। अब उनके सामने समस्या यह है कि किससे गुहार लगाएं। अन्त में थक हारकर वे मंगलवार को जनसुनवाई में पहुंचे तथा वहां अपनी मांग रखी।
पांच माह से लगा रहे चक्कर
सरोज व उसके पति ने बताया कि वे लोग पिछले पांच माह से लगातार अधिकारियों के दफ्तरों के चक्कर लगा रहे हैं लेकिन उसके बावजूद उन्हें हर तरफ से निराशा ही मिली है।
पशुओं को मरता नहीं देख सकते
उन्होंने बताया कि उनके पास पालतू पशु भी हैं जिनके लिए भी दो किलोमीटर दूर से ही पानी लाकर इंतजाम किया जाता है। उन्होंने बताया कि उनके पूरे के पूरे परिवार हैं। उनमें बच्चे व मवेशी भी है। उनको बहुत पानी लगता है जिससे उनका आधा दिन तो पानी लाने में ही लग जाता है।