पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना से जंग में मददगार ‘दीदी’:‘दीदी’ पुलिस के लिए बना रहीं पीपीई किट, इनका बनाया मास्क कोरोना से 5 महीने तक करता है रक्षा

मुरैना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो।
  • 332 ग्राम संगठनों के 4550 स्वसहायता समूहों से 49 हजार परिवार जोड़े

अप्रैल 2020 में जब मुरैना में कोरोना का पहला केस मिला था, तब यहां के लोगों ने एक शब्द सुना था पीपीई किट। कोरोना संक्रमण से बचाव करने के लिए पुलिस के जवान हो या डॉक्टर-पैरामेडिकल स्टाफ, यह पीपीई किट कोरोना सुरक्षा कवच की तरह काम करती है। लेकिन शुरुआत में हमारे यहां पीपीई किट विदेशों से आयात हो रही थी अथवा मेट्रो सिटी से बनकर आती थी। लेकिन आजीविका मिशन से जुड़े स्व-सहायता समूहों की ‘दीदी’ अब इन पीपीई किटों को खुद ही बना रही हैं। इनकी बनाई हुई पीपीई किट मुरैना ही नहीं पड़ोसी जिले दतिया में पदस्थ पुलिस जवान भी उपयोग कर रहे हैं।

यह दीदी सिर्फ पीपीई किट, मास्क, सेनेटाइजर ही नहीं बना रहीं बल्कि कोरोना से लोगों को जागरुक करने का काम भी बखूबी कर रही हैं। आजीविका मिशन के 332 ग्राम संघठन, 4550 समूहों के कुल 49000 परिवारों ने एक साथ कोरोना मुक्ति हेतु शपथ ग्रहण कर कोरोना काल मे जीवनशैली के बदलाव की शपथ ली। जिसमें सामाजिक दूरी, बड़े आयोजन व भीड़भाड़ से तौबा, हाथों को साफ रखना, मास्क का उपयोग करना, टीकाकरण करवाना आदि के बारे में लोगों को न सिर्फ जागरुक किया बल्कि यह सब बातें उनके दैनिक जीवन में उपयोग करने के लिए भी प्रेरित किया। वहीं नारा लेखन, डेमो, नाटक, गीत व मीटिंग भी इनकी गतिविधियों में शामिल रहीं।

210 दीदीयों ने अभी तक 3.54 लाख मास्क बनाए
स्व-सहायता समूहों व उससे जुड़ी 210 दीदीयों ने अभी तक 3.54 लाख मास्क बनाए हैं। इनके मास्क की विशेषता भी अलग है। 10 रुपए कीमत का मास्क शुध्द कॉटन का, 75 हेड व थ्री फोल्ड है, जो पांच माह तक सेनिटाइज्ड कर उबले हुए पानी में धोकर पुन: उपयोग में आ सकता है। लाखों मास्क बनाकर बेचने के बाद अभी भी 60 हजार से अधिक मास्क इनके पास उपलब्ध हैं। वहीं ग्वालियर डिसलरी से रॉ मटेरियल लेकर सेनेटाइजर भी तैयार किया है, जो 80% तथा 99% कीटाणुनाशक है। इसकी कीमत 5 लीटर 650 रुपये, 1 लीटर 150 रुपये, 500 ग्राम 95 रुपये, 200 ग्राम 55 रुपये तथा 100 ग्राम की 30 रुपये में उपलब्ध है।

खबरें और भी हैं...