सड़क पर कीचड़ और पानी भरने से अवागमन प्रभावित:गड्ढों में भरा बारिश का पानी, लोग बोले-निकलना मुश्किल

मुरैना19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सीवर कनेक्शन जोड़ने के लिए इन दिनों शहर के पांच वार्डों में सड़क खोदने का कार्य तेज गति से कराया जा रहा है। ऐसे में बारिश का मौसम होने से मुख्य सड़क पर कीचड़ है तथा सड़क पर पानी भरने से गड्ढों का अनुमान नहीं लग पा रहा है, जिससे रोज बाइक सवार गिरकर घायल हो रहे हैं। यहां बताना जरूरी है कि बारिश में सड़क खुदाई का काम प्रतिबंध रहता है, लेकिन जिम्मेदार अधिकारियों की अनदेखी के कारण ठेकेदार सीवेज कनेक्शन के काम को गति प्रदान करने के फेर में मनमानी पर उतारू है। जिससे न केवल आमजन का अवागमन प्रभावित है, बल्कि आए दिन लोग हादसे का शिकार हो रहे हैं।

वहीं शहर के पुराने बस स्टैंड पर भी शुक्ला होटल से दुबे मोबाइल एसटीडी के बीच लंबे समय से चोक नाला नगर निगम ने साफ करने के लिए जेसीबी से खोदा। दरअसल इस नाले को पत्थरों से ढका गया था, जिसके ऊपर सडक डाल दी गई। अब इस नाले की सफाई के बाद जो स्लोब रखा गया है, वह इतना ऊबड़-खाबड़ है कि दो पहिया व चार पहिया वाहन इससे टकरा रहे हैं।

एक साल में पूरा नहीं हो पाया सीवेज कनेक्शन का काम
सीवेज लाइन डालने का काम पूरा होने के बाद अगस्त 2020 में कनेक्शन जोड़ने का काम शुरू किया गया था, लेकिन ठेकेदार की लापरवाही के कारण एक साल की अवधि में यह काम पूरा नहीं हो सका है। इस संबंध में सीवेज कंपनी के मैनेजर का कहना है कि कोरोना महामारी के चलते छह माह तक सीवर कनेक्शन का काम बंद रहा। इसके बाद बारिश के कारण काम प्रभावित हो गया। आगामी तीन माह में 7 हजार 666 घरों में सीवेज कनेक्शन करने हैं।

यहां बताना आवश्यक है कि सीवर प्रोजेक्ट के तहत शहर के आधे इलाके के 20 हजार 500 घरों में कनेक्शन दिए जाने हैं, लेकिन अभी तक 14 हजार 67 घरों में ही सीवर कनेक्शन देने का कार्य हो पाया है। इस लिहाज से नवंबर तक 7 हजार 666 घरों में सीवर कनेक्शन देने का कार्य किया जाना है।

खबरें और भी हैं...