पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समस्या:बस स्टैंड पर आरसीसी निर्माण अधूरा, बारिश में कीचड़ से सैकड़ों यात्रियों को परेशानी

सबलगढ़11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सबलगढ़ बस स्टैंड पर पसरा कीचड़, जिससे यात्री परेशान होते हैं। - Dainik Bhaskar
सबलगढ़ बस स्टैंड पर पसरा कीचड़, जिससे यात्री परेशान होते हैं।
  • बसों से 2 हजार यात्रियों का रोज आवागमन फिर भी बस स्टैंड जर्जर

सबलगढ़ के नए बस स्टैंड पर आरसीसी निर्माण कार्य अधूरा होने से बारिश के पानी से दलदल मच गया है। यहां रोज एक सैकड़ा से अधिक बसें आती-जाती हैं और दो हजार से अधिक यात्रियों का आवागमन होता है फिर भी यहां सुविधाओं का अभाव है। ऐसे में सैकड़ों यात्री परेशान होते हैं। दरअसल 1998 में नगर पालिका द्वारा नवीन बस स्टैंड का निर्माण कराया गया। दो साल पहले यहां ठेकेदार से आरसीसी का काम कराया लेकिन भुगतान न होने से ठेकेदार ने आरसीसी का काम अधूरा छोड़ दिया। तब से अब तक यहां बारिश के दौरान दलदल मच जाता है।

जानकारी के अनुसार पालिका ने 84 लाख की लागत से नवीन बस स्टैंड आरसीसी एवं नाली निर्माण का ठेका दिया गया था। जिसके द्वारा बस स्टैंड की पिछली साइड में नाली एवं सीसी निर्माण का कार्य किया गया। इसी बीच नगर पालिका ने भुगतान नहीं किया जिससे काम अधूरा पड़ा है।

यात्रियों के कपड़े हो जाते हैं गंदे: बस स्टैंड पर दलदल होने की बजह से यात्री जब बसों से उतरते हैं तो गड्ढों में भरे पानी एवं कीचड़ से कपड़े गंदे हो जाते हैं। कई यात्रियों के साथ बच्चे होते हैं जिससे बच्चों को यहां से निकलने में भारी परेशानी होती है। सराफा व्यापारी मनोज शर्मा का कहना है कि दूसरे शहरों को जाने के लिए यहां से बस बदलनी पड़ती है। लेकिन कीचड़ से परेशान होते हैं। महिलाओं को भी बसों से उतरकर जाने में दलदल से गुजरना पड़ता है। यात्रियों का कहना है कि नगर पालिका प्रशासन की लापरवाही का खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है।

अफसरों को मिली थी घटिया निर्माण की शिकायतें

ठेकेदार फर्म द्वारा दो साल पहले जब बस स्टैंड पर आरसीसी एवं नाली निर्माण किया जा रहा था तब अफसरों को घटिया निर्माण की शिकायतें मिली जिसके चलते एसडीएम अंकिता धाकरे ने तकनीकी स्टाफ के साथ मौके का निरीक्षण किया और निर्माण सामग्री की जांच के लिए सैंपल लिए गए। लेकिन तब से आरसीसी का काम बंद पड़ा है। जिसकी बजह से अब बस से आने जाने वाले यात्रियों को परेशानी भुगतनी पड़ रही है।

40 से ज्यादा शहरों को जाने वाली बसों का होता है आवागमन

बस आपरेटर महेंद्र प्रताप सिंह जादौन कहते हैं कि राजस्थान के करौली, जयपुर, श्योपुर, शिवपुरी, मुरैना, ग्वालियर, आगरा सहित 40 से ज्यादा स्थानों के लिए बसों का आवागमन होता है। इसके अलावा स्लीपर बस एवं टैक्सी वाहन कर भी यहां से गुजरते हैं। बस स्टैंड के अंदर गड्ढे एवं कीचड़ होने से यात्रियों को परेशानी होती है।

इस संबंध में एसडीएम से चर्चा करेंगे

बस स्टैंड पर आरसीसी कार्य भुगतान नहीं होने के कारण करीब 2 वर्ष से अधूरा पड़ा हुआ है। अभी एसडीएम एलके पांडे को प्रशासक के रूप में प्रभार मिला है। बस स्टैंड के विकास के संबंध में उनसे चर्चा की जाएगी। -रामबरन राजौरिया, सीएमओ, नपा, सबलगढ़

खबरें और भी हैं...