पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चंबल सेंक्चुरी पहुंचे वनमंत्री:कहा- रेत माफिया से लड़ने वनकर्मियों के बनेंगे बंदूक के लाइसेंस

मुरैनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चंबल नदी के किनारे शावक घड़ियाल को डिस्चार्ज करते वनमंत्री विजय शाह। - Dainik Bhaskar
चंबल नदी के किनारे शावक घड़ियाल को डिस्चार्ज करते वनमंत्री विजय शाह।
  • वनमंत्री को नहीं पता, चंबल सेंक्चुरी में रेत उत्खनन प्रतिबंधित, बोले-कुछ खदानें वैध हैं, कुछ अवैध

ग्वालियर एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आए प्रदेश के वनमंत्री विजय शाह पत्नी व बेटे के साथ चंबल सेंक्चुरी देखने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने देवरी स्थित चंबल घड़ियाल केंद्र का मुआयना किया और इसके बाद चंबल नदी में वोटिंग का लुफ्त उठाने के बाद 20 शावक घड़ियालों को नदी के पानी में डिस्चार्ज किया। इस दौरान चंबल सेंक्चुरी में रेत उत्खनन पूर्णत: प्रतिबंधित है, यह बात वनमंत्री विजय शाह को नहीं पता थी। अवैध रेत उत्खनन रोकने पर वनमंत्री ने कहा कि-यहां कुछ खदानें वैध हैं और कुछ अवैध। इस पर मीडियाकर्मियो ने उन्हें बताया कि चंबल सेंक्चुरी में रेत उत्खनन पूर्णत: प्रतिबंधित है तो वनमंत्री बोले कि-हां मैं इस मामले को दिखवाता हूं।

वनमंत्री विजय शाह शुक्रवार को सुबह 11.30 बजे देवरी स्थित घड़ियाल केंद्र पहुंचे। यहां उनके साथ पत्नी-बेटे के अलावा डीएफओ मुरैना अमित कुमार निकम, श्योपुर, भिंड, ग्वालियर के डीएफओ, जिलेभर के रेंजर भी साथ थे। वनमंत्री ने आधा घंटे तक देवरी घड़ियाल केंद्र का निरीक्षण किया और वहां रखे जाने वाले घड़ियालों के अंडे, उनके निषेचन की क्रिया तथा उन्हें रखने के बारे में बारीकी से जानकारी ली। इसके बाद वे सपरिवार चंबल नदी किनारे पहुंचे। यहां राजघाट पर उन्होंने नदी में वोटिंग का लुत्फ उठाया और आखिर में 20 घड़ियालों के शावकों को नदी में डिस्चार्ज किया।

माफिया से भिड़ने वनकर्मी एप्लाई करें लाइसेंस, एक महीने में बनवाएंगे
रेत माफिया से लड़ने के लिए वनकर्मियों के पास अत्याधुनिक हथियार न होने के सवाल पर वनमंत्री विजय शाह ने कहा कि रेत माफिया से लड़ने के लिए हमारे वनकर्मी चाहें तो वे बंदूक के लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते हैं, उनके एक महीने में लाइसेंस बनवाकर दिए जाएंगे। बंदूक खरीदने के लिए वनकर्मी रुपए कहां से लाएंगे, इसे वनमंत्री हसकर टाल गए।

चंबल में रेत उत्खनन का सवाल टाल गए मंत्री
चंबल नदी में रेत के अवैध उत्खनन, नेशनल हाईवे तथा शहर में दौड़ रही रेत रेत की ट्रैक्टर-ट्रॉलियों से होने वाले हादसे को वनमंत्री टाल गए। उन्होंने सिर्फ इतना कहा कि हमारे वन विभाग के अधिकारी-कर्मचारी निहत्थे हैं। इसलिए हमने पुलिस की तीन-तीन कंपनियां मांगी हैं ताकि उनकी मदद से अवैध रेत उत्खनन को रोका जा सके। मीडियाकर्मियों के सवालों की बौछार देखकर वनमंत्री बोले-मुझे अवैध उत्खनन रोकने के मामले में ज्यादा कुछ नहीं बोलना।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें