पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Morena
  • Said She Is Not The Queen Of Jhansi, SDO And DFO Are Doing Corruption Together, SDO Said Prove It, Everyone Is Free To Speak

मुरैना में रेत पर नेता V/s अफसर:BJP विधायक सूबेदार बोले- वो लेडी कोई झांसी की रानी नहीं, DFO के साथ मिलकर भ्रष्टाचार कर रही; SDO का जवाब- सबूत दो

मुरैना3 महीने पहले
  • कांग्रेस ने SDO को ईमानदार बताया

BJP विधायक कमलेश जाटव पर रेत माफिया से अवैध वसूली के आरोप के बाद मुरैना जिले के जौरा से विधायक सूबेदार सिंंह रजौधा मुखर हो गए हैं। उन्होंने वन विभाग के अफसरों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि SDO श्रद्धा पांढरे कोई झांसी की रानी नहीं है। वह DFO अनिल निकम के साथ मिलकर भ्रष्टाचार कर रही हैं। विधायक ने SDO की रेत को लेकर लगातार कार्रवाई के तरीके को गलत बताया है।

वहीं, SDO पांढरे का कहना है कि हर व्यक्ति को कुछ भी बोलने के लिए स्वतंत्र है। अगर हमारे खिलाफ भ्रष्टाचार के विधायक के पास प्रमाण हैं, तो वह प्रस्तुत करें। आरोप कोई भी लगा सकता है। बिना प्रमाण के आरोप का अर्थ नहीं है। उधर, पूर्व मंत्री एदल सिंह कंषाना ने सुबेदार के बयान का समर्थन किया है, जबकि कांग्रेस SDO के बचाव में खड़ी हो गई है। उसने श्रद्धा पांढरे को ईमानदार अफसर बताया है।

SDO पर कोई नहीं कर रहा हमला

विधायक सूबेदार सिंह रजौधा के मुताबिक SDO पर कोई हमला नहीं कर रहा है। SDO ही सबके ट्रैक्टर पकड़ रही हैं। वह खाली ट्रैक्टर पकड़ लेती हैं। उन्होंने सती माता मंदिर के निर्माण के लिए रखी चंबल रेत को ले जाने वाली ट्रैक्टर ट्रॉली को पकड़ लिया था। जिसकी वजह से ग्रामीणों ने हमला किया था। ग्रामीण उस ट्रैक्टर को छुड़ा ले गए थे। मंदिर से सभी की आस्था जुड़ी रहती है।

हाल ही में विधायक कमलेश जाटव का अमोलपुरा में SDO के गनर से विवाद हुआ था। इसके बाद उनके समर्थन में जौरा विधायक सुबेदार ने बयान दिया है।
हाल ही में विधायक कमलेश जाटव का अमोलपुरा में SDO के गनर से विवाद हुआ था। इसके बाद उनके समर्थन में जौरा विधायक सुबेदार ने बयान दिया है।

गलत कह रहे विधायक
SDO का कहना है कि विधायक गलत कह रहे हैं। घटना वाले दिन भरे हुए रास्ते से कई ट्रैक्टर-ट्रॉली जा रहे थे। कार्रवाई के दौरान एक ट्रैक्टर पकड़ा गया। बाकी के सारे भाग गए। सेंचुरी में किसी को भी खनन की अनुमति नहीं है। हमारा काम गश्त करना है, जो लगातार गश्त करते हैं। जो भी व्यक्ति अवैध रेत का खनन करेगा। उसके पकड़ना हमारी ड्यूटी है।

मामला हर साल करोड़ों रुपए के अवैध खनन का है
चंबल सेंचुरी जिसे प्रतिबंधित किया गया है। उसमें से व्यापक स्तर पर रेत का अवैध खनन किया जाता है। हर दिन लगभग एक हजार ट्रेक्टर रेत का खनन किया जा रहा है। गांव के गांव इस खनन में शामिल हैं। लोगों की माने तो हर साल हजारों करोड़ रुपए के रेत का अवैध कारोबार यहां होता है। सेंचुरी का क्षेत्रफल भिंड से लेकर श्योपुर तक जाता है। इसका क्षेत्रफल साढ़े 450 किलोमीटर है। वन विभाग के पास इतना अमला नहीं है कि वह इस पूरे क्षेत्र की निगरानी कर सके। अवैध रेत के परिवहन को रोकने की अनौपचारिक जिम्मेदारी पुलिस विभाग की है, लेकिन पुलिस विभाग भी इस मामले में संवेदनशील नहीं है। लोगों का तो यहां तक कहना है कि पुलिस विभाग ही अवैध रेत का परिवहन करवा रहा है।

मेरा एक ट्रक व JCB पकड़ी थी
SDO गलत कार्रवाई कर रही हैं। उन्होंने मेरा एक ट्रक व JCB पकड़ ली थी, जबकि उसकी रॉयल्टी काटी गई थी। मैने सरकार ने कहा है कि यहां पर रेत का डिपो बनाया जाए, जिससे चोरी पर लगाम लग सके। मैं सूबेदार सिंह रजौधा के बयान का सम्मान करता हूं।

एंदल सिंह कंषाना, पूर्व मंत्री भाजपा

कांग्रेस विधायक ने बताया ईमानदार
सबलगढ़ से कांग्रेस विधायक बैजनाथ कुशवाह ने कहा कि विधायक सूबेदार सिंह सिंह रजौधा खुद वसूली करते हैं। सूबेदार सिंह के सारे लोग वसूली करते हैं। श्रद्धा पांढ़रे ईमानदार अधिकारी आई है। उनको यहां रहना चाहिए। सारे बेईमान सब उसके पीछे पड़े हैं।