पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सीएम को लिखा पत्र:4 तहसीलों को मिलाकर सबलगढ़ को जिला घोषित करे सरकार

मुरैना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आम आदमी पार्टी के नेता कर्नल उमेश वर्मा ने फिर से उठाया मुद्दा

चार तहसील कैलारस, सबलगढ़, विजयपुर व पहाडग़ढ़ को एक साथ शामिल कर सबलगढ़ को जिला घोषित किया जाए। इससे शासन को 12 से 13 फीसदी राजस्व बढ़कर प्राप्त होगा और पौने पांच लाख की आबादी पैसे व दूरी के फेर से बच सकेगी। सरकार को जनहित में इस मांग को मंजूर करना चाहिए। इस आशय का मांग-पत्र आम आदमी पार्टी के प्रमुख कर्नल उमेश वर्मा ने सीएम को भेजा है।

कर्नल वर्मा शुक्रवार को मीडिया से चर्चा कर रहे थे । उन्होंने कहा कि तैलंगाना राज्य को अलग करने पर 100 करोड़ रुपए खर्च हुए थे उतना ही बजट सबलगढ़ को जिला बनाने पर आएगा। लेकिन इससे शासन को 12 से 13 फीसदी राजस्व अधिक मिल सकेगा। सबलगढ़ को जिला बनाए जाने से श्योपुर जिले की सवा पांच लाख आबादी व दो तहसील सुरक्षित रहेंगी। मुरैना जिले की चार विधानसभाओं के साथ 17 लाख आबादी अलग रहेगी। कैलारस, सबलगढ़, विजयपुर व पहाडग़ढ़ तहसील को मिलाकर सबलगढ़ को जिला घोषित करने की कार्रवाई से पौने पांच लाख आबादी लाभान्वित होगी।

कर्नल उमेश वर्मा का कहना है कि सबलगढ़ को जिला बनाए जाने की मांग से पांच तहसीलों के लोगों का उत्थान जुडा है लेकिन सरकार इस मुद्दे पर गंभीर नहीं है। भाजपा विकास की बात तो करती है लेकिन विकास से जुडे पहलुओं पर अमल नहीं । वहीं टेंटरा क्षेत्र के लोगों को जिला मुख्यालय पर पहुंचने के लिए 80 किमी दूरी से अधिक का सफर तय करना पड़ता है। विजयपुर के वाशिंदों को श्योपुर जिला मुख्यालय तक जाने के लिए 125 किमी लंबाई से यात्रा करना होती है। इससे लोगों का समय व पैसा दोनों ही बर्बाद हो रहे हैं।

खबरें और भी हैं...