पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विभाग को भेजा प्रस्ताव:7 विद्यालयों का बदलेगा स्वरूप, सीएम राइज स्कूल बनेंगे

मुरैनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहले चरण में जिले के सात ब्लाॅक में एक-एक सीएम राइज की सौगात मिलेगी

मुरैना जिले के 7 विद्यालयों का स्वरूप नए शिक्षा सत्र में बदल जाएगा। वर्तमान में संचालित ऐसे स्कूलों का नाम सीएम राइज स्कूल रखा जाएगा। और उनमें पहली कक्षा से लेकर 12वीं तक अध्ययन की सुविधा मिलेगी। नई थीम के स्कूलों में पढ़ाने के लिए हर विषय के शिक्षक उपलब्ध कराए जाएंगे।

जानकारी के मुताबिक, मुरैना शहर के मॉडल स्कूल काे सीएम राइज स्कूल बनाया जाएगा। अभी उसमें नवमीं से बारहवीं तक अध्यापन की सुविधा है लेकिन भविष्य में इस स्कूल में कक्षा 1 से 12 तक छात्र-छात्राओं को सभी संकायों में अध्ययन की सुविधा दी जाएगी। अंबाह लोकल में ही सीएम राइज स्कूल शुरू किया जाएगा। पोरसा का रजौधा में, जौरा का बिलगांव स्थित मॉडल स्कूल में, कैलारस का कुटरावली स्थित मॉडल स्कूल में, सबलगढ़ व पहाड़गढ़ के सीएम राइज स्कूल वहां के एक्सीलेंस स्कूलों में परिवर्तित होंगे। इस प्रथम चरण में जिले के सात ब्लाॅक में एक-एक सीएम राइज की सौगात मिलेगी। इन सातों संस्थाओं को सीएम राइज स्कूल के रूप में विकसित करने का प्रस्ताव जिला शिक्षा कार्यालय ने मंगलवार को राज्य शासन को भेजा है।

अध्ययन के लिए लाइब्रेरी की सुविधा

जिले के 7 स्कूलों को सीएम राइज स्कूल के रूप में विकसित करने के बाद उनमें आंतरिक अध्ययन के लिए लाइब्रेरी की सुविधा भी दी जाएगी। भविष्य में साइंस संकाय के छात्रों के लिए कम्प्यूटर लैब भी स्थापित कीजाएंगी ताकि विज्ञान विषय के छात्र-छात्राओं का प्रायोगिक ज्ञान भी उत्तम रहे।

सीबीएसई पाठयक्रम से होगा अध्यापन

सीएम राइज स्कूल के छात्र-छात्राओं का अध्यापन सीबीएसई माध्यम से कराया जाएगा। इसके लिए सभी स्कूलों में केन्द्रीय विद्यालय की तर्ज पर पढ़ाई कराई जाएगी। अभी कोर्स में भिन्नता के चलते छात्रों को एक स्कूल से दूसरे स्कूल में दाखिला लेनेिक्कत आती है क्योंकि दूसरे स्कूल के कोर्स अलग होते हैं।

निजी बसों से लाएंगे बच्चों को

सीएम राइज स्कूल में पढ़ने वाले आस-पास के छात्र-छात्राओं को गांव से स्कूल तक आने के लिए ट्रांसपोर्ट सुविधा दी जाएगी। इसके लिए शिक्षा विभाग प्राइवेट बसों को स्कूल वाहन के रूप में किराए पर लेगा।

विषयवार शिक्षकों की नियुक्ति का प्रावधान

सीएम राइज स्कूलों में अध्यापन के लिए सभी विषयों के शिक्षकों की पदस्थापना होगी ताकि प्रत्येक विषय का अध्यापन ठीक से कराया जा सके। इस पहल के जरिए स्कूल शिक्षा विभाग, हाईस्कूल व इंटर के आगामी रिजल्ट काे सुधारने का प्रयास करेगा। अभी शिक्षकों की कमी के कारण रिजल्ट में सुधार की स्थिति नहीं बन पा रही है। इसके लिए छोटे-छोटे स्कूलों के बच्चों को प्राइमरी व मिडिल स्कूल की संस्थाओं से सीएम राइज स्कूल में शिफ्ट किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...