• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Morena
  • Truck Stolen From Agra, Found Cutting In The Warehouse Of Bhura Kabadi In The City, When The Police Raided, Only Dala Was Able To Cut The Scrap

चोरी के वाहन खरीद रहे हैं कबाड़ी वाले:आगरा से चोरी हुआ ट्रक, शहर के भूरा कबाड़ी के गोदाम में कटते मिला, पुलिस ने जब दबिश दी तो केवल डाला ही काट पाए थे

मुरैना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गैस सिलेंडर जिनसे ट्रक काटा जा रहा था। - Dainik Bhaskar
गैस सिलेंडर जिनसे ट्रक काटा जा रहा था।
  • 30 लाख के ट्रक को दो लाख में खरीदते हैं कबाड़ी, उसके कलपुर्ज बेचकर 5 से 6 लाख रुपए कमा लेते हैं

मुरैना अब वाहन चोरों का केंद्र बनता जा रहा है। यहां के कबाड़ी भी इस धंधे में लिप्त हो रहे हैं। जिले में कबाड़ी वाले 30 लाख रुपए के ट्रक को दो लाख में चोरों से खरीदते हैं और उसे काटकर 5 से 6 लाख रुपए कमा लेते हैं। कबाड़ियों के इस रैकेट का पर्दाफाश तब हुआ, जब शनिवार को मुरैना के एक भूरा कबाड़ी की दुकान पर पुलिस ने दबिश दी। जहां से एक ट्रक को काटते हुए पाया गया। पुलिस को देखकर ट्रक काटने वाले मौके से फरार हो गए। यह ट्रक शुक्रवार को आगरा सदर बाजार से चोरी हुआ था। पुलिस के मुखबिर ने बताया कि मुड़िया खेड़ा पेट्रोल पंप के पास मौजूद एक कबाड़े की दुकान पर एक नए ट्रक को काटा जा रहा है। सूचना मिलते ही एसएसआई माधौ सिंह गुर्जर और राजकुमार कोरकू पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने देखा कि वहां अंबाह निवासी, भूरा राठौर की कबाड़े की दुकान थी। दुकान कम गोदाम था, जिसकी दीवारें लगभग 10 फीट ऊंची थी। गोदाम के मेन गेट पर ताला लगा हुुआ था। पुलिस ने जब गेट से झांककर देखा तो कुछ हलचल मिली। पुलिस को मामला संदिग्ध लगा तो पुलिस गोदाम के पीछे बने मकान की छत से दीवार फांदकर गोदाम में घुसी। वहां तीन लोग गैस कटर से नए ट्रक के एक हिस्से को काटने में लगे हैं। पुलिस को देखकर उनमें से दो युवक नसेनी फांदकर भाग गए। तीसरे व्यक्ति को पुलिस ने दबोच लिया। मौके पर पुलिस को 12 पहिए का ट्रक, क्रमांक- आरजे-11 जीए 9544 कटते मिला। पुलिस ने उसे जब्ती में ले लिया है। ट्रक की ऊपर की बॉडी का आधा हिस्सा काटा जा चुका था।

वह ट्रक जिसे काटा जा रहा था
वह ट्रक जिसे काटा जा रहा था

आगरा से चोरी हुआ था ट्रक
यह ट्रक आगरा से शुक्रवार को चोरी हुआ था। ट्रक चोरी का मामला आगरा के सदर थाने में दर्ज है। शुक्रवार-शनिवार की रात को ट्रक सैंया टोल नाके से निकलकर मुरैना लाया गया था। ट्रक को भूरा कबाड़ी के गोदाम में लाकर खड़ा कर दिया गया। पुलिस भूरा कबाड़ी को खोज रही है।
चोरी के वाहनों के 71 इंजन पुलिस ने किए थे जब्त
मुरैना चोरी के वाहनों के कटने का केन्द्र बनता जा रहा है। लगभग 6 महीने पहले भी पुलिस ने एक कबाड़ की दुकान पर छापा मारा था। छापे में 71 इंजन पाए गए थे। यह इंजन चोरी के वाहनों के थे, जिन्हें काटकर निकाला गया था। बाजार में इन इंजनों की कीमत लगभग 63 लाख रुपए थी।
इस तरह हु्आ था खुलासा
पांच महीने पहले 1 जनवरी को गोपालपुरा निवासी, लाखन सिंह पुत्र कोक सिंह सिकरवार ने कोतवाली थाने में ट्रक चोरी की रिपोर्ट लिखाई थी। उन्होंने रिपोर्ट में बताया कि उनका ट्रक क्रमांक-एमपी-06, एचसी 2304 कृषि मंडी मुरैैना से रात में चोरी हो गया है। इसके साथ ही उन्होंने तीन व्यक्तियों पर संदेह व्यक्त किया था। उन्होंने अतेन्द्र गुर्जर, अखय सिंह परमार व संतोष राठौर के नाम बताए। पुलिस ने तीनों को कस्टडी में लेकर कड़ाई से पूछताछ की। इस दौरान उन्होंने बताया कि उनका ट्रक तो कट चुका है। उनकी निशानदेही पर पुलिस ने ट्रक के टायर और कुछ मलबा एबी रोड पर संतोष राठौर और बंटी राठौर के कबाड़े की दुकान से जब्त किया। ट्रक का इंजन अंबाह, निवासी बंटी राठौर के कबाड़े के गोदाम में जमीन में दबा मिला। पुलिस ने इस मामले की जब गहराई से पड़ताल की तो चोरी किए गए वाहनों के 71 इंजन व उनका सामान जिले की कबाड़े की दुकानों बरामद हुआ। इन इंजनों का बाजारी मूल्य लगभग 63 लाख रुपए है।

पांच जनवरी को पुलिस को मिले थे वाहनों के इंजन।
पांच जनवरी को पुलिस को मिले थे वाहनों के इंजन।

मिलीभगत से चल रहा धंधा
चोरी गए वाहनों को काटकर बेचने का धंधे ने कबाड़ी व चोरों की सांठगांठ का खुलासा किया है। सूत्रों की माने तो कबाड़ के धंधे में अधिक फायदा नहीं है। इसकी आढ़ में यह लोग चोरी का माल खरीदते हैं। चोरी का माल खरीदने के लिए चोर विश्वासपात्र कबाड़ियों के सम्पर्क में रहते हैं। इसमें कुछ दलाल भी सक्रिय है जो चोरों व कबाड़ियों के बीच अहम भूमिका निभाते हैं।

खबरें और भी हैं...